Search

RBI का बड़ा फैसला, रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती की

कोरोना वायरस संबंधी उपायों से निपटने के लिए पिछले दो महीनों में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की यह तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस है. आरबीआई गवर्नर ने पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस 27 मार्च और दूसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस 17 अप्रैल को की थी.

May 22, 2020 11:27 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने 22 मई 2020 को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने इसमें रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती करने का घोषणा किया. लिहाजा अब रेपो रेट 4.40 प्रतिशत से घटकर 4 प्रतिशत हो जाएगा. वहीं, रिवर्स रेपो रेट 3.75 प्रतिशत से घटकर 3.35 प्रतिशत हो जायेगा. लोन की किश्त चुकाने में छूट का समय 3 महीने और बढ़ाया गया, अगस्त तक इसका फायदा मिलता रहेगा.

कोरोना वायरस संबंधी उपायों से निपटने के लिए पिछले दो महीनों में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की यह तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस है. आरबीआई गवर्नर ने पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस 27 मार्च और दूसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस 17 अप्रैल को की थी. इन दोनों प्रेस कॉन्फ्रेंस में गवर्नर ने अर्थव्यवस्था में तेजी लाने और बैंकिंग सिस्टम में लिक्विडिटी बढ़ाने हेतु कई उपायों की घोषणा की थी.

RBI के प्रेस कांफ्रेंस की बड़ी बातें

• आरबीआई गवर्नर ने बताया कि मोरेटोरियम की समय सीमा बढ़ाकर छह महीने कर दी गई है. तीन महीने के लिए दिए गए हर तरह की राहत को अब और तीन महीने के लिए बढ़ा दिया गया है. यानी मोराटोरियम 1 जून से 31 अगस्त तक के लिे बढ़ा दिया गया है.

• आरबीआई गवर्नर ने बताया कि बैंकों कि ग्रुप एक्सपोजर सीमा को 30 प्रतिशत से बढ़ाने का फैसला लिया गया है. आरबीआई ने EMI चुकाने वाले ग्राहकों को बड़ी राहत दी है.

• आरबीआई गवर्नर ने बताया कि एमसीपी के अनुसार दूसरी छमाही में महंगाई में कमी का अनुमान है. आरबीआई गवर्नर ने बताया कि मांग में कमी के कारण निवेश में भी भारी कमी आई है.

• आरबीआई गवर्नर ने बताया कि कोरोना वायरस (कोविड-19) से निजी खपत को काफी बड़ा नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि मौजूदा हालातों में एग्रीकल्चर से उम्मीदें हैं. उन्होंने कहा कि फॉरेन रिजर्व 487 बिलियन डॉलर है.

• आरबीआई गवर्नर ने बताया उपभोक्ता  उत्पादों की मांग में मार्च महीने 33 प्रतिशत की गिरावट आई है. उन्होंने बताया कि मैन्युफक्चरिंग पीएमआई अप्रैल महीने में 27.4 प्रतिशत रही है. आरबीआई गवर्नर ने बताया कि सर्विसेज पीएमआई अप्रैल महीने में 5.4 प्रतिशत रही है.

• आरबीआई गवर्नर ने बताया कि पिछले तीन दिन में एमपीसी ने घरेलू और ग्लोबल माहौल की समीक्षा की. इसके बाद रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत की कटौती का फैसला लिया गया है.

• आरबीआई ने कोरोना के असर को देखते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में जीडीपी ग्रोथ निगेटिव रहने का अनुमान है. दूसरी छमाही में कुछ तेजी आ सकती है. आरबीआई लगातार हालात पर नजर रख रहा है.

आत्मनिर्भर भारत प्रोत्साहन पैकेज का ऐलान

केंद्र सरकार ने कोरोना आपदा से निपटने के लिए करीब 21 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत प्रोत्साहन पैकेज का घोषणा किया है. इसमें गरीब मजदूरों को नकद कैश और अनाज, एमएसएमई को 3 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी, एनबीएफसी-एमएफआई को क्रेडिट गारंटी, मनरेगा मजदूरों के लिए अतिरिक्त आवंटन समेत किसानों के लिए कई उपाय किए गए हैं.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS