Search

भारत का पूर्वी घाट पर्वतीय क्षेत्र

पूर्वी घाट भारत में ओडिशा से लेकर तमिलनाडु तक विस्तृत पर्वतीय क्षेत्र है, जोकि वर्तमान में बड़ी-बड़ी नदियों द्वारा विच्छेदित होकर एक असतत श्रंखला के रूप में बदल गया है| चेन्नई के दक्षिण-पश्चिम में शेवरोय व पालनी पहाड़ियों के रूप में पूर्वी घाट पश्चिमी घाट से मिल जाता है|
Apr 20, 2016 14:57 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

पूर्वी घाट भारत में ओडिशा से लेकर तमिलनाडु तक विस्तृत पर्वतीय क्षेत्र है, जोकि वर्तमान में बड़ी-बड़ी नदियों द्वारा विच्छेदित होकर एक असतत श्रंखला के रूप में बदल गया है| पश्चिमी घाट की तुलना में पूर्वी घाट का अपरदन अधिक हुआ है| चेन्नई के दक्षिण-पश्चिम में शेवरोय व पालनी पहाड़ियों के रूप में पूर्वी घाट पश्चिमी घाट से मिल जाता है|

Jagranjosh

Image Courtesy: upload.wikimedia.org

पालिकोंडा, नल्लामला, वेलिकोंडा, पालनी, शेवरोय, जावादी आदि पूर्वी घाट की प्रमुख पहाड़ियाँ हैं| पूर्वी घाट के मध्य भाग में दो समानान्तर पहाड़ियाँ पायी जाती हैं, जिनमें से पूर्वी पहाड़ियों को वेलिकोंडा श्रेणी और पश्चिमी पहाड़ियों को पालिकोंडा-लंकामल्ला-नल्लामला श्रेणी कहा जाता है|भारत के सबसे बड़े बाघ रिजर्वों में से एक, नागार्जुन सागर-श्रीसैलम बाघ रिजर्व, पूर्वी घाट की नल्लामला पहाड़ियों में ही स्थित है| कारांठामलाई (Karanthamalai) पूर्वी घाट के दक्षिणी भाग में स्थित है और सिरुमलाइ (Sirumalai) पहाड़ियाँ  भी दक्षिणी तमिलनाडु में स्थित हैं|

Jagranjosh

Image Courtesy: ecoindia.com
गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, महानदी, पालार, पेन्नेरु आदि नदियां पूर्वी घाट के आर-पार बहती हुई पूर्वी तटीय मैदान के सहारे अवसादों का निक्षेपण कर बंगाल की खाड़ी में जाकर मिल जाती हैं| इन नदियों के कारण पूर्वी घाट बीच-बीच में से कट गया है और पश्चिमी घाट के विपरीत एक असतत श्रंखला में बदल गया है| इसकी ऊंचाई भी पश्चिमी घाट की तुलना में कम है|