1. Home
  2. Hindi
  3. Most polluted city in India: CPCB रिपोर्ट जारी, जानें कौन रहे 2022 में भारत के 10 सबसे प्रदूषित शहर

Most polluted city in India: CPCB रिपोर्ट जारी, जानें कौन रहे 2022 में भारत के 10 सबसे प्रदूषित शहर

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के अनुसार, एनसीएपी ट्रैकर (NCAP Tracker) द्वारा तैयार की गयी रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में 2022 में PM 2.5 लेवल का प्रदूषण था जो सामान्य और सुरक्षित लेवल से दोगुने स्तर पर था. इस लिस्ट में दूसरे स्थान पर फरीदाबाद है. 

जानें कौन रहे 2022 में भारत के सबसे प्रदूषित शहर
जानें कौन रहे 2022 में भारत के सबसे प्रदूषित शहर

CPCB report: केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board-CPCB) के द्वारा जारी ताजे आंकड़ो के अनुसार 2022 में भारत का सबसे प्रदूषित शहर (Polluted city) दिल्ली था. 

एनसीएपी ट्रैकर (NCAP Tracker) द्वारा तैयार की गयी रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में PM 2.5 लेवल का प्रदूषण था जो सामान्य और सुरक्षित लेवल से दोगुने स्तर पर था. साथ ही यह तीसरी सबसे अधिक औसत PM10 कंसंट्रेशन पर भी था.

PM2.5 छोटे कण (tiny particulate) होते हैं जिनका व्यास (diameter) 2.5 माइक्रोन से कम होता है और यह फेफड़ों (lungs) और रक्तप्रवाह (bloodstream) में प्रवेश कर उन्हें प्रभावित कर सकते है.

सितंबर 2022 में, केंद्र सरकार ने वर्ष 2026 तक पार्टिकुलेट मैटर सघनता (particulate matter concentration) में 40 प्रतिशत की कमी लाने का नया लक्ष्य निर्धारित किया है.

NCR में सबसे अधिक प्रदूषण:

दिल्ली के अतिरिक्त इस रिपोर्ट में दूसरे स्थान पर फरीदाबाद (हरियाणा) शहर और तीसरे स्थान पर NCR (नेशनल कैपिटल रीजन) सिटी गाज़ियाबाद है. अगर शीर्ष तीन शहरों की बात करें तो ये शहर NCR के ही है. जहाँ प्रदूषण का स्तर सबसे अधिक रहा है. वही इस लिस्ट में नोएडा छठे और मेरठ सातवें स्थान पर है. 

भारत के शीर्ष 10 सबसे प्रदूषित शहर: 

रैंक शहर
1 दिल्ली
2 फरीदाबाद
3 गाज़ियाबाद
4 पटना
5 मुजफ्फरपुर
6 नोएडा
7 मेरठ
8 गोबिंदगढ़
9 गया
10 जोधपुर

CPCB रिपोर्ट, हाइलाइट्स:

सीपीसीबी डेटा के अनुसार, PM 2.5 लेवल के संदर्भ में, दिल्ली में 99.71 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर (micrograms per cubic metre-MPCM) का स्तर था, फरीदाबाद में 95.64 MPCM, गाजियाबाद में 91.25 MPCM का स्तर दर्ज किया गया था.

2021 में, गाजियाबाद PM2.5 लेवल के संबंध में सबसे अधिक प्रदूषित शहर था, जबकि PM10 लेवल के मामले में यह तीसरे स्थान पर था.
PM2.5 और PM10 के लिए देश की मौजूदा वार्षिक औसत सुरक्षित सीमा क्रमश: 40 माइक्रोग्राम (micrograms) प्रति घन मीटर और 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर है.

एनसीएपी ट्रैकर के बारें में:

NCAP ट्रैकर न्यूज़ पोर्टल कार्बन कॉपी (Carbon Copy) और महाराष्ट्र स्थित स्टार्ट-अप 'रेस्पायरर लिविंग साइंसेज' (Respirer Living Sciences) का एक जॉइंट प्रोजेक्ट है. इस प्रोजेक्ट की शुरुआत भारत में स्वच्छ वायु लक्ष्यों को हासिल करने के लिए किया गया है.

नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम:

नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम (National Clean Air Programme-NCAP) की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा 10 जनवरी, 2019 को की गयी थी. इसके तहत देश के 102 शहरों में 2017 को बेस ईयर मानकर, PM2.5 और PM10 के लेवल 2024 तक 20 से 30 प्रतिशत तक कम करने का है.        

इसे भी पढ़े:

Golden Globe 2023: RRR के सॉन्ग 'नाटू नाटू' को मिला गोल्डन ग्लोब का बेस्ट सॉन्ग अवार्ड