1. Home
  2. Hindi
  3. जानिये क्यों आता है भूकंप और कितनी अधिक हो सकती है इसकी तीव्रता

जानिये क्यों आता है भूकंप और कितनी अधिक हो सकती है इसकी तीव्रता

दिल्ली- NCR में हाल ही में बार-बार भूकंप के तेज़ झटकें महसूस किये गये हैं. भूकंप एक वैज्ञानिक गतिविधि के कारण आता है. जानिये क्या है इसके पीछे की वजह.

know why earthquake occurs and how high its magnitude can be
know why earthquake occurs and how high its magnitude can be

हाल ही में दिल्ली - NCR में भूकंप के तेज़ झटकें महसूस किये गये हैं . यह झटकें इतने तेज़ थे की यदि कुछ और पल यह झटके महसूस किये जाते तो भयंकर तबाही का कारण बन सकते थे. इतनी तेज़ तीव्रता वाले भूकंप के झटके महसूस करने के बाद बहुत से सवाल उठाये जा रहे हैं जिनमें से एक है कि अधिकतम कितनी तीव्रता वाले भूकंप के झटके महसूस किये जा सकते हैं. 

आमतौर पर 6 से 8 के बीच वाली तीव्रता वाले भूकंप के झटके बहुत तेज़ माने जाते हैं और यदि यह झटकें थोड़ी सी देर के लिए भी रुक जाएं तो भयंकर तबाही का कारण बन सकते हैं. 

क्यों आता है भूकंप 

भूकंप का आना एक वैज्ञानिक गतिविधि है. पृथ्वी टेक्टोनिक प्लेटों पर स्थित है जिसके नीचे लावा है और यह टेक्टोनिक प्लेट्स उस पर तैरती हैं. कई बार यह प्लेट्स आपस में टकराकर टूटने लगती हैं और इनके नीचे से निकलने वाली ऊर्जा बाहर निकलने का रास्ता ढूंढती है जिसके डिस्टर्बेंस के कारण भूकंप आता है.

क्या 10 तीव्रता वाला भूकंप कभी आ सकता है  

अमेरिका की भूकंप की जानकारी देने वाली साइट USGS के अनुसार ऐसा मुमकिन नहीं है की कभी दुनिया में 10 तीव्रता वाले भूकंप के झटकें महसूस किये जाएंगे. 

वैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार पृथ्वी का आकर उसकी फाल्ट की लंबाई पर निर्भर करता है यदि फाल्ट लाइन लंबी होगी तो भूकंप के तेज़ झटके महसूस किये जाएंगे. 

फाल्ट चट्टानों का एक ब्रेक होता है जो की धरती के नीचे होता है और यह इतनी बड़ी नहीं होती की भूकंप के 10 तीव्रता वाले झटकों को महसूस किया जाए और यदि कभी इतने तेज़ झटकें आते भी हैं तो शायद आने वाली तबाही का अंदाज़ा लगाना भी मुश्किल होगा.

दुनिया का सबसे तेज़ भूकंप

source: encyclopedia britannica 

पृथ्वी पर अब तक आने वाले सबसे तेज़ भूकंप की तीव्रता 9.5 दर्ज की गयी है. यह भूकंप 22 मई 1960 को चिली में आया था. इस भूकंप की फाल्ट लाइन 1000 मील थी.

भूकंप और मौसम 

एरिस्टोटल का कहना था की भूकंप आने के पीछे की वजह तेज़ हवाएं होती हैं. जब तेज़ हवाओं को आगे बढ़ने का रास्ता नहीं मिलता तो यह दबाव पैदा करती हैं लेकिन रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों के द्वारा इन दावों को रद्द कर दिया गया और उनका कहना था की भूकंप का मौसम से कोई संबंध नहीं है. 

क्या भूकंप से पहले अंदाज़ा लगाया जा सकता है 

Source: applied earth sciences

भूकंप आने की भविष्यवाणी तो बहुत की जाती है लेकिन अब तक सटीक तौर पर कोई भी वैज्ञानिक तथ्य के साथ भूकंप की भविष्यवाणी करने में सफल नहीं रहा है. वैज्ञानिक अब तक सटीक तौर पर यह नहीं बता पाएं है की किस तीव्रता वाला भूकंप कहाँ से आएगा. 

हालांकि अमेरिका की भूकंप देने वाली कंपनी USGS के द्वारा यह गणना की जाती है कि कोई भूकंप आएगा लेकिन सटीक जानकारी वह भी पता नहीं लगा पाते हैं.