Search

CBSE Class 12 Hindi (Core) Question Paper 2017

CBSE board exam 2017 for class 12 Hindi (Core) was held on 22nd April 2017. Students can download the complete CBSE Class 12 Hindi (Core) 2017 question paper. With the help of this question paper, students of CBSE Class 12 will get an idea about the format and the level of questions which are asked in CBSE board exam.

Apr 25, 2017 17:45 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

CBSE Class 12 Hindi (Core) Question Paper 2017

CBSE Class 12 Hindi (Core) 2017 board exam question paper (Set - 1) is available here for download. You can download the complete question paper with the help of download link given at the end of this article.  CBSE 2017 board exam for class 12th Hindi was held on 22nd April, 2017 from 10:30 AM to 01:30 PM.

Format of CBSE Class 12 Hindi (Core) 2017 board exam question paper

In this question paper, there are 14 questions totaling to 100 marks. All questions must be attempted within 3 hours of duration. There is no overall choice in the question paper, however, internal choices are provided in few questions. 

Some sample questions from the question paper are given below:

प्रश्न: निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए:

दबाव में काम करना व्यक्ति के लिए अच्छा है या नहीं, इस बात पर प्राय: बहस होती है। कहा जाता है कि व्यक्ति अत्यधिक दबाव में नकारात्मक भावों को अपने ऊपर हावी कर लेता है, जिससे उसे अक्सर कार्य में असफलता प्राप्त होती है। वह अपना मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य भी खो बैठता है। दबाव को यदि ताक़त बना लिया जाए तो न सिर्फ़ सफलता प्राप्त होती है, बल्कि व्यक्ति कामयाबी के नए मापदंड रचता है । ऐसे बहुत सारे उदाहरण हैं जब लोगों ने अपने काम के दबाव को अवरोध नहीं, बल्कि ताक़त बना लिया । ‘सुख-दुख, सफलता-असफलता, शान्ति-क्रोध और क्रिया-कर्म हमारे दृष्टिकोण पर ही निर्भर करता है।' जोस सिल्वा इस बात से सहमत होते हुए अपनी पुस्तक यू द हॉलर में लिखते हैं की मन-मस्तिष्क को चलाता है और मस्तिष्क शरीर की । इस तरह शरीर मन के आदेश का पालन करता हुआ काम करता है।

दबाव में व्यक्ति यदि सकारात्मक होकर काम करे, तो वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में कामयाब होता है। दबाव के समय मौज़ूद समस्या पर ध्यान केंद्रित करने और बोझ महसूस करने की बजाय यदि यह सोचा जाए कि हम अत्यंत सौभाग्यशाली हैं, जो एक कठिन चुनौती को पूरा करने के लिए तत्पर हैं, तो हमारी बेहतरीन क्षमताएँ स्वयं जागृत हो उठती हैं। हमारा दिमाग़ जिस चीज़ पर भी अपना ध्यान केंद्रित करने लगता है, वह हमें बढ़ती प्रतीत होती है। यदि हम अपनी समस्याओं के बारे में सोचेंगे, तो वे और बड़ी होती महसूस होंगी । अगर अपनी शक्तियों पर ध्यान केंद्रित करेंगे, तो वे भी बड़ी महसूस होंगी । इस बात को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए कि 'जीतना एक आदत है, पर अफ़सोस ! हारना भी आदत ही है।'

CBSE Class 12 Mathematics Question Paper: 2017

(क) दबाव में काम करने के नकारात्मक प्रभाव समझाइए।

(ख) दबाव हमारी सफलता का कारण कब और कैसे बन सकता है?

(ग) दबाव में सकारात्मक सोच क्या हो सकती है? स्पष्ट कीजिए।

(घ) काम करने की प्रक्रिया में मन, मस्तिष्क और शरीर के संबंध को अपने शब्दों में समझाइए |

(ड) आशय स्पष्ट कीजिए: 'जीतना एक आदत है, पर अफ़सोस! हारना भी आदत हीं है।'

(च) गद्यांश के केंद्रीय भाव को लगभग 20 शब्दों में लिखिए।

(छ) अपनी क्षमताओं को जगाने में या समस्याओं को बड़ा महसूस करने में हमारी सोच की क्या भूमिका है?

(ज) उपर्युक्त गद्यांश के लिए उपयुक्त शीर्षक दीजिए।

CBSE Class 12 Physics Question Paper 2017

प्रश्न: निम्नलिखित में से किन्हीं दो प्रश्नों के उत्तर दीजिए:

(क) ‘बच्चन' के संकलित गीत में दिन ढलते समय पथिकों और पक्षियों की गति में तीव्रता और कवि की गति में शिथिलता के कारण लिखिए ।

(ख) बात की चूड़ी मरने और उसे सहूलियत से बरतने से कवि का क्या अभिप्राय है? ‘बात सीधी थी पर’ कविता के आधार पर लिखिए ।

(ग) " ‘धूत कही, अवधूत कहौ...." सवैये में तुलसीदास का स्वाभिमान प्रतिबिंबित होता है ।” इस कथन की पुष्टि कीजिए।

Download CBSE Class 12 Hindi (Core) 2017 Board Exam Question Paper

Related Stories