Search

बिहार में सभी वृद्धजनों के लिए पेंशन योजना जारी की गई

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा जारी पेंशन योजना में सभी वृद्धजनों के लिए पेंशन योजना जारी की गई है. इसके तहत गरीबी रेखा से नीचे या ऊपर वाले लोग इसका लाभ ले सकेंगे.

Jun 15, 2019 09:31 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 14 जून 2019 को मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना का आरंभ किया. इस योजना के तहत वृद्धों के बैंक खाते में पेंशन योजना की दो माह यानी अप्रैल और मई की राशि स्थानांतरित की गई.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उम्मीद जताई है कि 35 से 36 लाख लोगों द्वारा इस योजना के लाभ लिए आवेदन किया जायेगा. मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष में इस योजना के आरंभ के मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बीपीएल हों या एपीएल सभी वर्ग के वृद्धजनों को इस योजना का लाभ मिलेगा.

योजना के मुख्य बिंदु

•    इस योजना के लिए साठ वर्ष या फिर उससे अधिक उम्र के सभी वृद्धजन आवेदन कर सकते हैं.
•    गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) या फिर गरीबी रेखा से ऊपर (एपीएल) का कोई भी वृद्ध व्यक्ति इसके लिए आवेदन कर सकता है.
•    पेंशन के रूप में प्रतिमाह चार सौ रुपए उन्हें मिलेंगे जिन्हें किसी तरह का कोई पेंशन नहीं मिल रही.
•    अस्सी वर्ष की उम्र हो जाने पर पेंशन की राशि प्रति माह पांच सौ रुपए हो जाएगी.
•    आवेदन आरटीपीएस सेंटर में किया जा सकता है और ऑनलाइन सुविधा भी दी गई है.
•    आवेदन के लिए आधार कार्ड का होना अनिवार्य है. पेंशन पहली अप्रैल 2019 की तिथि से मिलेगी.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें

वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान अधिनियम

•    बिहार कैबिनेट द्वारा पारित माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के सम्मान अधिनियम में दो बार संशोधन किया गया.
•    बिहार में परिवार की प्रताड़ना की उपेक्षा झेल रहे माता-पिता को एसडीओ के पास सीधे शिकायत दर्ज करने का प्रावधान किया गया है.
•    एसडीओ द्वारा पारित आदेश के पालन न होने पर प्रभावित अभिभावक को जिलाधिकारी के पास अपील करने का अधिकार है जो अपने आदेश में सजा भी दे सकते हैं.

अन्य जानकारी

1 अप्रैल, 2019 से प्रभावी इस योजना का लाभ सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य सरकार ने इस योजना के लिए 18,000 करोड़ रुपये का एक विशेष कोष बनाया है, जो गरीब बुजुर्गों को सम्मान और प्रतिष्ठा देगा. अभी तक पेंशन के लिए दो लाख से ज्यादा लोगों ने ऑनलाइन आवेदन किया है.

 

यह भी पढ़ें: बीडीएल ने नौसेना को वरुणास्त्र टारपीडो की आपूर्ति हेतु समझौता किया