Search

Cyclone Nisarga: एनसीएमसी ने चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ से निपटने की तैयारियों की समीक्षा हेतु फि‍र से बैठक की

एनडीआरएफ ने महाराष्ट्र और गुजरात में तूफान के मद्देनजर भी कमर कस ली है. दोनों राज्यों में मिलाकर एनडीआरएफ की 33 टीमों को तैनात किया गया है. अकेले महाराष्ट्र में ही 20 टीमों को तूफान निसर्ग से निपटने के लिए लगाया गया है.

Jun 3, 2020 12:01 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

कैबिनेट सचिव राजीव गाबा ने चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ से निपटने के लिए राज्यों और केंद्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा करने हेतु राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की दूसरी बैठक की अध्यक्षता की. चक्रवाती तूफान निसर्ग (Cyclone Nisarga) आज (03 जून 2020) महाराष्ट्र में दस्तक देने वाला है.

मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवात अभी मुंबई से 215 किलोमीटर दूर है. वहीं, महाराष्ट्र के अलीबाग से चक्रवात की दूरी 165 किलोमीटर है. इस वजह से मुंबई समेत कई तटीय इलाकों में तेज बारिश शुरू हो गई है. विभाग  ने बताया कि महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में आने वाले अलीबाग में तूफान तकरीबन दोपहर 12 बजे से दोपहर तीन बजे के बीच आ सकता है.

एनडीआरएफ ने महाराष्ट्र और गुजरात में तूफान के मद्देनजर भी कमर कस ली है. दोनों राज्यों में मिलाकर एनडीआरएफ की 33 टीमों को तैनात किया गया है. अकेले महाराष्ट्र में ही 20 टीमों को तूफान निसर्ग से निपटने के लिए लगाया गया है.

एनडीआरएफ के महानिदेशक ने क्या कहा?

एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने बताया कि यह एक विकराल तूफान है जिसमें हवा की रफ्तार 90 किलोमीटर से 100 किलोमीटर तक जा सकती है. फिलहाल इस बात से राहत है कि इसकी रफ्तार तूफान अम्फान से कम होगी.

अरब सागर में हवा के दबाव में परिवर्तन होने से बने चक्रवात 'निसर्ग' ने खतरनाक रूप ले लिया है. इस समुद्री तूफान से बड़े पैमाने पर तबाही की आशंका है. इंडिगो एयरलाइंस ने तूफान निसर्ग को देखते हुए तीन फ्लाइट को छोड़कर आज मुंबई से अपनी आने-जाने वाली 17 फ्लाइट रद्द कर दी हैं. हालांकि, इसमें भी बदलाव की संभावना है.

प्रधानमंत्री ने भी तैयारियों की समीक्षा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी निसर्ग को लेकर की गई तैयारियों की समीक्षा की. उन्होंने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. विशेषज्ञों का मानना है कि मुंबई में इस तरह का तूफान आने का यह पहला मौका है.

मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक ने क्या कहा?

मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने 01 जून 2020 को बताया था कि इस तूफान से गुजरात से ज्यादा महाराष्ट्र के जिले प्रभावित होंगे. महाराष्ट्र के तटीय इलाकों के मुंबई, थाणे और रायगढ़ में इसका ज्यादा असर देखने को मिलेगा. समुद्र में सामान्य ज्वर की अपेक्षा एक से दो मीटर अधिक ऊंचाई का ज्वर आएगा.

महाराष्ट्र में अलर्ट जारी

महाराष्ट्र सरकार ने चक्रवाती तूफान निसर्ग को लेकर मुंबई और उसके आसपास के जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है. साथ ही एनडीआरएफ की टीमों की तैनाती भी की है. जिन जिलों में तूफान को लेकर रेड अलर्ट जारी है, उसमें मुंबई शहर, मुंबई उपनगरीय जिले, ठाणे, पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के नाम शामिल हैं.

गुजरात में भी जारी किया गया अलर्ट

इसे लेकर गुजरात समेत महाराष्ट्र, गोवा, दमन-दीव और दादरा नगर हवेली में अलर्ट जारी कर दिया गया है. वहीं राज्य सरकारों ने इससे बचने हेतु निचले स्थानों पर रहने वालों को निकालने के आदेश दिए है.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS