Flex-Fuel Car: भारत की पहली मास सेगमेंट फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप कार हुई लॉन्च, जानें इसके बारें में

India's First Flex Fuel Prototype Car: भारत में मास-सेगमेंट फ्लेक्स-फ्यूल कार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से भारत में की पहली बार फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप कार मॉडल पेश किया गया है. वैगन आर फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप मॉडल को मारुति सुजुकी इंडिया ने नई दिल्ली में लांच किया. जानें इसके बारें में 

भारत की पहली मास सेगमेंट फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप कार हुई लॉन्च
भारत की पहली मास सेगमेंट फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप कार हुई लॉन्च

India's First Flex Fuel Prototype Car: भारत में मास-सेगमेंट फ्लेक्स-फ्यूल कार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से भारत में की पहली बार फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप कार मॉडल (Flex Fuel prototype model) पेश किया गया है.  

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में इस वैगन आर फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप (Wagon R Flex Fuel prototype) मॉडल को मारुति सुजुकी इंडिया ने नई दिल्ली में लांच किया.   

यह कार 20 प्रतिशत इथेनॉल और 85 प्रतिशत पेट्रोल मिक्सचर के साथ, इथेनॉल-पेट्रोल मिक्सचर पर चलने के लिए डिजाइन की गई है. 

फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप कार मॉडल, हाइलाइट्स:

वैगन आर फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप मॉडल में हाई क्वालिटी का इंजन लगा हुआ है जो विशेष रूप से हाई इथेनॉल मिक्सचर वाले पेट्रोल का उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है. 

कंपनी के अनुसार इसमें इंजन को हाई इथेनॉल मिक्सचर (E20-E85) के अनुकूल बनाने के लिए, कोल्ड स्टार्ट असिस्ट (Cold start assist) के लिए 'फ्यूल रेल' और इथेनॉल परसेंटेज का पता लगाने के लिए इथेनॉल सेंसर (ethanol sensor) जैसी नई फ्यूल तकनीकों का उपयोग किया गया है.

इंजन मैनेजमेंट सिस्टम, अपग्रेडेड फ्यूल पंप और फ्यूल इंजेक्टर जैसे कॉम्पोनेन्ट को अपग्रेड किया गया है. 

भारत में नए नियमों के मद्देनजर मारुती सुजुकी ने BSVI फेज- II उत्सर्जन मानदंडों का पालन करने के लिए इंजन मैनेजमेंट सिस्टम और उत्सर्जन नियंत्रण प्रणाली का भी विकास किया गया है.

इस कार को सुजुकी मोटर कॉर्पोरेशन, जापान के सहयोग से मारुति सुजुकी के इंजीनियरों द्वारा स्थानीय रूप से डिजाइन और विकसित किया गया है. 

फ्लेक्स फ्यूल के लाभ:

E85 (Flex Fuel) ईंधन पर चलने वाले इथेनॉल फ्यूल बेस्ड वैगन आर फ्लेक्स फ्यूल प्रोटोटाइप व्हिकल पारंपरिक गैसोलीन वैगन आर मॉडल की तुलना में ग्रीनहाउस गैसों को 79 प्रतिशत तक कम करने में मदद करेगा. साथ ही यह भारत के 'आत्मनिर्भर भारत' पहल को भी गति प्रदान करेगा. 

भारत, चीनी का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता है साथ ही भारत इसका दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है. फसल अपशिष्ट के प्रसंस्करण से बना इथेनॉल एग्रीकल्चरल इकोनोमी को बढ़ावा देता है. 

'मेक इन इंडिया' पहल को मिलेगी मजबूती:

इसका कार का डिज़ाइन और विकास जापान के समर्थन से भारत में स्थानीय रूप से किया गया है. इस तरह की पहल भारत सरकार के मेक इन इंडिया प्रयासों को मजबूती प्रदान करता है.   

मारुति सुजुकी इंडिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ हिसाशी ताकेची (Hisashi Takeuchi) ने कहा कि, "मारुति सुजुकी ने देश के तेल आयात के बोझ को कम करने और पर्यावरण में सुधार के राष्ट्रीय उद्देश्यों के लिए खुद को लगातार तैयार किया है.''

फ्लेक्स-फ्यूल वाहन का भविष्य:

आज के बदलते परिवेश के मद्देनजर ग्लोबल लेवल पर फ्लेक्स-फ्यूल व्हिकल की डिमांड बढ़ी है. ग्लोब के सभी देश स्थायी संसाधनों की ओर रुख कर रहे है. ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के विशेषज्ञों के अनुसार वर्ष 2024 तक फ्लेक्स-फ्यूल बेस्ड व्हिकल की डिमांड और बढ़ेगी. एक रिपोर्ट के अनुसार, साउथ अमेरिकी देश ब्राजील में बेची जाने वाली लगभग 85 % कारें फ्लेक्स-फ्यूल बेस्ड है.    

इसे भी पढ़े:

नेक्स्ट जनरेशन के लिए, न्यूजीलैंड ने पारित किया 'वर्ल्ड फर्स्ट टोबैको लॉ', जानें क्या है कानून?

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play