Search

World Cup final 2019 के ओवरथ्रो मामला: सितंबर में ओवरथ्रो की समीक्षा करेगा MCC

एमसीसी ने कहा की ऐसा फैसला आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के फाइनल को ध्यान रखते हुए किया गया. विश्व क्रिकेट समिति (डब्ल्यूसीसी) का कहना है कि कानून पूरी तरह से स्पष्ट है, लेकिन इस मामले की समीक्षा कानून की उप-समिति सितंबर 2019 में करेगी.

Aug 14, 2019 13:43 IST

मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने हाल ही में घोषणा किया है कि इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लंदन के लॉर्ड्स में खेले गए विश्व कप 2019 के फाइनल के ओवरथ्रो की समीक्षा की जाएग. एमसीसी सितंबर 2019 में विश्व कप के 12वें सीजन के फाइनल में मार्टिन गप्टिल के थ्रो पर बेन स्टोक्स को दिए गए 6 रनों की समीक्षा करेगी.

एमसीसी ने कहा की ऐसा फैसला आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के फाइनल को ध्यान रखते हुए किया गया. विश्व क्रिकेट समिति (डब्ल्यूसीसी) का कहना है कि कानून पूरी तरह से स्पष्ट है, लेकिन इस मामले की समीक्षा कानून की उप-समिति सितंबर 2019 में करेगी.

एमसीसी ने एक आधिकारिक बयान में कहा है की डब्ल्यूसीसी ने विश्व कप के फाइनल के ओवरथ्रो के बारे में 19.8 नियम के बारे में बात की है. एमसीसी ने अब इस पूरे घटना को एक बार फिर से समीक्षा करने की घोषणा की है.

विश्व कप फाइनल 2019 में ओवरथ्रो की घटना

विश्व कप के फाइनल में इंग्लैंड की टीम न्यूजीलैंड के 241 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही थी. इंग्लैंड की टीम को आखिरी की तीन गेंदों में नौ रन चाहिए थे. उसी समय इंग्लैंड के बेन स्टोक्स ने दो रन लेने की कोशिश की और तभी न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल का थ्रो उनके बल्ले से टकराकर चार रन के लिए बाउंड्री पार कर गया. इसपर मैदानी अंपायरों कुमार धर्मसेना और मराइस इरास्मस ने इंग्लैंड की टीम को छह रन दे दिया, जिसमें (दो रन दौड़कर बनाए गए और चार रन ओवर थ्रो के) दिए गए थे. क्रिकेट जगत के कई महान हस्तियों ने कहा था की अंपायर्स को छह रन के बदले इंग्‍लैंड को पांच रन देने चाहिए थे क्‍योंकि दूसरा रन दौड़ते हुए दोनों बल्‍लेबाजों ने एक-दूसरे को पार (क्रॉस) नहीं किया था.

जिस क्षण गेंद बेन स्टोक्स के बल्ले से डिफ्लेक्ट हुई, उसने तुरंत माफी मांगने के लिए अपने हाथ रख दिए. इंग्लैंड को एक गेंद पर एक चौका और दो रन मिले. मैच टाई पर समाप्त हुआ था और सुपर ओवर को विजेता का फैसला करने के लिए खेला गया लेकिन यह भी मैच टाई पर समाप्त हुआ. अंततः इंग्लैंड को आईसीसी विश्व कप फाइनल 2019 का विजेता घोषित किया गया क्योंकि उन्होंने मैच में अधिक संख्या में चौके लगाए थे.

आईसीसी (ICC) के 19.8 नियम के अनुसार

आईसीसी (ICC) के 19.8 नियम के मुताबिक, फील्डर के हाथ से गेंद थ्रो होने से पहले बल्लेबाज अगर एक-दूसरे को क्रॉस कर चुके होते हैं और गेंद किसी कारण से बाउंड्री पार कर जाती है तो रन पूरा (दौड़ा हुआ रन और बाउंड्री से 4 रन) माना जाता है, लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो रन अधूरा ही माना जाएगा.

यह भी पढ़ें: ICC ने एलीट पैनल में दो नए अंपायरों को शामिल किया