वेस्टर्न डिस्टर्बन्स क्या है और भारतीय उपमहाद्वीप जलवायु पर इसका क्या प्रभाव है?

वायु विभिन्न गैसों का मिश्रण है और परिणामस्वरूप, वायुमंडलीय दबाव ऊंचाई के साथ काफी भिन्न होता है। यह दबाव विश्व के प्रत्येक हिस्से में समान रूप से वितरित नहीं है और न ही यह किसी भी क्षेत्र के लिए हर समय समान होता है। वायुमंडलीय दबाव ऊंचाई, तापमान और पृथ्वी के घूर्णन से प्रभावित होता है। इस लेख में हमने वेस्टर्न डिस्टर्बन्स और भारतीय उपमहाद्वीप जलवायु पर इसके प्रभाव के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Feb 15, 2019 14:36 IST
    What is Western Disturbance and its impact on the Indian subcontinent? HN

    वायु विभिन्न गैसों का मिश्रण है और परिणामस्वरूप, वायुमंडलीय दबाव ऊंचाई के साथ काफी भिन्न होता है। यह दबाव विश्व के प्रत्येक हिस्से में समान रूप से वितरित नहीं है और न ही यह किसी भी क्षेत्र के लिए हर समय समान होता है। वायुमंडलीय दबाव ऊंचाई, तापमान और पृथ्वी के घूर्णन से प्रभावित होता है।

    चक्रवात, तूफान और टाइफून सभी एक ही मौसम की घटना है जो हर साल समुद्र से वायुमंडल में कई मेगाटन परमाणु बमों के बराबर ऊर्जा को स्थानांतरित करते हैं। दुनिया भर में हर साल लगभग 70 से 90 चक्रवाती सिस्टम विकसित होते हैं। कोरिओलिस बल, अपनी ही धुरी के बारे में पृथ्वी के घूर्णन के कारण होने वाला विक्षेपण बल ध्रुवों पर अधिकतम होता है और भूमध्य रेखा पर उत्तरोत्तर घटता-बढ़ता रहता है। ये बल कम दबाव प्रणाली की ओर सर्पिल के लिए सतह की हवाओं को मजबूर करते हैं।

    वेस्टर्न डिस्टर्बन्स (Western Disturbance) क्या है?

    वेस्टर्न डिस्टर्बन्स (Western Disturbance) जिसको पश्चिमी विक्षोभ भी बोला जाता है, भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी इलाक़ों में सर्दियों के मौसम में आने वाले ऐसे तूफ़ान को कहते हैं जो वायुमंडल की ऊँची तहों में भूमध्य सागर, अटलांटिक महासागर और कुछ हद तक कैस्पियन सागर से नमी लाकर उसे अचानक वर्षा और बर्फ़ के रूप में उत्तर भारत, पाकिस्तान व नेपाल पर गिरा देता है। यह एक गैर-मानसूनी वर्षा का स्वरूप है जो पछुवा पवन (वेस्टर्लीज) द्वारा संचालित होता है।

    पोलर वोर्टेक्स क्या है और भारतीय जलवायु पर इसका क्या प्रभाव है?

    वेस्टर्न डिस्टर्बन्स या पश्चिमी विक्षोभ का निर्माण कैसे होता है?

    वेस्टर्न डिस्टर्बन्स या पश्चिमी विक्षोभ भूमध्य सागर में अतिरिक्त उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के रूप में उत्पन्न होता है। यूक्रेन और उसके आस-पास के क्षेत्रों पर एक उच्च दबाव क्षेत्र समेकित होने के कारण, जिससे ध्रुवीय क्षेत्रों से उच्च नमी के साथ अपेक्षाकृत गर्म हवा के एक क्षेत्र की ओर ठंडी हवा का प्रवाह होने लगता है। यह ऊपरी वायुमंडल में साइक्लोजेनेसिस के लिए अनुकूल परिस्थितियां उत्पन्न होने लगती है, जो कि एक पूर्वमुखी-बढ़ते एक्सट्रैटॉपिकल डिप्रेशन के गठन में मदद करता है। फिर धीरे-धीरे यही चक्रवात ईरान, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के मध्य-पूर्व से भारतीय उप-महाद्वीप में प्रवेश करता है।

    भारतीय उप-महाद्वीप पर वेस्टर्न डिस्टर्बन्स या पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव

     

    Wetsern Disturbance

    वेस्टर्न डिस्टर्बन्स या पश्चिमी विक्षोभ खासकर सर्दियों में भारतीय उपमहाद्वीप के निचले मध्य इलाकों में भारी बारिश तथा पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कृषि में इस वर्षा का बहुत महत्व है, विशेषकर रबी फसलों के लिए। उनमें से गेहूं सबसे महत्वपूर्ण फसलों में से एक है, जो भारत की खाद्य सुरक्षा को पूरा करने में मदद करता है।

    ध्यान दें कि उत्तर भारत में गर्मियों के मौसम में आने वाले मानसून से वेस्टर्न डिस्टर्बन्स या पश्चिमी विक्षोभ का बिलकुल कोई सम्बन्ध नहीं होता। मानसून की बारिशों में गिरने वाला जल दक्षिण से हिन्द महासागर से आता है और इसका प्रवाह वायुमंडल की निचली सतह में होता है। मानसून की बारिश ख़रीफ़ की फ़सल के लिये ज़रूरी होती है, जिसमें चावल जैसे अन्न शामिल हैं।

    कभी-कभी इस चक्रवात के कारण अत्यधिक वर्षा भी होने लगती है जिसके कारण फसल क्षति, भूस्खलन, बाढ़ और हिमस्खलन होने लगता है

    भारत-गंगा के मैदानी इलाकों में, यह कभी-कभी शीत लहर की स्थिति और घना कोहरा लाता है। अन्य पश्चिमी विक्षोभ के आने तक यह स्थिति स्थिर रहती है। जब मानसून की शुरुआत से पहले पश्चिमी विक्षोभ उत्तरपश्चिम भारत में घूमता है, तो इस क्षेत्र पर मानसून की वर्तमान में अस्थायी उन्नति होती है।

    जेट स्ट्रीम क्या है और वैश्विक मौसम प्रणाली को कैसे प्रभावित करता है?

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...