1. Home
  2. Hindi
  3. Commonwealth: जानें क्या होता है राष्ट्रमंडल का मतलब, कौन-कौन से देश हैं इसमें शामिल

Commonwealth: जानें क्या होता है राष्ट्रमंडल का मतलब, कौन-कौन से देश हैं इसमें शामिल

Commonwealth: आज हम आपको इस लेख के माध्यम से  यह बताने जा रहे हैं कि आखिर राष्ट्रमंडल क्या मलतब होता है। साथ ही इसका क्या इतिहास है और कौन-कौन से देश इसका हिस्सा हैं। जानने के लिए पूरा लेख पढ़ें। 

Commonwealth: जानें क्या होता है राष्ट्रमंडल का मतलब, कौन-कौन से देश हैं इसमें शामिल
Commonwealth: जानें क्या होता है राष्ट्रमंडल का मतलब, कौन-कौन से देश हैं इसमें शामिल

Commonwealth: आपने अंतरराष्ट्रीय खबरों में राष्ट्रमंडल शब्द को जरूर पड़ा होगा। अभी कुछ समय पहले ही राष्ट्रमंडल खेलों का भी आयोजन किया गया था, जो कि राष्ट्रमंडल देशों में होता है। लेकिन, क्या आपको राष्ट्रमंडल का सही अर्थ पता है और इसका क्या इतिहास रहा है। साथ ही मौजूदा समय में इसमें कौन-कौन से देश शामिल हैं। यदि नहीं, तो हम इस लेख के माध्यम से यह समझेंगे।  

 

राष्टमंडल उन देशों के समूह को कहा जाता है, जो कभी किसी न किसी रूप में ब्रिटेन से जुड़े रहे। ऐसे में इन देशों पर कभी ब्रिटेन ने शासन किया था और बाद में इन देशों को स्वतंत्रता मिली थी। इन देशों को राष्ट्रमंडल देश कहा जाता है। भारत भी एक राष्ट्रमंडल देश है। 

 

लैंगिक समानता और सुरक्षा के लिए किया है समझौता

राष्ट्रमंडल देशों ने अंतरराष्ट्रीय शांति बनाए रखने और सुरक्षा के लिहाज से आपस में समझौते किए हैं। समझौते में लोकतंत्र व लैंगिक समानता का मुद्दा भी शामिल है। 

 

क्या है राष्ट्रमंडल का इतिहास 

राष्ट्रमंडल के इतिहास की बात करें तो यह 19वीं शताब्दी के उपनिवेशवादी सिद्धांत पर आधारित है। साल 1887 में ब्रिटिश और उपनिवेशी प्रधानमंत्रियों का पहली बार सम्मेलन आयोजित किया गया था। हालांकि, साल 1911 में इंपेरियल सम्मेलन बना और 1920 में इसका नाम कॉमनवेल्थ रखा गया। उस दौर में इस समूह में लंदन, कनाडा, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका शामिल हुआ करते थे। इसके बाद साल 1971 में राष्ट्रमंडल शासन अध्यक्षों की बैठक की प्रक्रिया तय हुई और पहली बैठक सिंगापुर में आयोजित की गई। उस दौर में ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, कनाडा व ब्रिटेन जैसे बड़े और विकसित देशों के साथ नोरू, टोंगा व मालदीव जैसे छोटे द्वीपीय देशों ने भी भाग लिया था। 

कौन-कौन से हैं राष्ट्रमंडल देश

 

एशिया: भारत, मालदीव, मलेशिया, बांग्लादेश, ब्रुनेई दारुस्सलम, श्रीलंका, पाकिस्तान और सिंगापुर।

 

यूरोप: इंग्लैंड, माल्टा, जर्सी, साइप्रस, जिब्राल्टर, गुएर्नसे, आइल ऑफ मैन, उत्तरी आयरलैंड, वेल्स और स्कॉटलैंड। 

 

 

अफ्रीका: स्वाजीलैंड, तंजानिया, घाना, युगांडा, दक्षिण अफ्रीका, मलावी, रवांडा, कैमरून, बोत्सवाना, कीनिया, लेसोथो, मॉरिशस, मोज़ाम्बिक, नामीबिया, नाइजीरिया, सेशेल्स, सियरा लियोन, द गांबिया और जाम्बिया।

 

ओशीनिया: न्यूज़ीलैंड, तुवालू, टोंगा, समोआ,  किरिबाती, ऑस्ट्रेलिया, कुक द्वीप समूह, नौरू, नियू, नॉरफॉक आइलैंड, पापुआ न्यू गिनी, सोलोमॉन द्वीप समूह और वैनुआतु।

 

अमरीकी देश: सेंट हेलेना, कनाडा, बरमूडा,  बेलिज़, फॉकलैंड द्वीप समूह और गुयाना। 

 

कैरेबियाई देश: ग्रेनेडा, ब्रितानी वर्जिन द्वीप समूह, बहमास, डोमिनिका, जमैका, सेंट विंसेट, एंगुइला, एंटिगुआ और बरबुडा, बारबाडोस, केमेन द्वीप समूह, मोंसेरात, सेंट किट्स एंड नेविस, सेंट लुसिया, त्रिनिदाद एंड टोबैगो और टर्क्स एंड कैकॉस द्वीप। 

 

 



हम उम्मीद करते हैं कि ऊपर दी गई जानकारी के माध्यम से आप राष्ट्रमंडल के मतलब, इतिहास और इसमें शामिल देशों के बारे में जानकर संतुष्ट होंगे।  

 

पढ़ेंः Death Valley: दुनिया की अनोखी जगह जहां खुद ही खिसकते हैं पत्थर, जानें क्यों