CAT एग्जाम: क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सॉल्व करने के खास टिप्स

अगर आप किसी एक्सपर्ट से CAT एग्जाम को क्रैक करने के लिए क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड को सॉल्व करने का कारगर तरीका अच्छी तरह समझ लें तो आप निश्चित रूप से CAT एग्जाम में सफलता हासिल कर लेंगे.

Created On: Sep 3, 2019 18:10 IST
Best Tips to crack Quantitative Aptitude in CAT exam
Best Tips to crack Quantitative Aptitude in CAT exam

अगर हम MBA CAT एग्जाम को क्रैक करने की बात करें तो बहुत सारे फॉर्मूलाज और शॉर्टकट्स ऐसे भी होते हैं जिनकी जानकारी अगर स्टूडेंट्स को हो जाय तो वे अवश्य ही अपने किसी भी MBA एंट्रेंस एग्जाम में आसानी से कामयाब हो सकते हैं. स्टूडेंट्स की सुविधा के लिए नीचे कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं. अगर स्टूडेंट्स इन टिप्स को अच्छी तरह फ़ॉलो करें तो वे जरुर किसी भी एग्जाम में क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड के क्वेश्चन्स बड़ी आसानी से सॉल्व कर सकते हैं.

कई स्टूडेंट्स अक्सर ऑनलाइन CAT कोचिंग कोर्स में क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड के टिप्स बारे में पूछते हैं. अगर वे इस आर्टिकल में नीचे दिए गए इन टिप्स को फ़ॉलो करें तो वे आसानी से अपने लक्ष्य को हासिल कर लेंगे.

न छोड़े कोई भी टॉपिक

कई स्टूडेंट्स अक्सर अपने नापसंद टॉपिक छोड़ देते हैं. कुछ स्टूडेंट्स को ज्योमेट्री पसंद नहीं होती तो कुछ परमुटेशन, कंबिनेशन और प्रोबेबिलिटी में प्रॉब्लम होती है. CAT एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स इसका सबसे आसान तरीका यह समझते हैं मुश्किल या अरुचिकर प्रश्नों को छोड़ दिया जाये क्योंकि इन विषयों पर पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या बहुत कम होती है. उदाहरण के लिए प्रोबेबिलिटी पर कभी कभी एक ही क्वेश्चन पूछा जाता है तो कभी कभी इस विषय से एक भी क्वेश्चन नहीं पूछा जाता है. लेकिन क्या आप किसी सेक्शन या क्वेश्चन में कम्फर्टेबल नहीं है तो सेक्शन या क्वेश्चन को छोड़ देना चाहिए? हरगिज नहीं!!

स्टूडेंट्स को किसी भी सेक्शन या क्वेश्चन्स को छोड़ना नहीं चाहिए. इसका एक बड़ा कारण यह है कि आपको यह नहीं पता होता है कि एग्जाम में उस टॉपिक से जुड़े कठिन या आसान किस तरह के क्वेश्चनस पूछे जाएंगे? अगर आपने कोई टॉपिक छोड़ दिया है और उस टॉपिक से आसान क्वेश्चन्स पूछ लिए जायें तो इसमें आपकी हानि है क्योंकि हो सकता है कि अपेक्षाकृत अधिकतर स्टूडेंट्स ने ऐसे क्वेश्चन्स सॉल्व किये हों और ऐसी स्थिति में उनके मार्क्स आपसे हायर हो सकते हैं. CAT एग्जाम में आप ऐसे कुछ आसान क्वेश्चन्स का जवाब एक मिनट से भी कम समय में दे सकते थे, लेकिन उन्हें छोड़ना आपके फाइनल रिजल्ट पर बुरा असर डालेगा. दरअसल, एग्जाम दिए बिना आप इस बात का अंदाजा नहीं लगा सकते हैं कि आप जिस सेक्शन या विषय में कम्फर्टेबल नहीं हैं, उसमें से कठिन क्वेश्चन्स पूछे जाएंगे या आसान क्वेश्चन्स.

इसलिए, स्टूडेंट्स को प्रत्येक विषय की अच्छी प्रैक्टिस करनी चाहिए ताकि वे कम से कम एग्जाम में पूछे गए आसान क्वेश्चन्स तो सॉल्व कर ही लें. इसलिए, स्टूडेंट्स को क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड की तैयारी करते समय किसी भी विषय को छोड़ना नहीं चाहिए. जहां तक संभव हो, CAT एग्जाम के सभी बेसिक फैक्ट्स की जानकरी अवश्य रखें ताकि आप लगभग सभी क्वेश्चन्स सॉल्व कर लें.

भटकाव से बचें (पागलगाय, फेसबुक ग्रुप, व्हट्सएप, ट्विटर)

CAT की तैयारी करने वाले अधिकतर स्टूडेंट्स फेसबुक, व्हट्सएप, ट्विटर जैसे सोशलमीडिया टूल्स तथा पागलगाय जैसे इंटरैक्शन फोरम पर यूजर्स द्वारा भेजे गए कंटेंट की वजह से कई बार काफी कन्फ्यूज हो जाते हैं तथा वे निर्णय ही नहीं कर पाते हैं कि कौन-सा कंटेंट उनके लिए उपयोगी तथा प्रमाणिक है? पहले तो यह डिस्कशन सिर्फ पागल गाय तक ही सीमित था लेकिन, जब से व्हट्सएप आया है तो यह डिस्कशन और आसान हो गया है और हर कोई कुछ न कुछ कंटेंट ग्रुप या फ्रेंड्स को भेज देता है. ऐसे में, सही और प्रमाणिक कंटेंट को समझना मुश्किल हो जाता है और इससे अधिकतर स्टूडेंट्स का नुकसान ही होता है. दरअसल ऐसे टूल्स आमतौर पर स्टूडेंट्स को नुकसान ही पहुंचाते हैं. कभी-कभी यूजर्स को ऐसा लगता है कि वे तो अपने कोर्स से रिलेटेड मटीरियल ही पढ़ रहे हैं लेकिन, वास्तव में वे अपना  समय बर्बाद कर रहे होते हैं क्योंकि वे सारे कंटेंट CAT एग्जाम के लिए प्रासंगिक नहीं होते हैं. इस दौरान स्टूडेंट्स से कभी भी क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड से जुड़े ऐसे क्वेश्चन्स, जो 10वीं क्लास के थियोरम्स पर बेस्ड नहीं हों, कभी नहीं पूछे जाते हैं. क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड से जुड़े थियोरम्स सम्बन्धी क्वेश्चन्स हमेशा 10वीं या 12वीं क्लास में पढ़ाये गए थियोरम्स पर ही आधारित होते हैं जिन्हें सॉल्व करने में 2 - 3 मिनट से अधिक समय नहीं लगता है. CAT एग्जाम में अच्छा परफॉर्म करने के लिए यह बेहतर होगा कि आप सोशल मीडिया तथा इंटरैक्शन फोरम्स का कम से कम इस्तेमाल करें.

ज्यादातर कोचिंग इंस्टीट्यूट या ऑनलाइन ट्यूटर ग्रुप नंबर सिस्टम, परमुटेशन और कंबिनेशन तथा प्रोबेबिलिटी से जुड़े कंटेंट अपने प्रचार प्रसार के लिए या फिर, कभी-कभी दिखावे के लिए ग्रुप में या सोशल मीडिया पर डालते हैं. इनका महत्व सिर्फ आपके डाउट्स क्लियर करने तक ही सीमित है. फैक्ट्स को सीखने और समझने के लिए ये फोरम बिलकुल सही नहीं है. वैसे भी ऐसे 1 % स्टूडेंट्स के लिए, जिन्होंने अपनी पूरी तैयारी कर ली है और जिन्हें सभी फैक्ट्स पता हैं, ये टूल्स प्रैक्टिस के लिए सही हैं लेकिन बाकी 99 % स्टूडेंट्स के लिए ये भटकाव का ही एक साधन है.

ज्योमेट्री और अलजबरा (फंक्शन्स) पर करें फोकस

क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन में बहुत सारे स्टूडेंट्स CAT सिलेबस में दिए गए टॉपिक्स के मुताबिक  तैयारी नहीं करते हैं. हम आपको नीचे बता रहे हैं कि टॉपिक वाइज किस टॉपिक से कितने क्वेश्चन्स पूछे जाते हैं? CAT एग्जाम के क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन में कुल 34 क्वेश्चन्स पूछे जाते हैं जिनका विवरण इस प्रकार है:

नंबर सिस्टम : 5 – 6 क्वेश्चन्स

अर्थमैटिक : 6 – 7 क्वेश्चन्स

अलजबरा : 8 – 9 क्वेश्चन्स

ज्योमेट्री : 8 – 9  क्वेश्चन्स

मॉडर्न मैथ्स : 5 – 6 क्वेश्चन्स

यहां आप स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन में अधिकतर क्वेश्चन ज्योमेट्री तथा अलजबरा से कवर किये जाते हैं.  CAT एग्जाम में कवर किये जाने वाले अधिकतर सब-टॉपिक्स भी ज्योमेट्री तथा अलजबरा से ही संबंधित होते हैं.

अलजबरा  में अधिकतर क्वेश्चन्स फ़ंक्शंस के बेसिक एप्लीकेशन्स पर आधारित होते हैं जबकि अधिकतर ज्योमेट्री क्वेश्चन्स ट्रायंगल और सर्कल जैसे 2-डी ज्योमेट्री विषयों पर आधारित होते हैं. यदि स्टूडेंट्स  इनमें से कुछ में भी महारत हासिल कर लेते हैं, तो CAT एग्जाम के क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन में अच्छा स्कोर कर सकते हैं. इसलिए, अगली बार जब आप किसी फैक्टोरियल क्वेश्चन के सबसे सही नॉन-जीरो डिजिट का पता लगाने के लिए फॉर्मूला सीखने की कोशिश कर रहे हों तो फ़ंक्शन्स से सम्बंधित कुछ क्वेश्चन्स की प्रैक्टिस करने की कोशिश कीजिये.

हम आशा करते हैं कि स्टूडेंट्स को क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन के क्वेश्चन्स सॉल्व करने में आसानी होगी तथा इस सेक्शन में वे बेहतरीन प्रदर्शन कर पाएंगे.

यदि आपके पास इस बारे में कुछ क्वेश्चन्स है तो कमेंट सेक्शन पर क्लिक कर अपनी राय व्यक्त करें. अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो, तो इसे फेसबुक/ ट्विटर पर शेयर करना न भूलें.

Cat Percentile Predictor 2021

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

4 + 8 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.