एससीओ (SCO) में पहली बार मंदिर शहर वाराणसी को सांस्कृतिक और पर्यटन राजधानी के रूप में नामित किया गया

समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन की 22वीं बैठक में 16 सितंबर 2022 को मंदिरों और घाटों के शहर वाराणसी को पहली बार सांस्कृतिक और पर्यटन राजधानी के रूप में नामित किया गया|

Temple city Varanasi nominated as first-ever SCO tourism and Cultural Capital
Temple city Varanasi nominated as first-ever SCO tourism and Cultural Capital

समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन की 22वीं बैठक में 16 सितंबर 2022 को मंदिरों और घाटों के शहर वाराणसी को वर्ष 2022-2023 के लिए पहली बार सांस्कृतिक और पर्यटन राजधानी के रूप में नामित किया गया है| यह घोषणा एससीओ परिषद की बैठक 15 और 16 सितंबर को उज्बेकिस्तान के एक शहर समरकंद में की गई थी, जिसमें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भी भाग लिया था। विकास की घोषणा के बाद में विदेश सचिव विनय क्वात्रा द्वारा एक प्रेस मीट में की गई।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा की “वाराणसी को पहली बार एससीओ की बैठक में पर्यटन और सांस्कृतिक राजधानी के रूप में नामित करने से भारत और एससीओ सदस्य देशों के बीच पर्यटन, सांस्कृतिक और मानवीय आदान-प्रदान को बढ़ावा मिलेगा। यह एससीओ के सदस्य, राज्यों, विशेष रूप से मध्य एशियाई गणराज्यों के साथ भारत के प्राचीन सभ्यतागत संबंधों को भी रेखांकित करता है।"

भारत को मिली 2023 SCO प्रेसिडेंसी

उज़्बेकिस्तान ने वर्ष 2022-23 के लिए रोटेटिंग प्रेसिडेंसी भारत को सौंप दी है और साथ ही विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने कहा, की "प्रधानमंत्री मोदी ने आगामी वर्ष 2022-23 के दौरान वाराणसी को पहली वार एससीओ पर्यटक और सांस्कृतिक राजधानी के रूप में समर्थन देने के लिए सभी सदस्य राज्यों को धन्यवाद कहा है।"

उन्होंने कहा कि एससीओ की मान्यता ऐतिहासिक शहर के लिए उपयुक्त है जो भारत और ब्लॉक के अन्य सदस्य देशों के बीच अधिक से अधिक सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के बीच संबंधों के लिए द्वार खोलेगा।

उन्होंने कहा कि मान्यता का जश्न मनाने के लिए केंद्र के सहयोग से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

यह SCO शिखर सम्मेलन 2002 के बाद किर्गिस्तान में 2019 बिश्केक शिखर सम्मेलन के तीन साल बाद आयोजित किया गया था। शिखर सम्मेलन में एससीओ सदस्यों के राष्ट्रों के प्रमुखों - भारत, चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज़्बेकिस्तान ने भाग लिया।

इससे पहले शुक्रवार को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के नवाचार और स्टार्ट-अप मॉडल के बारे में बात की और कहा कि भारत को एक विनिर्माण केंद्र के रूप में बदला जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि फोरम के सभी देश कोविड के बाद के युग में विशेष रूप से आर्थिक सुधार को आगे बढ़ाने और आपूर्ति श्रृंखलाओं को मजबूत करने में रचनात्मक भूमिका निभा सकते हैं।

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play