क्या आप पेट्रोल पम्प पर अपने अधिकारों के बारे में जानते हैं?

Apr 14, 2017 11:34 IST

    भारत में 58,000 से ज्यादा पेट्रोल पम्प हैं जिनमे 95% से ज्यादा सरकारी तेल कंपनियों, इंडियन आयल कारपोरेशन, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम से सम्बंधित हैं l हम में से बहुत ही कम ऐसे लोग होंगे जो कि पेट्रोल पम्पों पर कभी न कभी ठगी के शिकार न हुए हों या फिर पेट्रोल पम्पों पर अपने सभी अधिकारों के बारे में जानते हों l इस लेख में समान्य लोगों की समझ को बढ़ाने के लिए हमने ऐसे ही कुछ अधिकारों के बारे में बताया है जिन्हें या तो आप जानते नही थे या फिर आपने कभी भी इनका उपयोग नही किया है l

    आइये अब आपके अधिकारों के बारे में जानते हैं:

    गुणवत्ता जांचने का अधिकार: ग्राहक को डीजल और पेट्रोल की गुणवत्ता की जांच करने का पूरा अधिकार है l उसे यह जानने का हक़ है कि उसके द्वारा खर्च किये जाने वाले रुपयों के बदले ठीक वस्तुएं या सेवाएँ मिल रही हैं या नही l

    फिल्टर पेपर परीक्षण (पेट्रोल के लिए): इस परीक्षण के लिए पेट्रोल डालने वाले यन्त्र के नोजल को साफ़ करके फिल्टर पेपर पर पेट्रोल की एक बूंद डाल दीजिए, सामान्यतः इसे 2 मिनट के अन्दर लुप्त हो जाना चाहिएl अब आप इस बात का ध्यान कीजिये कि पेपर पर जिस जगह आपने पेट्रोल की एक बूँद डाली थी उस जगह का रंग थोड़ा गुलाबी हुआ कि नहीl यदि पेपर गुलाबी हो जाता है तो पेट्रोल में कोई मिलावट नही है, लेकिन गुलाबी के अलावा अगर कोई और रंग का धब्बा उस जगह पर बन जाता है तो मान लीजिये के पेट्रोल के मिलावट हैl आप इस परीक्षण को करने के लिए पेट्रोल पम्प पर काम करने वाले कर्मचारी को कह सकते हैं और फ़िल्टर पेपर उपलब्ध कराना भी उसी की जिम्मेदारी होगी l

    क्या आप जानते हैं कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों का निर्धारण कैसे होता है

    quality-check-of-petrol.

    Image source:googleimages

    मात्रा चेक करने के लिए: प्रत्येक पेट्रोल पम्प स्टेशन के लिए यह जरूरी है कि वह तेल की सही मात्रा की जाँच के लिए अपने आपस एक 5 लीटर का 'नपता/मापक' रखे जिसको प्रतिवर्ष वजन और जांच विभाग द्वारा मापा जाना चाहिए l इस मापक में 5 लीटर के पैमाने में यदि 25 मिलीलीटर का अंतर आता है तो इसे स्वीकार किया जा सकता है लेकिन इससे अधिक अंतर आने पर आप पेट्रोल पम्प मालिक के खिलाफ कार्यवाही करा सकते हैं l हालांकि इस अंतर को तुरंत सुधारा जाना चाहिएl

    quantity-check-of-petro

    ग्राहकों के लिए अन्य उपयोगी टिप्स यह है कि उन्हें हर खरीद के लिए कैश मेमो / इनवॉइस लेना नही भूलना चाहिए क्योंकि यदि आपको किसी चीटिंग (जैसे मिलावट, कम नापना या अधिक चार्ज करना) का शिकार होते हैं तो आपका यह अधिकार है कि तुरंत ही उस कंपनी के अधिकारियों से संपर्क करना चाहिए जिनके नाम और मोबाइल नंबर उसी पेट्रोल पम्प पर लिखे होते हैंl

    पेट्रोल और डीजल या अन्य ब्रांडेड ईंधन की घनत्व की जांच:

    पेट्रोल और डीजल के घनत्व की जाँच करने के लिए हर पेट्रोल पम्प पर एक 500 मिलीलीटर का जार होता है जिसको डीजल या पेट्रोल डालने वाले नोजल के माध्यम से लगभग 3/4 हिस्से तक  भर लिया जाता है l इसके बाद ASTM (American society for testing of materials) नामक यंत्र को इस जार में डुबाया जाता है जिससे तेल का तापमान और घनत्व रिकॉर्ड मिल जाता है l अब इस जांचे गए घनत्व की तुलना एक रजिस्टर में लिखे गए घनत्व से की जाती है जो कि उस पेट्रोल पम्प के लिए मानक का कार्य करता है, परीक्षण में पाया गया घनत्व और रजिस्टर में लिखा गया घनत्व बराबर होना चाहिएl यह रजिस्टर हर पेट्रोल पम्प द्वारा रखा जाता हैl

    शिकायतें: अगर आपकी शिकायत पेट्रोल पंप पर या कंपनी के कर्मियों द्वारा नही सुलझाई जाती है तो आप केंद्रीय लोक शिकायत और निगरानी प्रणाली (CPGRAMS) के पास जाकर शिकायत दर्ज करा सकते हैंl  इसके पास जो भी शिकायत दर्ज करायी जाती है उसकी शिकायतों को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा जनता के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी को भेजा जाता है।

    जानें ड्राइविंग करते समय किस नियम को तोड़ने पर देना पड़ेगा कितना जुर्माना

    किसी भी पेट्रोल पम्प पर ये सुविधाएँ निशुल्क हर हाल में मिलनी ही चाहिए, चाहे वह पेट्रोल पम्प किसी भी कंपनी का क्यों न हो:

    1. वाहन में नि:शुल्क हवा

    2. पीने का पानी

    3. शौचालय

     FREE-AIR-WATER

    Image source:google.com

    4. किसी भी चोट या घाव के मामले में प्राथमिक चिकित्सा बॉक्स

    5. शिकायत रजिस्टर करने के लिए शिकायत बॉक्स

    6. आग से बचने के लिए अग्निशमन यंत्र और रेत बाल्टी जैसे सुरक्षा उपकरण

    7. तेल की कीमतें और काम के घंटे

    8. ग्राहकों की सुविधा के लिए, तेल कंपनी के कर्मियों के फोन नंबर के साथ स्टेशन मैनेजर के लाइसेंस, नाम और फोन नंबर का किसी दीवार आदि पर लिखा जाना ।

    एक नागरिक के रूप में हमारी जिम्मेदारियां:

    ऐसा नही है कि हमारे लिए सिर्फ अधिकार ही बनाये गए हैंl बिना कर्तब्यों के अधिकारों की बात करना तर्क पूर्ण नही है l इसलिए जब हम पेट्रोल पम्प पर जाते हैं तो हमारे लिए कुछ जिम्मेदारियां भी बनायी गईं हैं ये इस प्रकार हैं :

    1. जब हम डीजल या पेट्रोल भरवाते हैं तो हमें अपनी गाड़ी या बाइक का इंजन बंद कर देना चाहिए कहीं ऐसा न हो कि पेट्रोल डालते समय बाहर निकल जाये और आग लग जाये l

    2. पेट्रोल पंप परिसर के भीतर कभी भी सिगरेट या माचिस ना जलाएं l

    3. डीजल या पेट्रोल लेने के दौरान कभी भी अपने मोबाइल फोन पर कॉल न करें, बल्कि हो सके तो फोन स्विच ऑफ कर दें l

    instructions-at-petrol-pumps

    Image Source:google.com

    4. डीजल या पेट्रोल डलवाते समय वाहन से नीचे उतर जायें l

    5. प्लास्टिक या कांच की बोतलों में डीजल या पेट्रोल को लेना खतरनाक है, ऐसा न करें l

    इस प्रकार हमने पढ़ा कि एक पेट्रोल पम्प मालिक के लिए यह अनिवार्य है कि वह पम्प पर मुख्य मूलभूत सुविधाएँ जैसे पानी, हवा, शौचालय और प्राथमिक मेडिकल सहायता मुफ्त में अपने ग्राहकों को उपलब्ध कराये l

    20 ऐसे कानून और अधिकार जो हर भारतीय को जानने चाहिए

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK