Comment (0)

Post Comment

5 + 4 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.

    विश्व के सभी सफल मून मिशनों की सूची

    अब तक 3 देशों द्वारा चंद्रमा की अँधेरी साइड पर 20 मून मिशन सफलतापूर्वक लॉन्च किए गए हैं. अगर चंद्रयान -2 आंशिक रूप से विफल नहीं होता तो भारत ऐसा कारनामा करने वाला चौथा देश हो सकता था. पहला सफल मून मिशन ‘लूना 2’ था जिसे 12 सितंबर 1959 को सोवियत संघ (USSR) द्वारा लॉन्च किया गया था. आइये इस लेख में अन्य चन्द्र मिशनों के बारे में जानते हैं.
    Created On: Nov 2, 2019 14:10 IST
    Modified On: Nov 2, 2019 15:56 IST
    Moon Mission
    Moon Mission

    विज्ञान की प्रगति के साथ-साथ अंतरिक्ष मिशनों की संख्या भी बढ़ रही है. चंद्रमा की सतह और जलवायु का अध्ययन करने के लिए कई अंतरिक्ष मिशन लांच किये गए हैं. इस दिशा में सबसे पहला सफल परीक्षण (लूना 2) सोवियत संघ द्वारा किया गया था.

    लूना 2; किसी अन्य खगोलीय पिंड पर उतरने वाला पहला अंतरिक्ष यान था. लूना 2 को 12 सितंबर, 1959 को लॉन्च किया गया था और 14 सितंबर, 1959 को चंद्रमा पर उतरा था. वर्ष 1966 में, लूना 9 नियंत्रित सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला पहला अंतरिक्ष यान था.

    अब तक 6 मानवयुक्त मून मिशन अकेले यूएसए द्वारा सफलतापूर्वक आयोजित किए गए हैं. चंद्रमा पर पहला मानवयुक्त मिशन 16 जुलाई 1969 को अपोलो- 11 लॉन्च किया गया था. नील आर्मस्ट्रांग चंद्रमा पर चलने वाले पहले व्यक्ति थे. हालाँकि अभी तक 12 लोग चाँद पर ‘पद यात्रा’ कर चुके हैं. 

    चंद्रमा के डार्क साइड पर सफल मिशनों की सूची इस प्रकार है;

    मून मिशन

    देश

    लांच की तारिख

    1. लूना 2

    सोवियत संघ

    12 सितम्बर , 1959

    2. लूना 9

    सोवियत संघ

    31 जनवरी , 1966

    3. सर्वेयर 1

    अमेरिका

    30 मई, 1966

    4. लूना 13

    सोवियत संघ

    21 दिसम्बर, 1966

    5. सर्वेयर  3

    अमेरिका

    17 अप्रैल,  1967

    6. सर्वेयर  5

    अमेरिका

    8 सितम्बर, 1967

    7. सर्वेयर  6

    अमेरिका

    7 नवम्बर, 1967

    8. सर्वेयर  7

    अमेरिका

    7 जनवरी, 1968

    9. अपोलो 11 (मानवयुक्त)

    अमेरिका (पहला मानवयुक्त मिशन)

    16 जुलाई, 1969

    10. अपोलो 12 (मानवयुक्त)

    अमेरिका

    14 नवम्बर, 1969

    11. लूना 16

    सोवियत संघ

    12 सितम्बर, 1970

    12. लूना 17

    सोवियत संघ

    10 सितम्बर, 1970

    13. अपोलो 14 (मानवयुक्त)

    अमेरिका

    31 जनवरी, 1971

    14. अपोलो 15 (मानवयुक्त)

    अमेरिका

    26 जुलाई 1971

    15. लूना 20

    सोवियत संघ

    14 फ़रवरी, 1972

    16. अपोलो 16 (मानवयुक्त)

    अमेरिका

    16 अप्रैल, 1972

    17. अपोलो 17 (मानवयुक्त)

    अमेरिका

    7 दिसम्बर, 1972

    18. लूना 20

    सोवियत संघ

    8 जनवरी, 1973

    19. चांग ई 3

    चीन

    1 दिसम्बर, 2013

    20. चांग ई 4

    चीन

    7 दिसम्बर, 2018

    मून मिशनों की उपरोक्त सूची से पता चलता है कि अभी तक सभी मानवयुक्त मून मिशन अमेरिका द्वारा लांच किए गये हैं और कोई भी अन्य देश अब तक इस उपलब्धि को हासिल नहीं कर सका है.

    यह बहुत आश्चर्य की बात है कि रूस ने अंतरिक्ष की दौड़ शुरू की लेकिन वह अब तक एक भी ‘मानवयुक्त मून मिशन’ भेजने में सफल नहीं हो सका है हालाँकि चीन ने भी मून मिशन में सफलता प्राप्त कर ली है.

    भारत ने भी अन्तरिक्ष की दुनिया में एक मुकाम हासिल करते हुए 22 अक्टूबर 2008 को चन्द्रमा की सतह पर देश का पहला अंतरिक्ष उपग्रह (चंद्रयान-1) भेजा था और यह 30 अगस्त, 2009 तक सक्रिय रहा था.

    चंद्रयान-1 को चन्द्रमा तक पहुँचने में 5 दिन लगे और चन्द्रमा की कक्षा में स्थापित करने में 15 दिनों का समय लग गया था. चंद्रयान ऑर्बिटर का मून इम्पैक्ट प्रोब (MIP), 14 नवंबर 2008 को चन्द्रमा की सतह पर उतरा था और भारत चंद्रमा पर अपना राष्ट्रीय झंडा लगाने वाला चौथा देश बन गया था.

    उम्मीद है कि भारत जल्दी ही चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना झंडा फहराने में सफलता प्राप्त करेगा और मानवयुक्त विमान भी भेजेगा.

    Chandrayaan-2 Moon Mission भारत के लिए महत्वपूर्ण क्यों है?

    बैलगाड़ी एवं साइकिल द्वारा रॉकेट ढ़ोने से लेकर इसरो का अबतक का सफरनामा