Search

भारत के वृक्षवाटिकाओ (Sacred Groves) की सूची

भारतीय संस्कृति में माना जाता है कि पेड़ों में मनुष्यों की तरह जीवन है जो हमारी तरह दर्द और खुशी को महसूस करते हैं इसलिए पेड़ और उनके उत्पाद हमारे अनुष्ठानों और समारोहों का एक विशिष्ट हिस्सा हैं। भारत अपने विविधता के लिए जाना जाता है जिसमे पवित्र वनस्पतियों और पशुवर्ग की विविधता के महत्वपूर्ण भंडार हैं जो स्थानिये समुदायों द्वारा संरक्षित हैं। हम यहाँ भारत के वृक्षवाटिकाओ (Sacred Groves) की सूची दे रहे हैं, जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।
Aug 17, 2017 17:20 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

भारतीय संस्कृति में माना जाता है कि पेड़ों में मनुष्यों की तरह जीवन है जो हमारी तरह दर्द और खुशी को महसूस करते हैं इसलिए पेड़ और उनके उत्पाद हमारे अनुष्ठानों और समारोहों का एक विशिष्ट हिस्सा हैं। भारत अपने विविधता के लिए जाना जाता है जिसमे पवित्र वनस्पतियों और पशुवर्ग की विविधता के महत्वपूर्ण भंडार हैं जो स्थानिये समुदायों द्वारा संरक्षित हैं।

Indian Sacred Groves

हम यहाँ भारत के वृक्षवाटिकाओ (Sacred Groves) की सूची दे रहे हैं, जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

भारत के वृक्षवाटिकाओ (Sacred Groves) की सूची

राज्य

पवित्र पेड़ो के लिए स्थानीय शब्द

पवित्र पेड़ो की संख्या

आंध्र प्रदेश

पविथ्रावना

580

अरुणाचल प्रदेश

गुम्पा वन (बौद्ध मठों से जुड़े)

101

गोवा

देवराई, पॅन

55

झारखंड

साराना

29

कर्नाटक

देवारा कडु

1531

केरल

कवु, सारा कवु

299

महाराष्ट्र

देव्राई, देवहत्ती, देवगड़ी

2820

मणिपुर

गाखाप, मौहक (पवित्र बांस भंडार)

166

मेघालय

की लॉ लिंगदोह, की लॉ क्नटांग, की लॉ न्याम

101

उड़ीसा

जाहेरा, ठाकुराम्मा

169

पुडुचेरी

कोविल कडु

108

राजस्थान

ऑरान्स, केनक्रीस, जोगमाया

560

तमिलनाडु

स्वामी शोल, कोइकाडू

752

उत्तराखंड

देव भूमि, बगयाल (पवित्र अल्पाइन घास के मैदान)

22

पश्चिम बंगाल

गरमथन, हरिथान, जाहेरा, सबित्रीठान, सांतलबीरथान

39

उपरोक्त सूची पाठकों के सामान्य ज्ञान की बढ़ोतरी में सहायक होगा क्योंकि इसमें हमने भारत के वृक्षवाटिकाओ (Sacred Groves) के बारे में विवरण को शामिल किया हैl

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय: समग्र अध्ययन सामग्री