Search

मानव शरीर में अमीनो एसिड के कार्य क्या हैं

एमिनो एसिड का इस्तेमाल आपके शरीर के हर कोशिका में किया जाता है ताकी आप जीवित रह सके. सभी जीवों को कुछ प्रोटीन की आवश्यकता होती है, चाहे वे मांसपेशियां हो या फिर कोशिका. हमारे कोशिकाओं, मांसपेशियों और ऊतकों का एक बड़ा हिस्सा अमीनो एसिड का ही बना होता है, जिसका अर्थ है कि वे कई महत्वपूर्ण शारीरिक कार्यों को पूरा करते हैं. आइये इस लेख के माध्यम से अमिनो एसिड या अमिनो अम्लों के कार्यों के बारें में अध्ययन करते हैं.
Nov 28, 2017 15:31 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

मानव शरीर का बीस प्रतिशत भाग प्रोटीन से बना होता है. लगभग सभी जैविक प्रक्रियाओं में प्रोटीन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और अमीनो एसिड इसके निर्माण कार्य में मदद करता हैं.

What are the functions of Amino acid in human body
Source: www.assignmentpoint.com
हमारे कोशिकाओं, मांसपेशियों और ऊतकों का एक बड़ा हिस्सा अमीनो एसिड का बना होता है, जिसका अर्थ है कि वे कई महत्वपूर्ण शारीरिक कार्यों को पूरा करते हैं, जैसे कोशिकाओं को उनकी संरचना देना वे परिवहन और पोषक तत्वों के भंडारण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. अमीनो एसिड का अंग अंगों, ग्रंथियों, रंध्र और धमनियों के कार्य पर भी प्रभाव होता है. वे उपचार घावों और ऊतकों की मरम्मत, विशेष रूप से मांसपेशियों, हड्डियों, त्वचा और बालों के साथ-साथ चयापचय के सिलसिले में उत्पन्न सभी प्रकार के अपशिष्ट जमाओं को हटाने के लिए आवश्यक हैं. इस लेख के माध्यम से अमिनो एसिड या अमिनो अम्लों के कार्यों के बारें में अध्ययन करेंगे.
अमीनो एसिड के कार्य
1. ये प्रोटीन्स की एकलकी इकाइयों (monomeric units) का काम करते हैं.
2. इनकी पार्श्व श्रंखलाओं (R समूहों) पर प्रोटीन्स की आक्रति, प्रक्रति, लोच और दृढ़ता, स्थिरता, रसायनिक अभिक्रियाशीलता, आदि निर्भर करती हैं.
3. आवश्यकतानुसार प्रोटीन्स (H+) को देकर या लेकर ये अम्ल-क्षार संतुलन बनाए रखते हैं.

Structure of Amino acid
Source: www.nutrientsreview.com

प्रोटीन और उनके कार्यों की सूची
4. प्रक्रति की नाइट्रोजन के जीव तंत्र में प्रवेश के लिए ग्लूटामेट तथा ग्लुटामीन प्रवेश द्वार (gateway) का काम करते हैं.
5. निरर्थक अमीनों अम्लों के एमिनोकरण (deamination) के बाद बचे हुए अल्फा-कीटो अम्ल (alpha-keto acid) भाग से उर्जा प्राप्त की जाती है.
6. डीऐमीनेशन के फलस्वरूप कीटोजीनी (ketogenic) अमीनो अम्लों (ल्युसीन तथा लाइसीन) से ऐसीटोऐसीटेट तथा ऐसीटल सहएन्जाइम ए बनते हैं.  डीऐमीनेशन के बाद ये, gluconeogenesis प्रक्रिया के अंतर्गत, ग्लूकोस के संश्लेषण हेतु आवश्यक कार्बन परमाणु प्रदान करते हैं. कुछ अमीनो अम्ल  कीटोजीनी और ग्लूकोजीनी दोनों होते हैं. ग्लूकोस की कमी होने पर मस्तिष्क की कोशिकाएं ल्यूसीन से कीटोनकाय बनाकर इनसे जैव उर्जा प्राप्त करती हैं.
7. ग्लाईसीन से पोरफाइरिन वलय (prophyrin ring) बनती है जो हीमोग्लोबिन, साइटोक्रोम्स तथा पर्णहरिम या क्लोरोफिल के अणुओं की रचना में महत्वपूर्ण भाग लेती है.

Benefits of Amino acid
Source: www.images.tutorvista.com
8. ग्लाईसीन, आर्जिनीन तथा मिथिओनीन से व्युत्पन्न phosphocreatine कंकाल पेशियों में उर्जा के भण्डारण का काम करती हैं.
9. ग्लाइसीन, ग्लूटामेट एवं सिस्टीन से व्युत्पन्न Glutathione सभी कोशिकाओं में अपचायक ( reducing agent) का काम करता है, जीव कलाओं के आर-पार अमीनो अम्लों के आवागमन में सहायता करता है तथा  लाल रूधिराणुओं की कोशिकाकला के अनुरक्षण (maintenance) का काम करता है.
10. कुछ अमीनो अम्लों से महत्वपूर्ण प्रतिजैविक (antibiotic) पदार्थों का संश्लेषण होता है.
11. ट्रिप्टोफैन से विटामिन B5, मेलाटोनिन (melatonin- निद्रा-प्रेरक पदार्थ), सिरोटोनिन (serotonin- तंत्रिसंचारी- neurotransmitter), आदि व्युत्पन्न होते हैं.

What are amino acid
Source: www. images.slideplayer.com

क्या आपको पता है, मस्तिष्क में “डिलीट” बटन होता है?
12. टाइरोसीन से थायरोक्सिन (thyroxine) तथा एपिनेफ्रिन (epinephrine) हॉर्मोन तथा डोपामाइन (dopamine) नामक तंत्रिसंचारी पदार्थ व्युत्पन्न होते हैं. यह एक ऐसा अमीनो अम्ल है, जिसका कार्य मस्तिष्क में एड्रेलिन, नोरएड्रेलिन और डोपामाइन आदि न्यूरोट्रांसमीटर्स का निर्माण करना है. इसकी कमी होने से व्यक्ति स्वयं को दुखी और सुस्त महसूस करता है. टायरोसीन से शारीरिक सतकर्ता और उर्जा को बढ़ाने में मदद मिलती है.
13. ग्लूटामेट का कार्बोक्सिलहरण (decarboxylation) से महत्वपूर्ण तंत्रिसंचारी पदार्थ, gama- aminobutyrate – GABA) व्युत्पन्न होते हैं.
14. हिस्टिडीन महत्वपूर्ण उभयप्रतिरोधी (buffer) होता है. इससे व्युत्पन्न हिस्टामीन (histamine) नामक प्रोटीन एलर्जी (allergy) प्रतिक्रियाओं का नियंत्रण करती है.
15. एलानीन (Alanine) से विटामिन B3 बनता है.
16. सेरीन से लिपिड्स के नाइट्रोजनीय घटक बनते हैं. इसी से व्युत्पन्न selenocysteine प्रोटीन्स की पोलीपपेप्टाइड श्रीख्लाओं के संश्लेषण को mRNA के UGA कोडोन (codon) पर रोकती है.
17. एस्पर्टेट तथा ग्लूटामेट, धात्विक एन्जाइमों में धातु परमाणुओं का वहन करते हैं.
उपरोक्त लेख से अमीनो क्या होता है अथवा अमीनो एसिड के क्या कार्य हैं के बारें में ज्ञात हुआ हैं.

क्या आप जानते हैं कि किन मानव अंगों को दान किया जा सकता है