1. Home
  2. Hindi
  3. IAS Posting: IAS को क्या मिलती है पहली पोस्ट, कौन सा है सबसे बड़ा पद, जानें

IAS Posting: IAS को क्या मिलती है पहली पोस्ट, कौन सा है सबसे बड़ा पद, जानें

IAS Posting: देश की सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं में शुमार है सिविल सेवा। इसमें भी अधिकांश युवाओं का सपना आईएएस बनने का होता है। लेकिन, क्या आपको पता है कि आईएएस बनने के बाद पहली पोस्ट कौन सी मिलती है और सबसे ऊंची पोस्ट कौन सी होती है। इस लेख के माध्यम से हम इन सभी बातों के बारे में जानेंगे। 

IAS Posting:  IAS को क्या मिलती है पहली पोस्ट, कौन सा है सबसे बड़ा पद, जानें
IAS Posting: IAS को क्या मिलती है पहली पोस्ट, कौन सा है सबसे बड़ा पद, जानें

IAS Posting: देश की प्रतिष्ठित सेवााओं में शुमार सिविल सेवा क्रैक कर अधिकांश युवाओं का सपना आईएएस बनने का होता है। हालांकि, इस सपने को बहुत ही कम युवा सच कर पाते हैं। क्योंकि, इस परीक्षा को पास करना बहुत मुश्किल होता है।  यही वजह है कि यह परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। हालांकि, क्या आपने कभी सोचा है कि सिविलि सेवा क्रैक करने के बाद जब कोई व्यक्ति आईएएस बनता है, तो सबसे पहले उसे क्या पोस्ट मिलती है। वहीं, एक आईएएस की सबसे बड़ी पोस्ट कौन सी होती है। यदि नहीं, तो आज हम आपको इस लेख के माध्यम से एक आईएएस के सफर के बारे में बताएंगे, जिसमें वह परीक्षा को पास करने के बाद किस तरह और किन पदों पर होता हुआ करियर में आगे बढ़ता है। 

 

सबसे पहले तो हम यह जान लेते हैं कि सिविल सेवा क्रैक करने के बाद सभी अधिकारियों की ट्रेनिंग मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन(LBSNAA) में होती है। यहां फाउंडेशन कोर्स के बाद आईएएस को छोड़कर बाकी सेवाओं के अधिकारी अपनी संबंधित अकादमी में चले जाते हैं। सिर्फ आईएएस अधिकारी ही यहां पर अपना पूरा प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं। 

 

एकेडमी से प्रशिक्षण पूरा होने के बाद अधिकारियों का आवंटित कैडर में जिला प्रशिक्षण करता है। यहां प्रशिक्षण पूरा होने के बाद अधिकारी राज्य में उप जिलाधिकारी के रूप में अपने करियर की शुरुआत करते हैं, जिसे हम एसडीएम भी कहते हैं। एसडीएम की नियुक्ति मिलने पर आईएएस अधिकारी को तहसील की कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी होती है। 

 

जिला प्रशिक्षण के बाद केंद्र में तीन माह तक काम

जिला प्रशिक्षण पूरा होने के बाद आईएएस अधिकारियों को 3 महीने के लिए केंद्र सरकार में काम करने के लिए भेजा जाता है। यहां अधिकारियों को सहायक सचिव का पद दिया जाता है। यहां क बाद उन्हें किसी अन्य विभाग में अन्य पदों पर जिम्मेदारी दी जाती है। आपको यह भी बता दें कि आईएएस अधिकारियों को

मंत्रालयों में भी नियुक्त किया जाता है। यहां काम के दौरान उन्हें प्रतिनियुक्ति पर विश्व बैंक, द एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट बैंक,  एशियन डेवलपमेंट बैंक,  इंटरनेशनल मानेट्री फंड और यूनाइटेड नेशन और उसकी एजेंसियों में महत्वपूर्ण काम दिए जाते हैं। इससे अधिकारियों को विदेशों के साथ भारत का समंव्य बनाने का मौका मिलता है।  



अब हम आपको आईएएस अधिकारी को फील्ट पोस्टिंग में मिलने वाले कुछ पदों के बारे में बताने जा रहे हैं। 

 

आईएएस अधिकारी को फील्ड पोस्टिंग में मिलने वाले पद

 

-उप जिलाधिकारी

-अपर जिलाधिकारी

-जिलाधिकारी

-मंडलायुक्त

 

आईएएस को राज्य सरकार में मिलने वाले पद

-​​अवर सचिव

-उप सचिव

-संयुक्त सचिव

-विशेष सचिव

-सचिव

-प्रमुख सचिव

-मुख्य सचिव

आपको बता दें कि राज्य स्तर पर मुख्य सचिव आईएएस अधिकारी का सर्वोच्च पद होता है, जो कि सरकार में रहकर पूरे राज्य के स्तर पर महत्वपूर्ण नीतियों में शामिल होता है।

 

आईएएस को ​​केंद्र सरकार में मिलने वाले पद

-सहायक सचिव

-अवर सचिव

-उप सचिव

-निदेशक

-संयुक्त सचिव

-अपर सचिव

-सचिव

-भारत के कैबिनेट सचिव

 

यानि भारत सरकार में कैबिनेट सचिव एक आईएएस अधिकारी के लिए सबसे ऊंचा पद होता है। यहां बैठकर अधिकारी पूरे देश की नीति निर्माता का भागीदार होता है और उसके द्वारा तैयार की जाने वाली नीतियों का पूरे देश पर असर पड़ता है। यही वजह है कि यह पद कैबिनेट में प्रशासनिक स्तर पर सबसे बड़ा पद होता है, जहां हर आईएएस अधिकारी नहीं पहुंचता है। क्योंकि, यहां तक पहुंचने में काफी समय लग जाता है। वहीं, कुछ अधिकारी अपनी उम्र सीमा की वजह से पहले ही रिटायर हो जाते हैं। ऐसे में जो व्यक्ति बहुत कम उम्र में ही आईएएस अधिकारी बना होगा, उसके इस पद पर पहुंचने की संभावना अधिक रहती है। 

 

पढ़ेंः IFS Success Story: Graduation के साथ शुरू की तैयारी, 22 साल की उम्र में IFS बनीं मुस्कान जिंदल