भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स में उपलब्ध कोर्सेज और करियर्स

बायोइंफॉर्मेटिक्स में बायोलॉजी के साथ कंप्यूटर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है और मॉलिक्यूलर बायोलॉजी में बायोइंफॉर्मेटिक्स का बहुत इस्तेमाल होता है.

Created On: Feb 2, 2021 20:10 IST
Best Career Options in Bioinformatics Field
Best Career Options in Bioinformatics Field

आजकल हमारी डेली लाइफ के तकरीबन सभी क्षेत्रों में विज्ञान का असर दिखाई देता है. पूरी दुनिया इन दिनों विज्ञान और टेक्नोलॉजी के विकास पर पूरा फोकस कर रही है. ऐसे में अगर हम बायोइंफॉर्मेटिक्स के बारे में बात करें तो इसमें मॉलिक्यूलर लेवल - जींस या प्रोटीन लेवल - पर सभी सजीव अवयवों के अध्ययन के लिए इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है. बायोइंफॉर्मेटिक्स दरअसल एक इंटर-डिसिप्लिनरी फील्ड है जिसमें विशाल बायोलॉजिकल डाटा के एनालिसिस के लिए मैथमेटिकल मॉडलिंग, स्टेटिस्टिक्स, प्रोग्रामिंग और एनालिटिकल मेथड्स का उपयोग किया जाता है. बायोइंफॉर्मेटिक्स मेडिसन और हेल्थ केयर इंडस्ट्री में असरदार प्रोडक्ट्स तैयार करने में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान देता है. भारत  में भी बायोइंफॉर्मेटिक्स की विभिन्न फ़ील्ड्स में रोज़गार के अवसर लगातार बढ़ रहे हैं. आइये इस आर्टिकल में भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स में उपलब्ध विभिन्न कोर्सेज और करियर्स के बारे में जरुरी जानकारी हासिल करें:

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स कोर्सेज के लिए एलिजीबिलिटी क्राइटेरिया और एंट्रेंस एग्जाम्स

•    किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशन बोर्ड से साइंस विषय सहित अपनी 12वीं क्लास पास करने वाले स्टूडेंट्स बायोइंफॉर्मेटिक्स में बैचलर डिग्री कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं.
•    किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से बायोइंफॉर्मेटिक्स में बैचलर डिग्री हासिल करने वाले स्टूडेंट्स इस फील्ड में मास्टर डिग्री कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं.
•    किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से बायोइंफॉर्मेटिक्स में मास्टर डिग्री हासिल करने वाले स्टूडेंट्स इस फील्ड में एमफिल में एडमिशन ले सकते हैं.
•    एमफिल पूरी करने के बाद स्टूडेंट्स यदि चाहें तो अपने पसंदीदा सब्जेक्ट में पीएचडी कर सकते हैं.
•    हमारे देश में बायोइंफॉर्मेटिक्स की फील्ड में विभिन्न अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स को राज्य और राष्ट्रीय स्तर के विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम्स पास करने होते हैं. कुछ प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम्स हैं – गेट, सीएसआईआर/ यूजीसी नेट, जेआरएफ, डीबीटी – जेआरएफ, आईसीएमआर – जेआरएफ आदि.

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स के प्रमुख एजुकेशनल कोर्सेज

हमारे देश में बायोइंफॉर्मेटिक्स की फील्ड से संबद्ध एजुकेशनल कोर्सेज को मुख्य रूप से 3 भागों में बांटा जा सकता है – बैचलर, मास्टर और डॉक्टोरल  लेवल के कोर्सेज. नीचे आपकी सहूलियत के लिए कुछ प्रमुख कोर्सेज की लिस्ट पेश है:

बैचलर डिग्री कोर्सेज:

भारत में इन अंडरग्रेजुएट कोर्सेज की अवधि 3 वर्ष है.

  1. बीएससी - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  2. बीटेक - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  3. बीएससी (ऑनर्स) - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  4. बीई – बायोइंफॉर्मेटिक्स
  5. सर्टिफिकेट कोर्स - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  6. एडवांस्ड डिप्लोमा - बायोइंफॉर्मेटिक्स

मास्टर डिग्री कोर्सेज:

भारत में इन पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज की अवधि 2 वर्ष है.

  1. एमएससी - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  2. एमटेक - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  3. पीजी डिप्लोमा - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  4. एमएससी (ऑनर्स) - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  5. एमएस - बायोइंफॉर्मेटिक्स
  6. एमई - बायोइंफॉर्मेटिक्स

डॉक्टोरल  कोर्सेज:

भारत में आमतौर पर डॉक्टोरल  कोर्स की अवधि 3 साल से 5 साल तक होती है.

  1. पीएचडी - बायोइंफॉर्मेटिक्स

स्पेशलाइजेशन्स स्किल सेट:

  1. आर्किटेक्चर एंड कंटेंट ऑफ़ जीनोम
  2. मेटाबोलिक कम्प्यूटिंग
  3. कॉम्प्लेक्स सिस्टम एनालिसिस/ जेनेटिक सर्किट
  4. डाटा माइनिंग
  5. डीएनए, आरएनए, प्रोटीन सीक्वेंस एंड स्ट्रक्चर में इनफॉर्मेशन कंटेंट
  6. न्यूक्लिक एसिड और प्रोटीन सीक्वेंस एनालिसिस.

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स के लिए जरुरी स्किल सेट

बायोइंफॉर्मेटिक्स की फील्ड में विभिन्न डिग्री कोर्सेज पूरे कर लेने के बावजूद कैंडिडेट्स के पास कुछ जरुरी पेशेवर स्किल्स होने चाहिए तभी वे इस फील्ड में अपना सफल करियर बना सकते हैं. कुछ खास स्किल्स निम्नलिखित हैं:

  1. मॉलिक्यूलर बायोलॉजी और जेनेटिक्स की अच्छी जानकारी.
  2. सॉफ्टवेयर एंड प्रोग्रामिंग स्किल्स: सी, सी++, जावा, आर, मैटलैब, पर्ल बश, पाइथन, गैलेक्सी.
  3. स्टेटिस्टिक्स: आर के साथ अन्य बायो-स्टेटिस्टिकल सॉफ्टवेयर.
  4. डाटा माइनिंग और डाटा विजूअलाइजेशन स्किल्स.
  5. टूल्स: ब्लास्ट, बीलैट, बायोएडिट, अल्गोरिथ्म्स और अन्य संबद्ध क्लस्टरिंग टूल्स.
  6. अन्य जरुरी स्किल्स: कम्युनिकेशन, टीम वर्क, पेशेंस और रिसर्च से संबद्ध स्किल्स.

भारत में इन प्रमुख कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज से करें बायोइंफॉर्मेटिक्स कोर्सेज

  1. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  2. सीएमएस कॉलेज ऑफ साइंस एंड कॉमर्स, कोयंबटूर
  3. मदुरै कामराज यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु
  4. राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी, पुणे
  5. होली क्रॉस कॉलेज, तिरुचिरापल्ली
  6. पेरियार विश्वविद्यालय, सेलम
  7. बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी
  8. स्टेला मैरिस कॉलेज, चेन्नई
  9. वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, वेल्लोर
  10. गीतम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, विजाग
  11. डीवाई पाटिल बायोटेक्नोलॉजी एंड बायोइंफॉर्मेटिक्स इंस्टीट्यूट, पुणे
  12. डीएवी कॉलेज, चंडीगढ़
  13. एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा
  14. आईआईआईटी, हैदराबाद
  15. आईआईएआर, गांधीनगर
  16. मणिपाल यूनिवर्सिटी
  17. वेल्स यूनिवर्सिटी, चेन्नई

बायोइंफॉर्मेटिक्स कोर्सेज के लिए विदेशी कॉलेज और यूनिवर्सिटीज

  1. यूनिवर्सिटी ऑफ कोपेनहेगन
  2. यूनिवर्सिटी ऑफ क्वींसलैंड
  3. यूनिवर्सिटी ऑफ न्यू साउथ वेल्स
  4. स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी
  5. हार्वर्ड यूनिवर्सिटी

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स के प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स

  1. प्रोटिओमिक्स
  2. बायोइंफॉर्मेटिक्स सॉफ्टवेयर डेवलपर
  3. नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर/ एनालिस्ट
  4. कंप्यूटेशनल बायोलॉजिस्ट
  5. डाटाबेस प्रोग्रामर
  6. साइंस टेक्नीशियन
  7. रिसर्चर
  8. सीक्वेंस एनालिसिस
  9. फार्माकोलॉजी
  10. कम्प्यूटेशनल केमिस्ट्स
  11. फार्माकोजीनोमिक्स
  12. बायो एनालिस्ट
  13. कंटेंट एडिटर
  14. बायोइंफॉर्मेटिशियन
  15. प्रोफेसर साइंस
  16. टेक्नीशियन
  17. रिसर्च असिस्टेंट
  18. बायोइंफॉर्मेटिक्स साइंटिस्ट
  19. बायोइंफॉर्मेटिक्स एनालिस्ट
  20. जूनियर रिसर्च फेलो
  21. रिसर्च साइंटिस्ट/ एसोसिएट
  22. बायोइंफॉर्मेटिक्स सॉफ्टवेयर डेवलपर

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स में मिलने वाला सैलरी पैकेज

हमारे देश में बायोइंफॉर्मेटिक्स की फील्ड में किसी जूनियर रिसर्च फ़ेलो को एवरेज 18 हजार रुपये और सीनियर रिसर्च फ़ेलो को 30 हजार रुपये मासिक सैलरी मिलती है. इस फील्ड में पीएचडी डिग्री होल्डर्स को एवरेज रु. 36 हजार – 40 हज़ार मासिक सैलरी मिलती है. इसी तरह, रिसर्च एसोसिएट को रु. 70 हजार मासिक मिलते हैं. उक्त सभी एकेडेमिक पेशेवरों को 20 – 25% एचआरए भी दिया जाता है. आपके स्किल सेट और कार्य अनुभव का भी आपकी सैलरी पर असर पड़ता है. बायोइंफॉर्मेटिक्स की फील्ड में ग्रेजुएट पेशेवरों को विभिन्न कंपनियां शुरू में रु. 40 हजार – 60 हजार एवरेज सैलरी प्रति माह देती हैं और इस फील्ड में 3 वर्ष से 5 वर्ष तक कार्य अनुभव वाले पेशेवर रु. 10 लाख – 15 लाख सालाना तक कमा सकते हैं.

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स के प्रमुख जॉब प्रोवाइडर्स

  1. जीनोटाइपिक टेक्नोलोजी, बैंगलोर
  2. एप्टिट्यूइंफॉर्मेटिक्स, बैंगलोर
  3. बायोइमेजिन इंडिया, पुणे
  4. बिगटेक, बैंगलोर
  5. जुबिलेंट बायोस, बैंगलोर
  6. रनबैक्सी
  7. जीवीके बायोसाइंसेज
  8. टोरेंट फार्मास्यूटिकल्स
  9. एस्ट्राज़ेनेका रिसर्च सेंटर
  10. बिस्कॉन
  11. डॉ. रेड्डी लैबोरेट्रीज
  12. स्ट्रैंड लाइफ साइंसेज
  13. क्यूराजेन
  14. सेलेरा जीनोमिक्स
  15. एवेस्था गेंगरेन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स टॉप मल्टी-नेशनल जॉब प्रोवाइडर कंपनियां

  1. थर्मो फिशर साइंटिफिक
  2. रॉश
  3. कैबेज
  4. क्यूआईएजीईएन
  5. जीवीके बायोसाइंसेज
  6. डीआरएल

भारत में बायोइंफॉर्मेटिक्स की फील्ड के रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स

  1. इंस्टीट्यूट ऑफ बायोइंफॉर्मेटिक्स, बैंगलोर
  2. इंस्टिट्यूट ऑफ बायोइंफॉर्मेटिक्स एंड एप्लाइड बायोटेक्नोलॉजी, बेंगलोर
  3. बायोइंफॉर्मेटिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, नोएडा
  4. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी), बैंगलोर
  5. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एनिमल बायोटेक्नोलॉजी, हैदराबाद
  6. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
  7. राइस जीनोम इनिशिएटिव डिपार्टमेंट ऑफ प्लांट मॉलिक्यूलर बायोलॉजी, दिल्ली

 जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

भारत में ये नए कोर्सेज करके संवारें अपना करियर, पायें अच्छी सैलरी

कंप्यूटर इंजीनियरिंग के बाद आपके लिए टॉप करियर ऑप्शन्स

इंडियन स्टूडेंट्स और प्रोफेशनल्स के लिए नैनो टेक्नोलॉजी कोर्सेज और करियर्स

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

2 + 1 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.