Search

NIA में SSC CGL सब– इंस्पेक्टर: जॉब प्रोफाइल और प्रोमोशन पॉलिसी

संयुक्त स्नातक स्तर (सीजीएल) परीक्षा के माध्यम से कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) प्रमुख कानून प्रवर्तन निकायों में से एक राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) में सब– इंस्पेक्टर (एसआई) के पदों पर भर्ती करता है।

Feb 26, 2018 18:59 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
SSC CGL NIA profile
SSC CGL NIA profile

संयुक्त स्नातक स्तर (सीजीएल) परीक्षा के माध्यम से कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) प्रमुख कानून प्रवर्तन निकायों में से एक राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) में सब– इंस्पेक्टर (एसआई) के पदों पर भर्ती करता है। एनआईए के सब–इंस्पेक्टर को शुरुआत में कार्यालय के काम की जिम्मेदारी दी जाती है फिर बाद के वर्षों में उन्हें अपने वरिष्ठों के साथ छापेमारी टीम का भी हिस्सा बनना होता है। यह जॉब प्रोफाइल चुनौतीपूर्ण और संकटभरा है क्योंकि इसमें आतंकवाद से संबंधित  अपराधों की जांच का भी काम मिलता है। एसएससी सीजीएल भर्ती परीक्षा पास करने के बाद इच्छुक उम्मीदवार एनआईए में सब– इंस्पेक्टर का पद प्राप्त कर सकते हैं और इस क्षेत्र में अपने करिअर की शुरुआत कर सकते हैं।

 Banking & SSC eBook

एनआईए के बारे में

एनआईए आतंकवाद का मुकाबला करने वाली एक केंद्रीय एजेंसी है और देश में केंद्रीय आतंकवाद निरोधक कानून प्रवर्तन निकाय के तौर पर काम करती है। 31 दिसंबर 2008 को भारत के संसद पर हुए हमले के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी अधिनियम, 2008 के तहत इस एजेंसी की स्थापना की गई थी।

Take Online Quiz

देश में आतंकवाद का मुकाबला करने वाली स्थायी कानून प्रवर्तन निकाय के रूप में काम करने के लिए 2008 में हुए मुंबई आतंकी हमलों के बाद एनआईए का गठन किया गया था । एनआईए एसएससी सीजीएल परीक्षा के माध्यम से सब– इंस्पेक्टर की भर्ती करता है। इससे पहले वह किसी भी केंद्रीय/ राज्य जांच एजेंसियों जैसे एसपीजी, सीबीआई और आईबी आदि में दो वर्ष तक जांच का अनुभव प्राप्त कर चुके कर्मचारियों की भर्ती किया करता था।

SSC CGL नौकरियां: विभागीय लेखाकार (Divisional Accountant) करियर पथ

एनआईए में एसआई का जॉब प्रोफाइलः

एनआईए का मुख्यालय नई दिल्ली में हैं जहां भर्ती के बाद उम्मीदवारों को नियुक्त किया जाता है। इनकी जॉब प्रोफाइल में शामिल है-

खुफिया अधिकारी और कानून प्रवर्तन प्राधिकरण से संबंधित कार्य

उम्मीदवारों को अक्सर लिपिक अदालती कार्यवाही, विभिन्न व्यक्तियों और संगठनों को समन एवं वारंट जारी करना, मामले विशेष से संबंधित गवाहों एवं पीड़ितों की जांच करना, उन्हें हिरासत में रखना आदि जैसे काम करना होता है।

उन्हें अक्सर छापेमारी के दौरान अपने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ होना होता है और अक्सर ऐसे मामले हिंसक भी हो जाते हैं। एनआईए में काम करने वाले लोग आमतौर पर बड़े आतंकवादी संगठनों और अंतरराष्ट्रीय माफिया एवं नशीली दवाओं के गिरोह के खिलाफ काम करते हैं। यह काफी जोखिम भरा हो सकता है क्योंकि अक्सर फील्ड में गैर–कानूनी लोग काफी सक्रिय रहते हैं।

SSC CGL द्वारा सचिवालय में वरिष्ठ सहायक का वेतन, जॉब प्रोफाइल और प्रमोशन

वेतनमान

वेतन अच्छा मिलता है और पोस्टिंग सुदूर स्थान पर भी दी जा सकती है या देश के किसी भी हिस्से में हिंसा या आतंकवाद से प्रभावित इलाकों में जरूरत के हिसाब से भी दी जा सकती है।

श्रेणी X शहरों के लिए उम्मीदवारों को शुरुआत में 43166/– रु. प्रति माह का वेतन मिलता है।

श्रेणी Y शहरों में वेतन 39492/- प्रति माह और श्रेणी Z शहरों में वेतन 37664/– रु. प्रति माह होता है।

उम्मीदवारों को एक वर्ष में 13 माह का वेतन दिया जाता है और पूरे करिअर में काफी भत्ते भी मिलते हैं।

विदेश मंत्रालय में SSC CGL अधिकारी को प्राप्त होने वाले लाभ

NIA में SI के लिए प्रोमोशन पॉलिसी

एनआईए की पांच शाखाएं हैं– हैदराबाद, गुवाहाटी, कोची, लखनऊ और मुंबई । इनका मुख्यालय नई दिल्ली में है। एनआईए में एसआई पदों के लिए एसएससी सीजीएल परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार की पोस्टिंग किसी भी क्षेत्रीय शाखा में हो सकती है।

प्रोमोशन पॉलिसी इस प्रकार हैः

कागज पर 5 वर्ष की नौकरी पूरी करने से पहले उम्मीदवार को इंस्पेक्टर की रैंक से उपर की रैंक में प्रोमोट करने की अनुमति नहीं है। उस स्तर तक पहुंचने के लिए अधिक समय भी लग सकता है। यह उम्मीदवार के प्रदर्शन और विभाग में उपलब्ध रिक्तियों पर निर्भर करता है।

उच्च पदों पर आईपीएस अधिकारियों और प्रतिनियुक्ति के आधार पर आने वाले उम्मीदवारों की नियुक्ति की जाती है जिससे पद के मामले में उपर पहुंचना थोड़ा कठिन  हो जाता है।

SSC CGL Tax Assistant: वेतन, जॉब प्रोफाइल और कैरियर ग्रोथ

एनआईए में एसआई के तौर पर ज्वाइन करने के बाद प्रथम श्रेणी के राजपत्रित अधिकारी (क्लास वन गैजटेड ऑफिसर) बनने के लिए उम्मीदवारों को कम– से– कम दो प्रोमोशन चाहिए। एसएससी के जरिए आने वालों के लिए विभाग में आगे बढ़ना काफी कठिन है और इसलिए उम्मीदवार अपने पूरे करिअर में 3 से 4 प्रोमोशन की ही उम्मीद कर सकते हैं।

Related Stories