Search
Breaking

जानें SSC CHSL परीक्षा से किन पदों पर होती है भर्ती? योग्यता एवं सैलरी विवरण की पूरी जानकारी

एसएससी सीएचएसएल एग्जाम बेहद महत्वपूर्ण है जो कि सरकारी विभागों में नौकरी के लिए आयोजित किया जाने वाला कॉमन ऐंट्रेंस टेस्ट है जिसके जरिए लोअर डिविजन कलर्क, डाटा एंट्री स्टाफ, कोर्ट क्लर्क जैसी पोस्टों पर हायरिंग की जाती है. इतना अधिक कॉम्पिटिशन होने के बावजूद भी लाखों लोग हर साल इस एग्जाम के लिए अप्लाई करते हैं. इस आर्टिकल के जरिए आप एसएससी सीएचएसएल से जुड़ी तमाम जानकारी ले सकते हैं.

Mar 1, 2019 12:52 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

एसएससी सीएचएसएल एग्जाम बेहद महत्वपूर्ण है जो कि विभिन्न सरकारी विभागों/मंत्रालयों आदि में नौकरी के लिए आयोजित किया जाने वाला कॉमन ऐंट्रेंस टेस्ट है जिसके जरिए लोअर डिविजन कलर्क, डाटा एंट्री स्टाफ, कोर्ट क्लर्क जैसी पोस्टों पर हायरिंग की जाती है. इतना अधिक कॉम्पिटिशन होने के बावजूद भी लाखों लोग हर साल इस एग्जाम के लिए अप्लाई करते हैं. इस आर्टिकल के जरिए आप एसएससी सीएचएसएल से जुड़ी तमाम जानकारी ले सकते हैं ताकि इस बार इस एग्जाम को पास करने में आप कामयाब हों

SSC CHSL के लिए क्वालिफिकेशन

SSC CHSL के लिए के लिए जरूरी है कि आपने कम से कम 12वीं पास की हो. इसके साथ ही अगर आप कंट्रोलर और ऑडिटर जनरल ऑफ इंडिया के ऑफिस में डाटा एंट्री की पोस्ट के लिए अप्लाई करते हैं तो जरूरी है कि आपने मैथेमैटिक्स के साथ 12वीं पास की हो.

SSC CHSL के लिए आयु सीमा

वहीं अगर SSC CHSL के लिए आयु सीमा की बात की जाए तो जरुरी है कि कैंडिडेट की आयु 18 से 27 साल के बीच हो. इसके साथ ही रिजर्व कैटेगरी कैंडिडेट्स को कुछ % छूट भी दी जाती है.

SSC CHSL के लिए एग्जाम पैटर्न
SSC CHSL का एग्जाम तीन भागों में आयोजित किया जाता है. टीयर -1, टीयर – 2 और टीयर – 3. जिसमें MCQ क्वशन पूछे जाते हैं. साथ ही यह एग्जाम इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषाओं में सेट किया जाता है. हर सवाल का गलत जवाब देने पर .50 मार्क्स डिडक्ट किए जाते हैं. आइए जानते हैं SSC CHSL के एग्जाम पैटर्न के बारे में.

टीयर – 1 (कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम)

टीयर -1 कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम होता है. जिसमे वर्बल और नॉन वर्बल क्वशन पूछे जाते हैं. यह क्वशन इंग्लिश, जेनरल इंटेलिजेंस, क्वांटेटिव एप्टीट्यूड और जनरल अवेयरनेस से रिलेटेड होते हैं. हर सेक्शन से कुल 50 क्वशन पूछे जाते हैं और इस एग्जाम को कुल 60 मिनट में पूरा करने का समय मिलता हैं.

टीयर – 2 (डिस्क्रिप्टिव एग्जाम)

टीयर – 2 डिस्क्रिप्टिव एग्जाम एग्जाम है, जिसके जरिए कैंडिडेट के राइटिंग स्किल को टेस्ट किया जाता है. इस एग्जाम में 200-250 वर्ड का एस्से और 150-200 वर्ड का लेटर लिखना होता है. इस एग्जाम को पूरा करने के लिए कुल 20 मिनट दिए जाते हैं जो कि 100 मार्क्स का होता है.

टीयर – 3 (स्किल टेस्ट)

टीयर – 3 स्किल टेस्ट होता है. फाइनल मेरिट लिस्ट इसी के आधार पर बनाई जाती है. इस टेस्ट में कैंडिडेट्स की टीयर-1 और टीयर -2 की परफ़ोर्मेंस के आधार पर शामिल किया जाता है. डाटा एंट्री की पोस्ट के लिए टाइपिंग स्पीड का टेस्ट लिया जाता है जिसके लिए कैंडिडेट 8000 key depression per word लिख सकता हो वहीं कंट्रोलर और ऑडिटर जनरल ऑफ इंडिया के ऑफिस में डाटा एंट्री की पोस्ट के लिए 15000 key depression per word मांगी जाती है. इस टेस्ट के लिए कैंडिडेट को 15 मिनट का समय दिया जाता है.

SSC CHSL के लिए सिलेक्शन प्रोसेस

SSC CHSL का एग्जाम तीन भागों में आयोजित किया जाता है. टीयर -1, टीयर – 2 और टीयर – 3. टीयर – 1 में कैंडिडेट के द्वारा प्राप्त किए गए अंकों के आधार पर टीयर – 2 के लिए सेलेक्ट किया जाता  है वहीं जो कैंडिडेट टीयर -2 का एग्जाम पास कर लेते हैं तो उनकी टीयर-1 और टीयर -2 की परफ़ोर्मेंस के आधार पर उन्हे टीयर- 3 के लिए सेलेक्ट किया जाता है.

SSC CHSL के जरिए कितनी पा सकते हैं सैलरी

  • लोअर डिवीजन क्लर्क/जूनियर सैकेटेरियट असिस्टेंट: पे-बैंड-1 (रु. 5200-20200), ग्रेड-पे: Rs. 1900 (पूर्व-संशोधित)
  • पोस्टल असिस्टेंट/सोर्टिंग असिस्टेंट: पे-बैंड-1 (रु. 5200-20200), ग्रेड-पे: Rs. 2400(पूर्व-संशोधित)
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर (DEO): पे-बैंड-1 (रु. 5200-20200), ग्रेड-पे: Rs.2400 (पूर्व-संशोधित)
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर (DEO),ग्रेड ‘A’: पे-बैंड-1 (रु. 5200-20200), ग्रेड-पे:Rs.2400 (पूर्व-संशोधित)

SSC CHSL के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस

SSC CHSL के लिए आवेदन ऑनलाइन ही भरे जाते हैं, साथ ही को SSC द्वारा निर्धारित एप्लीकेशन फीस भी ऑनलाइन माध्यम से ही भरनी होती है. रिजर्व कैटेगरी कैंडिडेट्स के लिए फीस माफ़ होती है. ऑनलाइन एप्लीकेशन की प्रक्रिया को जानने के लिए आप एसएससी की वेबसाइट पर जाकर वीजिट कर सकते हैं.

Rojgar Samachar eBook

Related Categories

Related Stories