भारत की रामसर स्थलों की सूची में 11 और नाम शामिल, कुल संख्या बढ़कर हुई 75

भारत ने 11 और नए रामसर स्थलों को जोड़ा: भारत ने 11 और आर्द्रभूमियों को रामसर स्थलों का दर्जा दिया है - जो आर्द्र भूमियों के रूप में अंतरराष्ट्रीय महत्व के हैं। 11 और रामसर स्थलों के जुड़ने से भारत अब इनकी कुल संख्या 75 हो गयी है। नए शामिल रामसर स्थलों की सम्पूर्ण जानकारी यहाँ देखें.

11 more wetlands from India get Ramsar Recognition
11 more wetlands from India get Ramsar Recognition

भारत ने 11 और नए रामसर स्थलों को जोड़ा: भारत में स्वतंत्रता के 75वीं वर्षगांठ के शुभ अवसर पर देश में 76316 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर करते हुए 11 नए आर्द्र स्थलों को रामसर आर्द्रभूमि सूची में शामिल किया गया है। इसके साथ भारत में रामसर स्थलों की कुल संख्या बढ़कर 75 हो गई हैं, जो देश में 13,26,677 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर करता है।

11 नए आर्द्र स्थलों में तमिलनाडु में 4, ओडिशा में 3, जम्मू और कश्मीर में 2 और मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र प्रत्येक से एक-एक शामिल हैं। इन स्थलों को नामित किये जाने से आर्द्रभूमियों के संरक्षण और प्रबंधन तथा इनके संसाधनों के सकारात्मक उपयोग में मदद मिलेगी। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने 14 अगस्त को इसकी घोषणा की थी।

रामसर स्थलों में सूचीबद्ध, 11 नए स्थलों का विवरण

आर्द्रभूमि का नाम

हैक्‍टेयर में क्षेत्रफल

संबंधित राज्य

तंपारा झील

300

ओडिशा

हीराकुंड जलाशय

65400

ओडिशा

अंशुपा झील

231

ओडिशा

यशवंत सागर

822.9

मध्‍य प्रदेश

चित्रांगुडी पक्षी अभ्यारण्य

260.47

तमिलनाडु

सुचिन्द्रम थेरूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्स

94.23

तमिलनाडु

वडुवूर पक्षी अभयारण्य

112.64

तमिलनाडु

कांजीरकुलम पक्षी अभयारण्य

96.89

तमिलनाडु

ठाणे क्रीक

6521.08

महाराष्‍ट्र

हाइगम वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्व

801.82

जम्‍मू और कश्‍मीर

शालबुग वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्व

1675

जम्‍मू और कश्‍मीर

11 नये स्थलों का कुल क्षेत्रफल

76316

 

रामसर स्थलों की संख्या में तमिलनाडु शीर्ष पर:

तमिलनाडु में रामसर स्थलों की संख्या किसी अन्य भारतीय राज्य की तुलना में अधिकतम है। तमिलनाडु में रामसर स्थलों की संख्या 14 है, इसके पश्चात उत्तर प्रदेश में रामसर के 10 स्थल हैं। वर्ष 1982 से 2013 के दौरान, रामसर स्थलों की सूची में कुल 26 स्थलों को जोड़ा गया, हालांकि, वर्ष 2014 से 2022 तक, देश में रामसर स्थलों की सूची में 49 नई आर्द्रभूमियों को जोड़ा गया हैं। पश्चिम बंगाल में सुंदरबन भारत का सबसे बड़ा रामसर स्थल है।

रामसर संधि के बारे में:

रामसर साइट आर्द्रभूमि हैं जिन्हें रामसर कन्वेंशन के तहत अंतरराष्ट्रीय महत्व के स्थलों के रूप में नामित किया गया है, जिसे "वेटलैंड्स पर कन्वेंशन" के रूप में भी जाना जाता है। यह यूनेस्को द्वारा स्थापित एक अंतर-सरकारी पर्यावरण संधि 'आर्द्रभूमियों पर अभिसमय' के रूप में भी जाना जाता है और इसका नाम ईरान के रामसर शहर के नाम पर रखा गया है, जहाँ वर्ष 1971 में इस पर हस्ताक्षर किये गए थे।

रामसर संधि पत्र पर हस्ताक्षर के अनुबंध करने वाले पक्षों में से भारत भी एक है। भारत ने 1 फरवरी, 1982 को इस पर हस्ताक्षर किए थे। इस अभिसमय के तहत अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व की आर्द्रभूमि शामिल है।

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play