Search

भारतीय कृषि के बारे में 10 महत्वपूर्ण तथ्य

कृषि अनादि कल से भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ रही है, आज भी है और उम्मीद है आगे भी रहेगी | सरकार का मुख्य ध्यान अब अर्थव्यवस्था में विनिर्माण क्षेत्र के हिस्से को वर्तमान के16% से बढाकर 25% करना है | यह बात सर्वविदित है कि विनिर्माण क्षेत्र का विकास कृषि के बिना नही होगा | इस लेख में आप भारतीय अर्थव्यवस्था से जुड़े 10 जरूरी तथ्यों के बारे में पढेंगे|
Dec 9, 2016 16:27 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

कृषि अनादि कल से भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ रही है, आज भी है और उम्मीद है आगे भी रहेगी | सरकार का मुख्य ध्यान अब अर्थव्यवस्था में विनिर्माण क्षेत्र के हिस्से को वर्तमान के16% से बढाकर 25% करना है | यह बात सर्वविदित है कि विनिर्माण क्षेत्र का विकास कृषि के बिना नही होगा | इस लेख में आप भारतीय अर्थव्यवस्था से जुड़े 10 जरूरी तथ्यों के बारे में पढेंगे|

1. भारत में विभिन्न फसलों के अंतर्गत सिंचित क्षेत्र-

भारत में कुल कृषि योग्य भूमि 160 मिलियन हेक्टेयर (395 लाख एकड़) है। विश्व बैंक के अनुसार, भारत में कुल कृषि भूमि में केवल 35% भूमि ही सिंचित है |

क्र. सं.

फसलें

सिंचित क्षेत्र% में (2011-12)

1.

चावल

58.7

2.

गेहूं

92.9

3.

गन्ना

94.3

4.

तिलहन

27.6

5.

दलहन

16.1

6.

कपास

35.9

7.

ज्वार

9.7

8.

बाजरा

8.5

9.

मक्का

25.3

10.

जौ

73.3

11.

कुल अनाज

55.4

12.

कुल खाद्यान्न

49.8

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

2. शीर्ष पांच कृषि योग्य (Cultivable Land) भूमि धारक राज्य-

क्र. सं.

राज्य

क्षेत्रफल (मि.हे.)

1.

राजस्थान

19.5

2.

महाराष्ट्र

18.7

3.

उत्तर प्रदेश

17.7

4.

मध्य प्रदेश

15.66

5.

आंध्र प्रदेश

13.43

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा विधेयक


3. शीर्ष पांच कृषि अयोग्य (Un-cultivable Land) भूमि धारक राज्य-

भारत में क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान सबसे बड़ा राज्य है | भारत में एक मात्र मरुस्थल “थार” यहीं पर पाया जाता है ,इसी कारण यहाँ पर बंजर भूमि का एक बहुत बड़ा विस्तार भी है |

क्र. सं.

राज्य

क्षेत्रफल (मि.हे.)

1.

राजस्थान

4.61

2.

गुजरात

1.97

3.

मध्य प्रदेश

1.17

4.

महाराष्ट्र

0.91

5.

आंध्र प्रदेश

0.69

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

4. भारत में कौन-कौन सी फसलें बोई जाती हैं?

भारत में फसलों को ऋतुओं के आधार पर तीन वर्गों में बांटा गया है; जिन्हें रबी, खरीफ और जायद के नामों से जाना जाता है |

फसल की ऋतुएं

समय|महीने

फसलें

रबी

अक्टूबर-नवम्बर में बुबाई और अप्रैल – मई में कटाई

गेहूं, जौ, चना, मटर,सरसों (शीत  ऋतु की फसलें)

खरीफ

जून-जुलाई में बुबाई और सितम्बर -अक्टूबर में कटाई

चावल, ज्वर, बाजरा,रागी मक्का, जूट, मूंगफली,कपास,सन उड़द, खीरा, तम्बाकू (वर्षा काल की फसलें)

जायद

रबी और खरीफ के बीच की फसलें, मार्च में बोकर जून में काट ली जाती हैं |

खरबूज, तरबूज,खीर, ककड़ी , करेला (गर्मी की फसलें)

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

5. भारत के शीर्ष 5 खाद्यान्न उत्पादक राज्य इस प्रकार हैं-

देश में उत्तर प्रदेश गन्ना, आंवला, आम, आलू और कुल खाद्यान्न उत्पादन में देश में अव्वल नंबर पर है |

राज्य

उत्पादन वर्ष (2011-12)

उत्पादन वर्ष (2013-14)

1.  उत्तर प्रदेश

50.29

50.05

2.  पंजाब

28.38

28.90

3.  मध्य प्रदेश

20.39

24.24

4.    राजस्थान

19.47

22.10

5.  आंध्र प्रदेश

18.36

20.76

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

6. भारत में नारियल के शीर्ष उत्पादक राज्य इस प्रकार हैं-

क्र. सं. (रेंक)

राज्य

कुल उत्पादन का प्रतिशत

1.

तमिलनाडु

31.3%

2.

केरल

26.3%

3.

कर्नाटक

22.8%

4.

आंध्र प्रदेश

NA

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

भारत में सिचाई सुविधाएँ: तथ्यात्मक विश्लेषण

7. भारत के शीर्ष तिलहन उत्पादक राज्य इस प्रकार हैं-

देश के कुल कृषित क्षेत्र के 15% भाग पर तिलहनी फसलें उगायीं जातीं हैं | अर्थात खाद्यान्न वर्ग की फसलों के बाद इनका दूसरा स्थान आता है |

क्र. सं. (रेंक)

राज्य

कुल उत्पादन

1.

गुजरात

 68.4लाख टन

2.

मध्य प्रदेश

66.6 लाख टन

3.

राजस्थान

60.7 लाख टन

4.

महाराष्ट्र

NA

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

8. देश में चीनी मिलों की संख्या इस प्रकार हैज्ञातब्य है कि भारत में सबसे अधिक गन्ने का उत्पादन उत्तर प्रदेश में होता है जबकि चीनी के उत्पादन में महाराष्ट्र का स्थान सबसे ऊपर है |

क्र. सं. (रेंक)

राज्य

कुल मिलों की संख्या

1.

महाराष्ट्र

 223

2.

उत्तर प्रदेश

158

3.

कर्नाटक

71

4.

तमिलनाडु

46

5.

आंध्र प्रदेश

44

6.

बिहार

28

Source: Ministry of Agriculture, Economic survey 2014-15

9. भारत के सबसे बड़े जूट उत्पादक राज्य इस प्रकार हैं

जूट के पौधे से रेशे को अपगलन विधि द्वारा तने की छल के नीचे से प्राप्त किया जाता है | इस विधि में तने के बंडलों को 20 सेमी. पानी के नीचे डुबोते हैं | फलतः वायुजीवी और अवायुजीवी सूक्ष्म जीवाणुओं की क्रियाशीलता से रेशे में उपस्थित पेक्टिन तथा गोंद आदि पदार्थ घुलकर नष्ट हो जाते हैं और जूट सुगमता से अलग हो जाता है |

क्र. सं. (रेंक)

राज्य

कुल उत्पादन का %

1.

पश्चिम बंगाल

74.45%

2.

बिहार 

16.66%

3.

असम

6.40%

4.

आंध्र प्रदेश

4.5%

Source: Economic survey 2014-15

10. भारत के सबसे बड़े चीनी उत्पादक राज्य इस प्रकार हैं

यहाँ पर ध्यान रखने वाली बात यह है कि उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा गन्ना का उत्पादन होता है जबकि चीनी का उत्पादन सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में होता है इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि महाराष्ट्र में चीनी मिलों की संख्या सबसे अधिक है |

क्र. सं. (रेंक)

राज्य

कुल उत्पादन (लाख टन)

1.

महाराष्ट्र 

91.0

2.

उत्तर प्रदेश

63.0

3.

कर्नाटक

43.5

4.

तमिलनाडु

38.6

Source: Economic survey 2014-15

 

विश्व में फलों के सर्वाधिक उत्पादक देश कौन से हैं?