Search

भारत में 5 सबसे बड़ी केंद्रीय जेल

भारत जैसे आबादी वाले देश में समाज को सुरक्षित रखने के लिए जेलों का काफी महत्व है क्योंकि इनमें खतरनाक अपराधियों को कैद करके रखा जाता है. भारत में केंद्र सरकार राज्यों की मदद करती है इन जेलों को सुरक्षा प्रदान करने में, मरम्मत करवाने में आदि. क्या आप जानते हैं कि भारत की कुछ जेलों को विश्व में भी सबसे बड़ा माना जाता है. इस लेख में ऐसी ही भारतीय जेलों के बारे में अध्ययन करेंगे.
Aug 29, 2017 11:00 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
5 Largest Central Jails of India
5 Largest Central Jails of India

जेलों का विश्व के इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थान है, क्योंकि उनका उपयोग खतरनाक अपराधियों को एक सीमा के अंदर कैद कर समाज को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है. भारत में 8 प्रकार की जेलें हैं, सबसे आम और मानक जेल संस्थान केंद्रीय जेल, जिला जेल और Sub जेल हैं. भारत की केंद्र सरकार राज्यों को भारत की जेलों में सुरक्षा बढ़ाने और पुरानी जेलों की मरम्मत और पुनर्निर्माण, चिकित्सा सुविधाओं, बोरस्टल स्कूलों की उन्नति, महिला अपराधियों की सुविधा, जेल कारोबार का आधुनिकीकरण, जेल के कर्मचारियों को तैयार करने में, और उच्च सुरक्षा के उत्पादन के लिए मदद करती है. भारत जैसे आबादी वाले देश में बड़ी संख्या में जेलें हैं, जिनमें से कुछ आकार में व्यापक हैं और उनमें हजारों अपराधियों को रखा जाता है.क्या आप जानते हैं कि भारत की कुछ जेलों को विश्व में भी सबसे बड़ा माना जाता है. इस लेख में ऐसी ही भारतीय जेलों के बारे में अध्ययन करेंगे.

भारत में 5 सबसे बड़ी केंद्रीय जेल
1. तिहाड़ जेल (Tihar Jail)
नई दिल्ली में स्थित तिहाड़ जेल दक्षिण एशिया में जेलों का सबसे बड़ा परिसर है. इसे तिहाड़ आश्रम भी कहा जाता है और भारत की सबसे बड़ी जेल है अधिकतम सुरक्षा के साथ. तिहाड़ जेल 1957 से अस्तित्व में है और इसमें 5200 कैदियों को रखने की क्षमता है. यह एक जेल की बजाय एक सुधारक संस्था है जो कि शिक्षा के माध्यम से कैदियों को बदलने का प्रयास करती है और व्यावसायिक कौशल में भी प्रशिक्षण प्रदान करती है. इतना ही नहीं, जेल के अपने परिसर में एक उद्योग भी है, जो कि कैदियों द्वारा चलाया जाता है जिससे उनका आत्म सम्मान बढ़ता है और उन्हें देश के जिम्मेदार नागरिक के रूप में सुधारने का भी मौका मिलता है.

Tihar Jail
Source: www.timesofindia.indiatimes.com
अपने कैदियों को शामिल करने, पुनर्वास करने और सुधार करने के लिए, तिहार संगीत चिकित्सा का प्रयोग करता है, जिसमें संगीत प्रशिक्षण सत्र और संगीत कार्यक्रम शामिल हैं. जेल में खुद का रेडियो स्टेशन भी है जो कि कैदियों द्वारा चलाया जाता है.
जेल के भीतर खेल और खेल गतिविधियों में कैदी की भागीदारी ने पांच सालों में वर्ष में दो बार अंतर-वार्ड और अंतर-जेल प्रतियोगिताओं के साथ एक बड़ी छलांग लगाई है. सभी जेलों में, वॉलीबॉल, क्रिकेट, बास्केटबॉल, खो-खो, कबड्डी, शतरंज, कैरम आदि जैसे खेलों का आयोजन सर्दियों में खेलों के फेस्टिवल के रूप में किया जाता है, जिन्हें "तिहाड़ ओलंपिक" के रूप में जाना जाता है. खेल और संस्कृति के क्षेत्र से प्रसिद्ध व्यक्तियों को आमंत्रित किया जाता है जो कि कैदियों के आत्मविश्वास को बढ़ाते हैं.

सेल्यूलर जेल या काला पानी की सजा इतनी खतरनाक क्यों थी?
2. येरवाड़ा केंद्रीय जेल (Yerwada Jail)

Yerwada Jail
Source: www.worldblaze.in.com
येरवाड़ा केंद्रीय जेल एक उच्च सुरक्षा प्रदान करने वाली, महाराष्ट्र की सबसे बड़ी जेल है, और दक्षिण एशिया में सबसे बड़ी जेलों में से एक है. येरवाड़ा सेंट्रल जेल पुणे में स्थित है और इस जेल के बाहर परिसर में येरवाडा ओपन जेल भी है. यह जेल 512 एकड़ में फैली हुई है. 1930 और 1940 के दशक में भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान यहां महात्मा गांधी जैसे कई प्रसिद्ध व्यक्तियों को जेल में रखा गया था. यहां पर 3,600 कैदियों (2005) को रखा जा सकता है, जो कि विभिन्न बैरकों और सुरक्षा क्षेत्रों से फैला हुआ है.
3. पुजल केंद्रीय जेल (Puzhal Central Prison)

Puzhal Jail
Source: www.frontline.in.com
चेन्नई के निकट तिरुवल्लूर में स्थित, भारत की शीर्ष 5 सबसे बड़ी जेलों की सूची में पुजाल केंद्रीय जेल नंबर 3 पर आती है. यह जेल 2006 में कार्यात्मक हुई और इसमें  3000 से ज्यादा कैदियों को रखा जा सकता है, जिस वजह से देश में इसे आकार में सबसे बड़ा माना जाता है. यह 212 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है.
इसमें इमारतों के तीन परिसर शामिल हैं:
- पुजल जेल I, रिमांड कैदियों के लिए
- अपराधियों के लिए पुर्जल जेल II और
- महिलाओं के लिए विशेष जेल

वर्तमान में स्वतंत्रता सेनानियों और उनके आश्रितों को क्या सुविधाएँ मिलती है?
4. नैनी केंद्रीय जेल (Naini Central Prison)

Naini Jail
Source: www.blog.pardesilink.com
नैनी सेंट्रल क़ैद खाना के रूप में भी यह जेल जानी जाती है. उत्तर प्रदेश की यह जेल भारत की चौथी सबसे बड़ी जेल है. यह खुली जेल है जो कि इलाहाबाद के करीब, नैनी में स्थित है और भारत में ब्रिटिश शासन की अवधि के दौरान इसका निर्माण किया गया था. इसमें 3000 कैदियों को रखने की क्षमता है.
5. राजामुंदरी केंद्रीय जेल (Rajahmundry Central Prison)

Rajamundry Jail
Source: www.i.pinimg.com
आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में राजामुंदरी सेंट्रल जेल को देश की पांचवीं सबसे बड़ी और पूर्ण संरक्षण वाली सबसे पुरानी जेल माना जाता है.1602 में, डच ने राजामुंदरी में एक किला का निर्माण किया था. ब्रिटिश साम्राज्य ने इसे 1864 में जेल में परिवर्तित कर दिया और फिर 1870 में इसे केंद्रीय जेल में बदल दिया गया. यह जेल 196 एकड़ (79 ha) में फैली हुई है.

CID और CBI में क्या अंतर होता है?