Search

प्राचीन जनपद एवं महाजनपदों की सूची

जनपद और महाजनपद काल 600 ईस्वी पूर्व की राज्यव्यवस्था का प्रतिनिधित्व करते हैंl कुछ महत्वपूर्ण आर्थिक परिवर्तनों के कारण महाजनपद काल के उभरने की प्रक्रिया की शुरूआत हुई थी और इसके परिणामस्वरूप इस अवधि में सामाजिक-राजनीतिक घटनाक्रम में बदलाव देखने को मिलता हैl इस लेख में हम प्राचीन जनपद और महाजनपदों की सूची दे रहे हैं जिससे आपको प्राचीन शासनशैली और तानाशाही स्थिति की बेहतर समझ प्राप्त होगीl
Apr 18, 2017 17:02 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

जनपद और महाजनपद काल 600 ईस्वी पूर्व की राज्यव्यवस्था का प्रतिनिधित्व करते हैंl कुछ महत्वपूर्ण आर्थिक परिवर्तनों के कारण महाजनपद काल के उभरने की प्रक्रिया की शुरूआत हुई थी और इसके परिणामस्वरूप इस अवधि में सामाजिक-राजनीतिक घटनाक्रम में बदलाव देखने को मिलता हैl इस लेख में हम प्राचीन जनपद और महाजनपदों की सूची दे रहे हैं जिससे आपको प्राचीन शासनशैली और तानाशाही स्थिति की बेहतर समझ प्राप्त होगीl

 Mahajanpadas

Source: www.facts-about-india.com

प्राचीन जनपद एवं महाजनपदों की सूची

जनपद एवं महाजनपद

राजधानी

स्थान

अंग

चम्पा

आधुनिक बिहार के मुंगेर एवं भागलपुर जिले में स्थित

मगध

प्रारंभ में राजगृह, बाद में पाटलिपुत्र

वर्तमान पटना, गया एवं शाहाबाद जिले के कुछ भाग शामिल

मल्ल

कुशीनगर और पावा

वर्तमान पूर्वी उत्तर प्रदेश के देवरिया, बस्ती, गोरखपुर और सिद्धार्थनगर जिले शामिल

वज्जि

वैशाली

बिहार में गंगा नदी के उत्तरी भाग में स्थित

कोसल

श्रावस्ती

वर्तमान पूर्वी उत्तर प्रदेश के फैजाबाद, गोंडा और बहराइच जिले शामिल

काशी

वाराणसी

आधुनिक वाराणसी और उसके आस-पास के क्षेत्र में स्थित

चेदि

सूक्तिमति

वर्तमान बुन्देलखंड में स्थित

कुरू

इन्द्रप्रस्थ

वर्तमान हरियाणा और दिल्ली के आसपास के क्षेत्र शामिल

वत्स

कौशाम्बी

वर्तमान उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद और मिर्जापुर जिले शामिल

पांचाल

अहिच्छत्र

(उत्तर पांचाल) और काम्पिल्य

(दक्षिण पांचाल)

वर्तमान पश्चिमी उत्तरप्रदेश में यमुना के पूर्व से लेकर कोसल जनपद तक

मत्स्य

विराटनगर

वर्तमान राजस्थान के अलवर, भरतपुर और जयपुर के क्षेत्र शामिल

शूरसेन

मथुरा

मथुरा के आस-पास का क्षेत्र शामिल

अवन्ति

उज्जैन और माहिष्मती

पश्चिमी भारत का आधुनिक मालवा क्षेत्र शामिल

अस्माक

पोतन

भारत के दक्षिणी भाग में नर्मदा और गोदावरी नदी के बीच के क्षेत्र में स्थित

कम्बोज

आधुनिक कश्मीर का राजपुरा

हिन्दूकुश (वर्तमान पाकिस्तान का हजारा जिला) क्षेत्र में स्थित

गांधार

तक्षशिला

पाकिस्तान के पश्चिमी भाग और अफगानिस्तान के पूर्वी भाग में स्थित

प्राचीन जनपद और महाजनपदों की उपरोक्त सूची 600 ईस्वी पूर्व में बड़ी संख्या में ग्रामीण और शहरी बस्तियों के एकीकरण का प्रतीक है, जिनकी संख्या 16 थी, हालांकि अलग-अलग ग्रंथों ने इनकी संख्या भिन्न भिन्न बताई हैं।

योग विचारधारा: प्राचीन भारतीय साहित्य दर्शन