Search

भारत के 10 सबसे सुंदर शाही महल

भारत प्राचीनकाल से ही कला और संस्कृति की भूमि रहा है जिसके कारण यहाँ शाही महलों की एक समृद्ध परंपरा रही है. वर्तमान समय में भारत के कई शाही महलों को विभिन्न व्यक्ति एवं संस्थाओं द्वारा अधिकृत कर लिया गया है एवं उन्हें हेरिटेज होटल का रूप दिया गया है. इसके बावजूद भारत में कई ऐसे शाही महल हैं जिन्हें आज भी उनकी वास्तुकला, प्राकृतिक सौन्दर्य और सुविधाओं के कारण भारत के सबसे सुंदर शाही महलों में एक माना  जाता है. इस लेख में हम भारत के 10 सबसे सुंदर शाही महलों का विवरण दे रहे हैं.
Aug 12, 2017 12:08 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

भारत प्राचीनकाल से ही कला और संस्कृति की भूमि रहा है जिसके कारण यहाँ शाही महलों की एक समृद्ध परंपरा रही है. वर्तमान समय में भारत के कई शाही महलों को विभिन्न व्यक्ति एवं संस्थाओं द्वारा अधिकृत कर लिया गया है एवं उन्हें हेरिटेज होटल का रूप दिया गया है. इसके बावजूद भारत में कई ऐसे शाही महल हैं जिन्हें आज भी उनकी वास्तुकला, प्राकृतिक सौन्दर्य और सुविधाओं के कारण भारत के सबसे सुंदर शाही महलों में एक माना  जाता है. इस लेख में हम भारत के 10 सबसे सुंदर शाही महलों का विवरण दे रहे हैं.

भारत के 10 सबसे सुंदर शाही महल

10. रंजीत विलास पैलेस (राजकोट)

रंजीत विलास पैलेस गुजरात के राजकोट जिले में वांकानेर शहर में स्थित है. वांकानेर का यह खूबसूरत और ऐतिहासिक महल एक पहाड़ी पर स्थित है, जिसका आगे का हिस्सा शहर की तरफ है. यह महल राजकोट शहर से लगभग 53 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.
Ranjit Vilas Palace
Image source: Gujarat Tourism

रंजीत विलास पैलेस के निर्माता

इस महल का निर्माण वांकानेर के महाराज एच.एच. अमरसिंहजी ने 1907 में करवाया था. उन्होंने जामनगर के अपने प्रिय मित्र जाम रंजीतसिंह के नाम पर इस महल का नाम रखा, जिन्होंने इस महल का उद्घाटन किया था. यह महल लगभग 225 एकड़ भू-भाग में फैली हुई है. यह महल सौराष्ट्र में झालावार क्षेत्र के शासकों का ग्रीष्मकालीन निवासस्थान था.

रंजीत विलास पैलेस की संरचना

रंजीत विलास पैलेस के निर्माण में मुगल शैली, इतावली शैली, डच शैली और फ्रांसीसी शैली का प्रयोग किया गया है. यहां प्राचीन और मध्यकालीन युगीन कुर्सियां, कांच की दीर्घाएं, झूमर, पुराने फर्नीचर, विशालकाय चित्र और भाले, तलवारें, राजसी लैंप, कपड़े, सिंहासन और सैन्य सामग्रियों का व्यापक संग्रह मौजूद है. रंजीत विलास पैलेस के निवर्तमान मालिक पूर्व सांसद और भारत सरकार में केंद्रीय मंत्री के रूप में काम कर चुके एच. एच. डॉ दिग्विजय सिंह जाला हैं.

9. उदय विलास पैलेस (उदयपुर)

उदय विलास पैलेस उदयपुर में स्थित एक प्रतिष्ठित हेरिटेज होटल है, जिसका संचालन ओबेराय होटल्स ग्रुप द्वारा किया जाता है. यह होटल उदयपुर शहर के ठीक मध्य में स्थित है. यह होटल राजस्थान एवं भारत के सबसे सुंदर शाही हेरिटेज होटल में से एक है.
Udai vilas palace hotel
Image source: India Hotels
उदय विलास पैलेस पिचोला झील के तट पर स्थित है. यह शाही महल मेवाड़ के शासकों के 200 वर्ष पुराने शिकार स्थल स्थित है और लगभग 50 एकड़ में फैला हुआ है, जिसमें हिरण और जंगली सूअर जैसे जीवों वाला 20 एकड़ में फैला वन्यजीव अभ्यारण्य भी शामिल है.
भारत का एकमात्र किला जहां सूर्यास्त के बाद रूकना कानूनी अपराध है

8. रामबाग पैलेस होटल (जयपुर)

रामबाग पैलेस होटल भारत में सबसे लोकप्रिय और सुंदर शाही महलों में से एक है. इस होटल को दुनिया के बेहतरीन हेरिटेज होटल में से एक माना जाता है. इस शाही होटल का संचालन ताज होटल समूह द्वारा किया जाता है, जो टाटा एंटरप्राइजेज का हिस्सा है. इस हेरिटेज होटल को भारत के सबसे महंगे होटल में से एक माना जाता है.
rambagh palace
Image source: MapmyIndia
रामबाग पैलेस प्राचीन समय में जयपुर के महाराजाओं का निवास स्थान था और यह जयपुर शहर से 5 मील (8.0 किमी) की दूरी पर भवानी सिंह रोड पर स्थित है. इस स्थान पर पहली इमारत का निर्माण 1835 में राजकुमार राम सिंह द्वितीय के लिए गार्डन हाउस के रूप में किया गया था. 1887 में महाराजा सवाई माधो सिंह के शासनकाल के दौरान यह एक शाही शिकारगाह लॉज में परिवर्तित हो गया था, क्योंकि उस समय यह इमारत घने जंगलों के बीच में स्थित था. 20वीं शताब्दी की शुरुआत में, इस इमारत को सर सैमुअल स्विटन जैकब के डिजाइन के आधार पर एक शाही महल के रूप में विस्तार किया गया था. 1931 में महाराजा सवाई मान सिंह द्वितीय ने रामबाग पैलेस को अपना प्रमुख निवास स्थान बनाया और यहां कई शाही सुइट का निर्माण करवाया था.

7. सिटी पैलेस (जयपुर)

जयपुर के सिटी पैलेस में न केवल एक महल शामिल है, बल्कि चंद्र महल और मुबारक महल नामक दो मुख्य महलों के अलावा कई अन्य इमारतों को भी शामिल किया गया है. प्रारंभ में इस महल के इमारतों का निर्माण महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय के द्वारा किया गया था. बाद के समय में, अन्य शासकों ने महल की सजावट, इंटीरियर डिजाइन और सुविधाओं में बढ़ोतरी की थी.
city palace
Image source: India Hotels
इस महल का निर्माण 1729-1732 के बीच किया गया था. इस महल के निर्माण में दो वास्तुकारों विद्याधर भट्टाचार्य और सर सैमुएल स्विटन जैकब का महत्पूर्ण योगदान था. सिटी पैलेस के निर्माण में भारतीय वास्तुकला के शिल्प शास्त्र के साथ-साथ राजपूत, मुगल और यूरोपीय शैली की वास्तुकला का भी प्रयोग किया गया था.

6. जयविलास पैलेस (ग्वालियर)

जय विलास पैलेस राजसी युग में ग्वालियर के शासकों का आधिकारिक निवास था. अब, यह भारत के सबसे लोकप्रिय शाही महलों में से एक है. इस महल का निर्माण 1874 में ग्वालियर के महाराजा जयाजीराव सिंधिया द्वारा करवाया गया था. इस महल के निर्माण में इतालवी, टस्कन और कोरिंथियन शैली का प्रयोग किया गया है. वर्तमान में यह महल ग्वालियर के शाही परिवार का आधिकारिक निवास स्थान है.
Gwalior Jai Vilas Palace
Image source: India.com
1874 में इस महल के निर्माण में लगभग 1 करोड़ रूपए खर्च हुए थे. यह शाही महल लगभग 1,15,271 वर्गमीटर में फैला हुआ है.
जानें रहने के हिसाब से भारत के 10 सबसे सुरक्षित शहर कौन-से हैं

5. हवामहल (जयपुर)

हवा महल एक लोकप्रिय शाही महल है. इस महल का निर्माण 1799 में महाराजा सवाई प्रताप सिंह जी ने करवाया था और यह जयपुर के सबसे लोकप्रिय पर्यटक स्थलों में से एक है. प्रारंभ में यह एक उच्च स्तरीय दीवार थी, जिसमें कई झरोखे (खिड़कियां) बने हुए हैं, जिससे शाही परिवार की महिलाएं सड़कों पर आयोजित होने वाले त्योहारों को देख सकती थीं, जबकि बाहर से देखने पर अंदर बैठे हुए व्यक्ति को नहीं देखा जा सकता था. इस महल के निर्माण में लाल और गुलाबी बलुआ पत्थर का इस्तेमाल किया गया है.
Hawa Mahal
Image source: Welcome2Rajasthan
इस महल के निर्माण में मुगल शैली का प्रयोग किया गया है और इस महल की ऊंचाई लगभग 15 मीटर है. इस महल के प्रमुख वास्तुकार लालचंद उस्ताद थे.

4. उम्मेद भवन पैलेस (जोधपुर)

जोधपुर का उम्मेद भवन पैलेस दुनिया के सबसे बड़े निजी निवास स्थानों में से एक है. इस महल का स्वामित्व जोधपुर के शाही परिवार के सदस्य महाराजा गज सिंह जी के पास है. इस महल का निर्माणकार्य 1929 में शुरू हुआ था और 1943 में यह महल बनकर तैयार हुआ था. वर्तमान में यह महल तीन भागों में बंटा हुआ है, जिसके पहले भाग में ताज पैलेस होटल, दूसरे भाग में शाही परिवार का निवास स्थान और तीसरे भाग में संग्रहालय स्थित है.
Umaid Bhawan Palace
Image source: जनसत्ता

3. लेक पैलेस (उदयपुर)

उदयपुर का लेक पैलेस, राजस्थान के सबसे सुंदर महलों में से एक है. इस महल का निर्माण 1746 में महाराणा जगत सिंह द्वितीय द्वारा किया गया था, जो मेवाड़ वंश के 62वें राजा थे. यह महल पिचोला झील के बीचोबीच एक प्राकृतिक द्वीप पर 4 एकड़ में फैला हुआ है. लेक पैलेस अपने प्राकृतिक वातावरण, सर्वोत्तम सुविधाओं और वास्तुकला के कारण भारत के सबसे रोमांटिक होटलों में से एक है.
lake palace Udaipur
Image source: A GK Blog in Hindi

2. लक्ष्मी विलास पैलेस (बड़ौदा)

बड़ौदा का लक्ष्मी विलास पैलेस, दुनिया के सबसे बड़े महलों में से एक है. यह शाही महल इंग्लैंड के बकिंघम पैलेस से चार गुना बड़ा है. इस महल में निर्माण में समृद्ध इंटीरियर डिजाइन और सुंदर वास्तुकला के मिश्रण का प्रयोग किया गया है. यह बड़ौदा के शाही परिवार अर्थात गायकवाड़ राजवंश का आधिकारिक निवास है. यह गुजरात के सबसे सुंदर और सबसे बड़े शाही महलों में से एक है.
laxmi vilas palace vadodara
Image source: traveljee.com

इस महल का निर्माण 1890 में सयाजीराव गायकवाड़ तृतीय के द्वारा किया गया था. इस महल के निर्माण में मराठा, हिन्दुस्तानी और अरबी शैली का प्रयोग किया गया था और इसके प्रमुख वास्तुकार चार्ल्स मंत थे.

1. अम्बा विलास पैलेस या मैसूर पैलेस (मैसूर)

मैसूर रॉयल पैलेस या अम्बा विलास पैलेस भारत के सबसे खूबसूरत शाही महलों में से एक है. यह मैसूर के शाही परिवार अर्थात वाडयर्स वंश का आधिकारिक निवास स्थान है. मैसूर में शाही महलों की अच्छी खासी संख्या होने के कारण इसे "महलों के शहर" के रूप में भी जाना जाता है. अम्बा विलास पैलेस का निर्माण 1897 में शुरू हुआ और यह 1912 में बनकर तैयार हुआ. बाद में, शाही परिवार ने ब्रिटिश वास्तुकार हेनरी इरविन को इस महल का विस्तार करने के लिए अधिगृहित किया.
 mysore palace
Image source: Maps of India

दुनिया के 11 ऐसे स्थान जिनका नाम भारतीय शहरों से मिलता जुलता है