Search

लॉकडाउन क्या होता है? भारत में क्या खुला और क्या बंद?

Lockdown (लॉकडाउन) एक इमर्जेंसी जैसी व्यवस्था है जिसके तहत निजी और सार्वजानिक कार्यालयों, निजी प्रतिष्ठानों, एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्ण रूप से बंद कर दिया जाता है. यह एक प्रकार से सरकार द्वारा अपनाई गयी अस्थायी व्यवस्था होती है जिसका मुख्य मतलब होता है कि लोग कम से कम एक दूसरे के संपर्क में आयें और महामारी कम से कम फैले.
Mar 25, 2020 10:07 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Lockdown Meaning in hindi
Lockdown Meaning in hindi
p>कोरोना वायरस का टीका बनाने के लिए पूरी दुनिया दिन-रात काम कर रही है लेकिन अभी तक किसी भी संस्था और देश को सफलता नहीं मिली है. यह महामारी अब तक 197 देशों में 18,907 लोगों की जान ले चुकी है. इसी दिशा में काम करते हुए भारत सहित विश्व में कई देशों ने लॉकडाउन की घोषणा की है. आइये इस लेख में भारत के सन्दर्भ ने लॉकडाउन का अर्थ और इसके प्रभाव के बारे में जानते हैं.

कोरोना के आंकड़े विश्व स्तर पर इस प्रकार हैं;

कुल संक्रमित लोगों की संख्या: 422,829

विश्व में कुल मृतक:18,907

विश्व में ठीक हुए लोग: 109,102

कुल प्रभावित देश: 197

चीन में कुल केस:81,218

सबसे अधिक मृतक: 6820 (इटली)

भारत में कुल संक्रमित:562

भारत में कुल मौतें: 11

क्या होता है लॉकडाउन? (What is Lockdown)

लॉकडाउन का शाब्दिक अर्थ होता है; ऐसी स्थिति जिसमें किसी आपातस्थिति के कारण लोगों को किसी भवन या क्षेत्र में स्वतंत्र रूप से प्रवेश करने या छोड़ने की अनुमति नहीं होती है.

अर्थात लॉकडाउन एक इमर्जेंसी जैसी व्यवस्था है जिसके तहत निजी और सार्वजानिक कार्यालयों, निजी प्रतिष्ठानों, एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्ण रूप से बंद कर दिया जाता है. यह एक प्रकार से सरकार द्वारा अपनाई गयी अस्थायी व्यवस्था होती है जिसका मुख्य मतलब होता है कि लोग कम से कम एक दूसरे के संपर्क में आयें और महामारी कम से कम फैले. अर्थात लॉकडाउन में एक तरह से कर्फ्यू की स्थिति होती है.

भारत में लॉकडाउन (Lockdown in India)

भारत के प्रधानमन्त्री मोदी जी ने 24 मार्च से अगले 21 दिनों तक पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की है. भारत में लॉकडाउन की घोषणा करते हुए केंद्रीय मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ़्रेंस में  बताया गया कि 'लॉकडाउन के पीछे भारत सरकार की नियत देश में कोविड-19 के संक्रमण को रोकना है. लॉकडाउन एक अस्थायी व्यवस्था है और यदि हालात सुधारते हैं तो इसे खत्म किया जा सकता है.

कई राज्यों ने तो अपने पप्रदेश से सटे बोर्डर्स को भी सील कर दिया है ताकि किसी भी गैर जरूरी आवागमन को रोका जा सके. अर्थात लोगों के पास अपने घरों और प्रदेशों से बाहर निकलने की कोई ख़ास वजह होनी चाहिए.

हालाँकि अगर बहुत ज़रूरी (जैसे मेडिकल इमरजेंसी) हो तो लॉकडाउन में भी निजी वाहन का प्रयोग किया जा सकता है आप चाहें तो आपात स्थिति में एंबुलेंस को भी बुला सकते हैं. अगर कोई बिना वजह बाहर जा रहा है तो पुलिस कार्रवाई कर सकती है.

भारत में लॉकडाउन के दौरान क्या-क्या बंद रहेगा? (What will be closed during Lockdown in India)

1.सभी सरकारी और निजी ऑफिस, फ़ैक्ट्रियाँ, दुकानें, वर्कशॉप, बड़े स्टोर, शोपिंग मॉल, सिनेमा हॉल, साप्ताहिक बाज़ार और गोदाम बंद रहेंगे.

2. हालाँकि देश में रेलवे की सभी पैसेंजर ट्रेनों  को 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है लेकिन कुछ राज्यों ने कहा है कि आपातकाल में भी 25% सरकारी बसें चलेंगी. अर्थात एक राज्य से दूसरे राज्य को जोड़ने वाली रेल और ज्यादातर बस सेवाएं बंद रहेगीं.

3. सभी धार्मिक एवं सामाजिक कार्यक्रम रद्द रहेंगे.

4. निर्माण गतिविधियों पर रोक लगी रहेगी.

5.  सामूहिक समारोहों पर रोक

6. दिल्ली में शादी में 50 लोग शामिल हो सकते हैं. हालाँकि लोगों से शादी टालने का आग्रह किया गया है.

लॉकडाउन के दौरान क्या-क्या खुला रहेगा? (What will remain open during Lockdown in India)
कुछ राज्यों ने 25% बस सेवाओं को जारी रखने का निर्णय लिया है. लेकिन इसमें अलावा लोगों की जरूरतों की सभी चीजें उपलब्ध कराने वाली संस्थाएं और दुकानें खुली रहेंगी. इनमें शामिल हैं; 

1. किराने का सामान, फल और सब्जी की दुकानें

2. रसोई गैस की आपूर्ति

3. दूध की आपूर्ति बूथ

4. अस्पताल और फार्मेसियां 

5. बैंक और ए.टी.एम.

6. सीमित सार्वजनिक परिवहन उपलब्ध 

7. दूरसंचार सेवाएं

8. ई-कॉमर्स

9. भोजन होम-डिलीवरी

10.पेट्रोल पंप और सीएनजी या एलपीजी पंप 

11.बिजली-पानी, इंटरनेट

12.पोस्ट ऑफ़िस

13.प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया

14. पुलिस थाने

15. अग्नि शमन विभाग 

16. जेल

17. महत्वपूर्ण सरकारी दफ़्तर

किन देशों में है लॉकडाउन? (Which countries have declared Lockdown)

1.चीन

2. इटली

3. भारत 

4. डेनमार्क

5. अमरीका

6. ब्रिटेन

7. फ्रांस

8. आयरलैंड 

9. न्यूजीलैंड

10. पोलैंड 

11. स्पेन

इस प्रकार स्पष्ट है कि वर्तमान में विश्व के लगभग 197 देश आपातकाल जैसी स्थिति में जी रहे हैं. इटली जैसे विकसित देश में तो स्थिति चीन से भी भयंकर होती जा रही है. इसलिए इस संकट की घडी में भारत से सभी नागरिकों से भारत सरकार की अपील है कि कोरोना को मजाक समझना बंद करो और सरकार द्वारा जारी किये जाने वाले निर्देशों का पालन करें अर्थात घर में रहे हैं और लोगों के दूरी बनाकर रखें.

Janatha curfew क्या होता है और इसको लगाने की जरूरत क्यों पड़ी?

Thermal Scanner क्या होता है और यह किस तरह काम करता है?