Search

Janatha curfew क्या होता है और इसको लगाने की जरूरत क्यों पड़ी?

Janata (public) Curfew: प्रधानमन्त्री मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में कहा है कि देश में वर्तमान परिस्तिथियों से निपटने के लिए 'जनता कर्फ्यू' Janatha Curfew को लागू करने के जरूरत है. उन्होंने लोगों से अपील की कि वे 22 मार्च, रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक बाहर आने से बचें. आइये विस्तार से जानते हैं कि आखिर यह Janatha Curfew क्या होता है?
Mar 20, 2020 11:24 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Janatha Curfew
Janatha Curfew
p>आज पूरे विश्व के सामने कोरोना वायरस या कोविड-19 की समस्या विकराल रूप लेती जा रही है. इस महामारी की चपेट में विश्व के 100 से अधिक देश हैं, इससे लगभग 9000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं और 2 लाख से ज्यादा संक्रमित हो चुके हैं. भारत में इससे 190 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 4 लोगों की मौत हो चुकी है.

इस भयंकर माहौल में हर देश अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए हर संभव उपाय कर रहा है. भारत में लोग इकोनोमिक लॉकडाउन की अफवाहों में जी रहे हैं, इसी बीच इन अफवाहों को विराम देने के लिए प्रधानमन्त्री मोदी ने देश में किसी भी इकोनोमिक लॉकडाउन से इंकार किया और लोगों से खाने पीने के सामान खरीदने की होड़ से बचने की अपील के साथ साथ जनता कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है.

अब सवाल यह उठता है कि आखिर ये जनता कर्फ्यू क्या होता है और इसके क्या उद्येश्य हो सकते हैं? आइये विस्तार से जानते हैं इस लेख में;

जनता कर्फ्यू क्या होता है (Meaning of Janatha Curfew)

आसान शब्दों में जनता कर्फ्यू से तात्पर्य है 'जनता के लिए, जनता द्वारा लगाया गया कर्फ्यू'. अर्थात इस प्रकार के माहौल में जनता स्वयं ही कम मात्रा में एक दूसरे से संपर्क में आएगी. 

मोदी जी ने जनता से अपील की है कि जनता कर्फ्यू के दिन कोई भी नागरिक; सड़क पर ना जाए, घर से बाहर न निकले, न मोहल्ले में जाए. PM मोदी ने देश में 22 मार्च (रविवार) को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे (Janatha Curfew Timing) तक जनता कर्फ्यू को लागू करने की अपील की है.

जनता कर्फ्यू को सुचारू रूप से लागू करने के लिए पुलिस सायरन बजाती हुई सड़कों पर घूम सकती है और जो लोग घरों के बाहर, सडकों पर घूम रहे हैं उन्हें घर के अंदर जाने के लिए कह सकती है.मोदी जी ने राज्य सरकों से भी अपील की है कि वे जनता कर्फ्यू लागू करने के लिए जरूरी कदम उठायें.

जनता कर्फ्यू के उद्येश्य (Objectives of Janatha Curfew)

दरअसल कोविड19 का असर तब ज्यादा होता है जब एक संक्रमित व्यक्ति कई अन्य स्वस्थ लोगों के संपर्क में आता है. इसलिए सरकार, जनता कर्फ्यू के माध्यम से लोगों का आपसी संपर्क कम करना चाहती है ताकि इस बीमारी से फैलने वाले संक्रमण को रोका जा सके.

वर्तमान में ऐसा हो रहा है कि जो व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है वह बाहर; बाजार, शोपिंग मॉल,पब्लिक ट्रांसपोर्ट, नाई की दुकान, ऑफिस इत्यादि में जाकर स्वस्थ लोगों को संक्रमित कर रहा है जिससे प्रतिदिन संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है.

closed-due-corona

इसलिए जनता कर्फ्यू का मुख्य उद्येश्य पर्सन टू पर्सन कांटेक्ट को कम करना है ताकि इस बीमारी के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके.

उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आप समझ गये होंगे कि आखिर ये जनता कर्फ्यू क्या होता है और इसको लागू करने के क्या उद्येश्य हैं?

Thermal Scanner क्या होता है और यह किस तरह काम करता है?


एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1897 क्या है और यह कोरोना वायरस को कैसे रोकेगा?