1. Home
  2. Hindi
  3. IPS Success Story: Bollywood से प्रेरित होकर Constable से IPS बने मनोज रावत, पढ़ें पूरी कहानी

IPS Success Story: Bollywood से प्रेरित होकर Constable से IPS बने मनोज रावत, पढ़ें पूरी कहानी

IPS Success Story: यूंं तो हर किसी युवा के अधिकारी बनने की एक कहानी होती है, लेकिन आज हम आपके साथ मनोज रावत की कहानी साझा कर रहे हैं, जिन्होंने बॉलीवुड से प्रेरित होकर कांस्टेबल से आईपीएस बनने का सफर पूरा किया। तो, आइये जानते हैं मनोज रावत की कहानी।

IPS Success Story: Bollywood से प्रेरित होकर Constable से IPS बने मनोज रावत, पढ़ें पूरी कहानी
IPS Success Story: Bollywood से प्रेरित होकर Constable से IPS बने मनोज रावत, पढ़ें पूरी कहानी

IPS Success Story: संघ लोक सेवा आयोग(यूपीएससी) की ओर से आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा बहुत कठिन होती है। इसे पास करना बहुत मुश्किल  है। यही वजह है कि इसे पास करने के लिए युवा दिन-रात मेहनत करते हैं, लेकिन सफलता सुनिश्चित नहीं होती। वहीं, जो युवा इस परीक्षा को पास करते हैं, उनकी अपनी एक कहानी होती है। इनमें से कुछ लोगों की कहानी बहुत अलग होती है। आज हम आपके साथ एक ऐसे शख्स मनोज रावत की कहानी साझा करने जा रहे हैं, जिन्होंने बॉलीवुड से प्रेरित होकर सिविल सेवा जैसी कठिन परीक्षा को पास किया और आईपीएस अधिकारी बन गए। 

 

मनोज रावत का परिचय

मनोज मूल रूप से राजस्थान के जयपुर के श्यामपुर के निवासी हैं। मनोज के पिता निजी स्कूल में शिक्षक हैं। मनोज के पिता की साल 2008 में नौकरी चली गई थी, जिसके बाद मनोज के ऊपर परिवार की जिम्मेदारी आ गई थी। वहीं, मनोज ने सिर्फ 19 साल की उम्र में ही नौकरी करना शुरू कर दिया था। वह अपने परिवार में तीन भाई-बहनों में सबसे बड़े हैं। 

 

19 साल की उम्र में पुलिस में कांस्टेबल बने मनोज 

पिता की नौकरी जाने के बाद घर में आर्थिक रूप से परेशानी होने लगी थी। हालांकि, उस समय राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल भर्ती निकली हुई थी। ऐसे में मनोज ने पूरी तैयारी की साथ परीक्षा दी और 19 साल की उम्र में ही उनका चयन पुलिस में कांस्टेबल पद पर हो गया। वहीं, नौकरी के साथ-साथ उन्होंने अपनी पढ़ाई को जारी रखा। इसके बाद उन्होंने एमए पॉलीटिकल साइंस की पढ़ाई भी पूरी की। वहीं, साल 2013 में उनका चयन कोर्ट में क्लर्क के रूप में हो गया था। ऐसे में उन्होंने कांस्टेबल पद से इस्तीफा देकर क्लर्क की नौकरी ज्वाइन कर ली थी। 

 

सीआईएसएफ की नौकरी को ठुकराया

मनोज जिस समय पढ़ रहे थे, तब उन्हें एक बार केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(सीआईएसएफ) में नौकरी का अवसर मिला। हालांकि, उन्होंने यह अवसर ठुकरा दिया। क्योंकि, वह जीवन में कुछ बड़ा करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने छोटे लक्ष्य तक खुद को सीमित नहीं रखा। 

 

बॉलीवुड फिल्म इंडियन से प्रेरित हुए थे मनोज

एक साक्षात्कार में मनोज रावत ने बताया था कि वह अभिनेता सनी देओल के फैन हैं। वह सनी देओल की फिल्म इंडियन देखकर काफी प्रभावित हुए थे। उन्हें वहां से आईपीएस बनने की प्रेरणा मिला। इसके बाद उन्होंने दिन-रात एक कर कड़ी मेहनत के साथ साल 2019 में यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा दी, जिसमें उन्होंने 544 रैंक के साथ सफलता प्राप्त की। इसके बाद उन्हें आईपीएस बनने का अवसर मिला। उनके आईपीएस बनने पर आईपीएस एसोसिएशन की ओर से भी उन्हें बधाई दी गई थी। 

 

पढ़ेंः IAS Success Story: UPSC की तैयारी के लिए छोड़ी नौकरी, 40 रैंक लाकर IAS बनी अपराजिता शर्मा