1. Home
  2. Hindi
  3. UPSC IAS 2021: जानिएं किस राज्य से सबसे अधिक चुने गए IAS अधिकारी

UPSC IAS 2021: जानिएं किस राज्य से सबसे अधिक चुने गए IAS अधिकारी

UPSC IAS 2021:  यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में हर साल देशभर से युवा शामिल होता है। लेकिन, क्या आपको पता है कि सिविल सेवा परीक्षा 2021 में किस राज्य से सबसे अधिक आईएएस अधिकारी चुने गए हैं। यदि नहीं, तो हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे कि किस राज्य से कितने आईएएस अधिकारी चुने गए हैं। 

UPSC IAS 2021: जानिएं किस राज्य से सबसे अधिक चुने गए IAS अधिकारी
UPSC IAS 2021: जानिएं किस राज्य से सबसे अधिक चुने गए IAS अधिकारी

UPSC IAS 2021: यूपीएससी सिविल सेवा में हर साल लाखों बच्चे शामिल होते हैं। इसमें से केवल कुछ ही छात्रों को सफलता मिलती है। वहीं, आईएएस बनने वालों की संख्या और भी कम होती है। परीक्षा में देशभर के अलग-अलग राज्यों से और राज्यों के अलग-अलग क्षेत्र से युवा इस कठिन परीक्षा में मेहनत के साथ किस्मत आजमाता है। आज हम आपको बताएंगे कि यूपीएससी सिविल सेवा 2021 में किस राज्य से सबसे अधिक आईएएस अधिकारी चुने गए हैं। साथ ही इससे पहले किस राज्य से सबसे अधिक आईएएस अफसर बने थे। 

 

कुल 180 आईएएस अधिकारियों का हुआ है चयन

सिविल सेवा परीक्षा 2021 में कुल 180 आईएएस अधिकारियों का चयन हुआ है। इसके अलावा आईपीएस, आईएफएस और आईआरएस समेत अन्य सेवाओं के लिए अधिकारियों का चयन हुआ है।    

 

राजस्थान के 24 अभ्यर्थियों ने पाई सफलता

सिविल सेवा परीक्षा 2021 में कुल 180 उम्मीदवारों में से सबसे अधिक 24 उम्मीदवार राजस्थान से चुने गए हैं। वहीं, उत्तरप्रदेश से 19, बिहार से 14, महाराष्ट्र से 13, मध्यप्रदेश से 12 और दिल्ली से 16 अभ्यर्थियों का देश की सर्वोच्च सेवा प्राप्त करने का सपना पूरा हुआ है। 

 

बेहतरीन कोचिंग और जागरूकता बना कारण 

सिविल सेवा परीक्षा में राजस्थान के बढ़ते आंकड़ों को लेकर विशेषज्ञों ने एक समाचार एजेंसी को बताया है। विशेषज्ञों का कहना है कि राजस्थान के अभ्यर्थियों की सिविल सेवा में बढ़ रही सफलता का दर बेहतरीन कोचिंग और लोगों में आई जागरूकता है। क्योंकि, अब पहले के मुकाबले यहां लोग सिविल सेवा को लेकर अधिक जागरूक हो रहे हैं। यही वजह है कि इस राज्य से लोग सिविल सेवा में अपना भाग्य आजमाकर सफलता प्राप्त कर रहे हैं। 

 

बीते चार सालों में राजस्थान से 84 युवा बने आईएएस अधिकारी 

कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के आंकड़ें बताते हैं कि बीते चार सालों में राजस्थान से 84 युवाओं ने आईएएस बनने के सपने को साकार किया है। यहां के युवा सिविल सेवा में अपनी भागीदारी बढ़ा रहे हैं। इसके साथ ही यहां हर साल आईएएस बनने वाले युवाओं की संख्या भी बढ़ रही है। बीते वर्षों की बात करें तो वर्ष 2019 में राजस्थान से सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से 16 युवा आईएएस बने थे, जबकि 2020 में यह संख्या 22 थी।  वहीं, साल 2020 में उत्तरप्रदेश से आईएएस बनने वाले युवाओं की संख्या 30 थी। 

 

इस संबंध में राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के असिस्टेंट क्लेक्टर गौरव बुदानिया ने एक समाचार एजेंसी को बताया कि राजस्थान से अधिक आईएएस बनने के पीछे यहां बच्चों को मिलने वाली प्रेरणा, परीक्षा के पैटर्न में हुआ बदलाव और एससी व एसएटी समुदाय में बढ़ी जागरूकता शामिल है। यूपीएससी ने  करेंट अफेयर्स को अधिक तवज्जों दे रहा है। इसका बच्चों को लाभ मिल रहा है। वहीं, राजस्थान की दिल्ली से दूरी भी कम है। यही वजह है कि बच्चे कोचिंग के लिए दिल्ली का रूख कर लेते हैं।

 

पढ़ेंः IAS Success Story: दो बार IPS और फिर IAS अधिकारी बने कार्तिक जीवाणी