Indian Railway: 13 लाख रेलवे कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, जानें नया ट्रान्सफर माड्यूल

भारतीय रेलवे ने अपने कर्मचारियों के लिए ट्रान्सफर को सरल बना दिया हैI इस प्रक्रिया के लिए रेलवे बोर्ड ने एक पॉलिसी तैयार की है जिसे 15 अगस्त से देश भर में लागू कर दिया गया है, आइये जानें रेलवे का नया ट्रान्सफर माड्यूल  

Indian Railway
Indian Railway

Indian Railway: रेलवे कर्मचारियों के लिए अपने जिले में ट्रांसफर लेना, एक बड़ी समस्या रही है, वे अपने घर के नजदीक ट्रांसफर कराने के लिए लम्बे समय तक प्रयास करते हैं और इस दौरान कई समस्याओं और मुश्किलों का सामना करते हैं लेकिन इस बार आजादी का अमृत महोत्सव रेलवे कर्मचारियों के लिए ट्रांसफर से आजादी की खुशखबरी ले कर आया है इस नई व्यवस्था से रेलवे के करीब 13 लाख कर्मचारियों को लाभ मिलेगा, और अब कर्मचारियों के लिए ट्रांसफर लेना  आसान हो जाएगाI  

रेलवे बोर्ड (Railway Board) ने एक ऐसी पॉलिसी तैयार की है, जिससे रेलवे के करीब 13 लाख कर्मचारियों को ट्रांसफर कराने में अब आसानी रहेगी I इस व्यवस्था को देशभर में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यानी 15 अगस्त 2022 से लागू कर दिया गया हैI रेलवे में कई  अलग-अलग तरह के ट्रांसफर होते हैं जैसे कारखाने वाले स्टाफ का नियमित ट्रांसफर आमतौर पर वर्कशॉप के अंदर ही होता  है और ज‍िसकी तैनाती डिवीजन में है, उसे डिवीजन में ही ट्रांसफर म‍िलता है, लेक‍िन यद‍ि कोई स्टाफ इंटर डिवीजन या इंटर जोनल ट्रांसफर चाहता है तो उसमें बड़ी समस्या होती हैI परन्तु यद‍ि म्यूचुअल ट्रांसफर कराने वाला कोई स्‍टॉफ होता है तो ये सरल हो जाता है लेकिन हर कर्मचारी को म्यूचुअल ट्रांसफर कराने वाला स्टाफ मिल जाये ये जरुरी भी नहीं है  जिससे ट्रान्सफर में समस्या बनी रहती है I

ट्रान्सफर का नया माड्यूल

रेलवे कर्मचारियों की ट्रांसफर की समस्या को दूर करने के लिए रेल मंत्रालय ने 15 अगस्‍त 2022 (सोमवार) से ट्रांसफर नया ट्रांसफर माड्यूल लागू किया हैI इसे रेलवे के सॉफ्टवेयर बनाने वाले संगठन सेंटर फॉर रेलवे इनफार्मेशन सिस्टम (CRIS) ने कर्मचारियों के प्रबंधन के लिए तैयार क‍िया है, इस माड्यूल का नाम एचआरएमएस (HRMS) हैI

रेलवे बोर्ड के अनुसार, इंटर जोनल और इंटर डिव‍िजनल ट्रांसफर के ल‍िए सभी एप्‍लीकेशन इसी के माध्यम से फाइल होंगी I इसके अलावा पहले से जिसकी भी ट्रांसफर एप्‍लीकेशन पेंड‍िंग है, उसे भी इस पर ही अपलोड क‍िया जाएगाI रेलवे अधिकारियों के अनुसार इस माड्यूल के लागू होने से रेलवे की ट्रांसफर व्यवस्था में ट्रांसपेरेंसी आएगीI 

रेलवे अधिकार‍ियों के अनुसार, किसी स्टाफ के ट्रांसफर का समय आने पर वह एचआरएमएस में ऑनलाइन आवेदन कर सकेगाI एक ही जगह के ल‍िए दो आवेदन आने पर पहले वाले को वरीयता दी जाएगीI कर्मचारी के आवेदन पत्र पर सुपरवाइजर, ब्रांच अधिकारी और कार्मिक विभाग के अधिकारी भी राय दे सकेंगेI लेकिन ट्रांसफर पर अंतिम निर्णय डीआरएम या एडीआरएम का ही होगाI

 

Related Categories

Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

Related Stories