Search

एक सफल और कामयाब रेडियो जॉकी बनने के लिए 5 आवश्यक शर्तें

क्या आप एक बहिर्मुखी, मुखर, और बातूनी स्वाभाव के व्यक्ति हैं और ऐसे पेशे में नहीं जाना चाहते जहां मजबूरन आपको अपनी मूल प्रकृति और आदतों को दबाने तथा समाप्त करने की आवश्यकता पड़े. यदि ऐसा है तो रेडियो के लिए जॉकी बनना निश्चित रूप से आपके मनोदशा और प्रवृत्ति के अनुरूप है. नीचे  एक सफल और कामयाब  रेडियो जॉकी बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए हैं.

May 31, 2017 12:27 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Skills Important To Become A Good Radio Jockey
Skills Important To Become A Good Radio Jockey

क्या आप एक बहिर्मुखी, मुखर, और बातूनी स्वाभाव के व्यक्ति हैं और ऐसे पेशे में नहीं जाना चाहते जहां मजबूरन आपको अपनी मूल प्रकृति और आदतों को दबाने तथा समाप्त करने की आवश्यकता पड़े. यदि ऐसा है तो रेडियो के लिए जॉकी बनना निश्चित रूप से आपके मनोदशा और प्रवृत्ति के अनुरूप है. नीचे  एक सफल और कामयाब  रेडियो जॉकी बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए हैं.

यद्यपि टेलीविज़न और इंटरनेट के आगमन से इस व्यवसाय की लोकप्रियता और विकास प्रभावित हुआ था लेकिन एफएम रेडियो और निजी चैनलों के विकास ने इस सुस्त पड़े व्यवसाय को पुनः जीवित कर दिया है. एक बार फिर संगीत में रूचि रखने वाले, चुनौतियों को सहर्ष स्वीकार करने को तत्पर युवकों के लिए रेडियो जॉकी बनना लीक से हटकर एक रोमांचक और आशाजनक करियर के रूप में उभरा है. एक रेडियो जॉकी संगीत कार्यक्रम, टॉक शो और अन्य इसी तरह के कार्यक्रमों की एंकरिंग करता है. यह इतने आकर्षक तरीके और मन्त्र मुग्ध करने वाली शैली में एंकरिंग करते हैं कि दर्शक न चाहते हुए भी उनके प्रोग्राम को शुरू से अंत तक देखने की कोशिश करते हैं.ये बीच बीच में मनोरंजक बातों से आकर्षित करते हुए गेस्ट या श्रोताओं का इन्टरव्यू लेते हैं. कार्यक्रम के शुरुआत और अंत से पहले ये मुख्य समाचार,मौसम की जानकारी तथा ट्रैफिक की स्थिति के विषय में जानकारी देते हैं. आकर्षक संवाद शैली और मन्त्र मुग्ध करने एवं अभिव्यक्ति की क्षमता एक रेडियो जॉकी की मूल विशेषताएं हैं, जो उसे दूसरे प्रोफेशन से बिलकुल अलग पहचान बनाने में सहयोग करते हैं.रेडियो जॉकी अपने आवाज के कारण पहचाने जाते हैं. वैसे तो सभी रेडियो चैनल में रेडियो जॉकी के लिए रोजगार उपलब्ध है लेकिन एफएम चैनल में आमतौर पर रोजगार के अवसर ज्यादा है. इसकी स्थापना के बाद से इसमें कई बदलाव हुए हैं. समय गुजरने के साथ साथ इसकी शैली, अभिव्यक्ति,वितरण प्रणाली में कई बदलाव हुए हैं. वैश्विक स्तर पर अधिकांश चैनलों के खुलने से इस उद्योग में अत्यधिक रोजागर उपलब्ध हैं.

अपने मुखर, बातूनी और बहिर्मुखी दृष्टिकोण के अपने पसंदीदा आदत को दबाने और खत्म करने की इच्छा नहीं रखते हुए यदि आप अपनी आजीविका अर्जित करना चाहते हैं,तो यहाँ दिए गए कुछ सुझाव निश्चित रूप से आप सभी का मार्गदर्शन करेंगे-

हास्य भावना की सही समझ रेडियो जॉकी बनने के लिए एक प्रमुख कौशल है-एक रेडियो श्रोता के रूप में कोई भी एक ऐसे रेडियो जॉकी को नहीं सुनना चाहता है जो पूरे शो का  सीरियस मुड में लम्बे समय तक एक समान शैली में एंकरिंग करता है. सीरियस मुद्दों को भी रोचक बनाने के लिए हास्य के कुछ संवाद डालने की जरुरत होती है. अगर बीच बीच में हास्य के संवाद न हो तो टॉपिक बोरिंग सा हो जाता है और श्रोताओं को आनन्द नहीं आता है. अतः रेडियो जॉकी को हास्य कला में परिपूर्ण होना चाहिए. 

समसामयिक घटनाओं की पूरी जानकारी होनी चाहिए-  अगर एक रेडियो जॉकी जो अपने कार्यकर्मों के बीच बीच में कभी कभी ब्रेकिंग न्यूज, ट्रैफिक की स्थिति बताता है, उसे देश विदेश की समसामयिक घटनाओं की जानकारी नहीं होगी तो वे किस तरह अपने श्रोताओं सही जानकारी दे पाएंगे और उनके द्वारा पूछे गए किसी भी प्रश्न का संतोषजनक जबाब दे पाएंगे. एक सफल और लोकप्रिय रेडियो जॉकी बनने के लिए समसायिक घटनाओं के प्रति जागरूक रहना एक आवश्यक शर्त है.

स्पष्ट और प्रभावशाली भाषा का प्रयोग – एक रेडियो जॉकी की भाषा स्पष्ट और मन्त्रमुग्ध करने की क्षमता वाली होनी चाहिए. अगर रेडियो जॉकी की भाषा स्पष्ट और प्रभावशाली नहीं होगी तो श्रोता निश्चित रूप से अपना रेडियो बंद कर देगा क्यों कि वह आपकी भाषा को जोर देकर समझने का प्रयास नहीं करेगा. इसके लिए आपको धारा प्रवाह और स्पष्ट बोलने की कोशिश करनी चाहिए.

भाषा पर पकड़ तथा अन्य प्रांतीय भाषाओँ की जानकरी -मान लीजिये अगर आप कोई एक प्रोग्राम यूपी के किसी प्रांतीय शहर में आयोजित कर रहे हैं और आपको वहां के प्रांतीय भाषा की जानकरी नहीं है. ऐसी स्थिति में अपने संवाद से आप किस तरह वहां के लोगों पर अपना स्पष्ट छाप छोड़ पाएंगे. अतः भाषा पर पकड़ तथा अन्य भाषाओँ की समुचित जानकारी होना अति आवश्यक है.  

मधुर आवाज – रेडियो जॉकी के लिए जो बात सबसे ज्यादा मायने रखती है वो है उसकी आवाज.ज्यादातर लोग रेडियो जॉकी के आवाज के कारण ही कुछ कार्यक्रमों को सुनना पसंद करते हैं. अतः अगर आप एक अच्छा रेडियो जॉकी बनना चाहते हैं तो आपके लिए अपने व्याइस मोडूलेशन पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यक्ता होती है. इसके अभ्यास से आपके आवाज में एक ऐसी सुरम्यता आएगी जिससे अनायास ही लोग किसी भी परिस्थिति में आपको सुनना चाहेंगे.

निष्कर्ष

विभिन्न क्षेत्रीय, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रेडियो स्टेशनों के उद्घाटन के कारण  इन दिनों रेडियो चैनल उद्योग तेजी से बढ़ रहा है और सबसे अधिक रोजगार उत्पादक उद्योगों में से एक बन गया है. यह उन लोगों के लिए सबसे अच्छा करियर विकल्प है जो व्यवसाय के लिए अपने भाषण, बहिर्मुखी व्यक्तित्व और मुखर रवैया को दबाना नहीं चाहते हैं. एक रेडियो जॉकी के रूप में आपको अपने अंतर्गत बहुत सारे गुणों का कुशलता पूर्वक विकास करना होगा ताकि आप आपना बेहतर  प्रदर्शन करते हुए श्रोताओं के मन पर अपनी अमिट छाप छोड़ सकें.

Related Stories