इतिहास की 10 सबसे खराब औद्योगिक दुर्घटनाएं

अट्ठारहवीं शताब्दी के अंत में तथा उन्नीसवीं शताब्दी के शुरुवात में कुछ पश्चिमी देशों के तकनीकी, सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक स्थिति में काफी बड़ा बदलाव आया। जिसे औद्योगिक क्रान्ति (Industrial Revolution) के नाम से जाना जाता है। इस लेख में हमने, इतिहास की 10 सबसे खराब औद्योगिक दुर्घटनाएं को सूचीबद्ध किया है।
Nov 1, 2018 17:14 IST
    Top 10 Worst Industrial Accidents in History HN

    अट्ठारहवीं शताब्दी के अंत में तथा उन्नीसवीं शताब्दी के शुरुवात में  कुछ पश्चिमी देशों के तकनीकी, सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक स्थिति में काफी बड़ा बदलाव आया। जिसे औद्योगिक क्रान्ति (Industrial Revolution) के नाम से जाना जाता है। इस क्रांति ने मानव इतिहास को सर्वाधिक प्रभावित किया है।

    इतिहास की 10 सबसे खराब औद्योगिक दुर्घटनाएं

    'औद्योगिक दुर्घटनाएं' वो दुर्घटना होती है सिर्फ जो कार्य परिस्थिति तथा कार्य संपादन प्रणालियों में लापरवाही या अक्षमता के कारण घटित होती है। इतिहास की 10 सबसे खराब औद्योगिक दुर्घटनाएं को सूचीबद्ध किया है जिसकी चर्चा नीचे की गयी है:

    10. आतिशबाजी भंडारण डिपो पर विस्फोट

    दिनांक: 13 मई, 2000

    स्थान:  एन्सेडे, नीदरलैंड्स

    घातक परिणाम: चार अग्निशामक सहित 23 लोग मारे गए थे, और लगभग 1,000 घायल हो गए थे। कुल 400 घरों को नष्ट हो गए थे तथा 1500 इमारतों को क्षतिग्रस्त हो गयी थी।

    9. एक्सोन वाल्डेज़ द्वारा 260,000 से 750,000 कच्चे तेल के बैरल को समुद्र में गिराना से हुई दुर्घटना   

    दिनांक: 24 मार्च, 1989

    स्थान:  प्रिंस विलियम साउंड्स, अलास्का, संयुक्त राज्य अमेरिका

    घातक परिणाम: 100,000 से 250,000 समुद्री पक्षी मारे गए थे।

    8. आईसीएमईएसए (रासायनिक विनिर्माण संयंत्र) में से डाइऑक्साइन्स (टीसीडीडी) रिसने या मुक्त करने के कारण तबाही 

    दिनांक: 10 जुलाई, 1976

    स्थान:  सेवेसो, इटली

    घातक परिणाम: 3,300 पालतू जानवर मारे गए थे तथा  बाद में 80,000 जानवरों को मार दिया गया था।

    7. कोयला धूल विस्फोट    

    दिनांक: 10 मार्च, 1906

    स्थान:  और्रिएर, फ्रांस

    घातक परिणाम: 1,099 लोग मरे थे।

    6. तरल पेट्रोलियम गैस टैंक फार्म में विस्फोट    

    दिनांक: 19 नवंबर, 1984

    स्थान:   सैन जुआनिको, मेक्सिको

    घातक परिणाम: 500 लोग मरे थे।

    इतिहास की 5 अजीब मगर सच घटनाएं

    5. एस.एस. ग्रांड कैंप पर 2,300 टन अमोनियम नाइट्रेट के पास आग लगना और विस्फोट होना    

    दिनांक: 16 अप्रैल, 1947

    स्थान:  टेक्सास सिटी का बंदरगाह, टेक्सास, संयुक्त राज्य अमेरिका

    घातक परिणाम: 581 लोग मरे थे।

    4. चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र में एक अनधिकृत परीक्षण के दौरान विस्फोट

    दिनांक: 26 अप्रैल, 1986

    स्थान:  प्रिपिअत, यूक्रेन

    घातक परिणाम: 50 विकिरण के कारण, विकिरण प्रेरित कैंसर और ल्यूकेमिया के कारण 3,940 लोग मरे थे।

    3. कोयले के खान में धूल और गैस का विस्फोट 

    दिनांक: 26 अप्रैल, 1942

    स्थान: बेन्क्सिहू कोलियर, बेन्क्सी लिओनिंग, चीन

    घातक परिणाम: 1,549 लोगो मारे गए थे।

    2. भोपाल गैस त्रासदी (यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड (यूसीआईएल) कीटनाशक संयंत्र)    

    दिनांक: 2-3 दिसंबर, 1984

    स्थान:  भोपाल, मध्य प्रदेश, भारत

    घातक परिणाम: तत्कालीन सरकार ने 3,787 की गैस से मरने वालों के रूप में पुष्टि की थी।

    1. राणा प्लाजा में कई कारखानों वाली एक इमारत का गिरना  

    दिनांक: 24 अप्रैल, 2013

    स्थान:  सावर, बांग्लादेश

    घातक परिणाम: 1,138 श्रमिक मारे गए थे और लगभग 2,500 घायल जिंदा लोगों को बचाया गया था।

    PM2.5 और PM10 क्या है और ये स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करते हैं?

    इतिहास की 10 सबसे खराब औद्योगिक दुर्घटनाएं

    घटनाओं के नाम

    विवरण

    1. राणा प्लाजा में कई कारखानों वाली एक इमारत का गिरना

    दिनांक: 24 अप्रैल, 2013

    स्थान:  सावर, बांग्लादेश

    घातक परिणाम: 1,138 श्रमिक मारे गए थे और लगभग 2,500 घायल जिंदा लोगों को बचाया गया था।

    2. भोपाल गैस त्रासदी (यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड (यूसीआईएल) कीटनाशक संयंत्र)

    दिनांक: 2-3 दिसंबर, 1984

    स्थान:  भोपाल, मध्य प्रदेश, भारत

    घातक परिणाम: तत्कालीन सरकार ने 3,787 की गैस से मरने वालों के रूप में पुष्टि की थी।

    3. एक खान में कोयले की धूल और गैस का विस्फोट

    दिनांक: 26 अप्रैल, 1942

    स्थान: बेन्क्सिहू कोलियर, बेन्क्सी लिओनिंग, चीन

    घातक परिणाम: 1,549 लोगो मारे गए थे।

    4. चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र में एक अनधिकृत परीक्षण के दौरान विस्फोट

    दिनांक: 26 अप्रैल, 1986

    स्थान:  प्रिपिअत, यूक्रेन

    घातक परिणाम: 50 विकिरण के कारण, विकिरण प्रेरित कैंसर और ल्यूकेमिया के कारण 3,940 लोग मरे थे।

    5. एस.एस. ग्रांड कैंप पर 2,300 टन अमोनियम नाइट्रेट के पास आग लगना और विस्फोट होना

    दिनांक: 16 अप्रैल, 1947

    स्थान:  टेक्सास सिटी का बंदरगाह, टेक्सास, संयुक्त राज्य अमेरिका

    घातक परिणाम: 581 लोग मरे थे।

    6. एक तरल पेट्रोलियम गैस टैंक फार्म में विस्फोट

    दिनांक: 19 नवंबर, 1984

    स्थान:   सैन जुआनिको, मेक्सिको

    घातक परिणाम: 500 लोग मरे थे।

    7. कोयला धूल विस्फोट

    दिनांक: 10 मार्च, 1906

    स्थान:  और्रिएर, फ्रांस

    घातक परिणाम: 1,099 लोग मरे थे।

    8. आईसीएमईएसए (रासायनिक विनिर्माण संयंत्र) में से डाइऑक्साइन्स (टीसीडीडी) रिसने या मुक्त करने के कारण तबाही

    दिनांक: 10 जुलाई, 1976

    स्थान:  सेवेसो, इटली

    घातक परिणाम: 3,300 पालतू जानवर मारे गए थे तथा  बाद में 80,000 जानवरों को मार दिया गया था।

    9. एक्सोन वाल्डेज़ द्वारा 260,000 से 750,000 कच्चे तेल के बैरल को समुद्र में गिराना से हुई दुर्घटना

    दिनांक: 24 मार्च, 1989

    स्थान:  प्रिंस विलियम साउंड्स, अलास्का, संयुक्त राज्य अमेरिका

    घातक परिणाम: 100,000 से 250,000 के आस पास समुद्री पक्षी मारे गए थे।

    10. आतिशबाजी भंडारण डिपो पर विस्फोट

    दिनांक: 13 मई, 2000

    स्थान:  एन्सेडे, नीदरलैंड्स

    घातक परिणाम: चार अग्निशामक सहित 23 लोग मारे गए थे, और लगभग 1,000 घायल हो गए थे। कुल 400 घरों को नष्ट हो गए थे तथा 1500 इमारतों को क्षतिग्रस्त हो गयी थी।

    उद्योगों के कारण लोगो को गुणवत्ता वाले उत्पाद सस्ते दामों पर प्राप्त होते जरुर हैं जिससे लोगों के रहन-सहन बदलाव आया है लेकिन वही इन्ही उद्योगों के कारण पर्यावरण संबंधी परेशानियाँ भी होने लगी है।

    क्या आप जानते हैं कि पटाखों का आविष्कार कब और कैसे हुआ?

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...