Search

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में करियर: कोर्स, योग्यता और सैलरी पैकेज

इन्वेस्टमेंट बैंकर्स कंपनियों में इक्विटी सेल या डेब्ट इशू करने के माध्यम से कैपिटल मार्केट्स से पैसा बटोरने या मनी रेज करने में अपने क्लाइंट्स की मदद करते हैं.

Dec 19, 2018 12:42 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Know about Career Options in Investment Banking
Know about Career Options in Investment Banking

क्या आप जानते है कि इन्वेस्टमेंट बैंकर्स दुनिया के सबसे तेज़ी से बढ़ने वाले करियर ऑप्शन्स में से एक है. जी हां! दी जॉब नेटवर्क वेबसाइट के एक सर्वे के अनुसार, इन्वेस्टमेंट बैंकिंग सेक्टर दुनिया में फोर्थ फास्टेस्ट ग्रोइंग करियर ऑप्शन है. पिछले कुछ सालों से इस क्षेत्र में काफी तेज़ी से विकास हुआ है. भारत में भी इन्वेस्टमेंट बैंकिंग सेक्टर में कई नये करियर ऑप्शन्स उभरे हैं. आज हम इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में करियर के बारे में कुछ खास बातें आपसे साझा करेंगे और यह भी समझेंगे कि आखिर क्यों इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में करियर आपके लिए एक उज्जवल भविष्य की नीव बन सकता है?

तो आईये जानते है इन्वेस्टमेंट बैंकिंग सेक्टर से जुड़े करियर ऑप्शन्स और उनके लिए ज़रुरी स्किल्स और क्वालिटीज़ के बारे में!

इन्वेस्टमेंट बैंक कौन-सा बैंक होता है?  

किसी इन्वेस्टमेंट बैंक से आमतौर पर हमारा मतलब किसी ऐसे फाइनेंशियल और बैंकिंग संगठन से होता है जो अपने क्लाइंट्स को फाइनेंशियल और एडवाइजरी बैंकिंग सर्विसेज एक साथ उपलब्ध करवाता है. इसके अलावा, इन्वेस्टमेंट बैंक कमोडिटीज, करेंसी, क्रेडिट और इक्विटीज जैसे फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स से संबद्ध रिसर्च, मार्केटिंग और सेल्स जैसे कामकाज भी देखता है.

भारत में टॉप इन्वेस्टमेंट बैंक्स की लिस्ट निम्नलिखित है:

  • बैंक ऑफ़ अमरीका
  • बार्कलेज कैपिटल
  • बीएनपी परिबास
  • सिटी बैंक
  • क्रेडिट सविसे एजी
  • ड्युटशे बैंक
  • जेपी मॉर्गन
  • कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड
  • दी हॉगकॉन्ग एंड शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड
  • येस बैंक

इन्वेस्टमेंट बैंकर्स कौन से पेशेवर होते हैं?

इन्वेस्टमेंट बैंकर्स कंपनियों में इक्विटी सेल या डेब्ट इशू करने के माध्यम से कैपिटल मार्केट्स से पैसा बटोरने या मनी रेज करने में अपने क्लाइंट्स की मदद करते हैं. इसके अलावा, ये पेशेवर मर्जर्स एंड एक्वीजीशन्स (एम एंड ए) के मामले में अपने क्लाइंट्स की सहायता करते हैं और डेरीवेटिव्स जैसे खास इन्वेस्टमेंट अवसरों पर अपने क्लाइंट्स को फायदेमंद राय देते हैं. वास्तव में, इन्वेस्टमेंट बैंकर्स ऐसे एक्सपर्ट्स या मैनपावर होते हैं जो किसी संगठन की फाइनेंशियल नीड्स के लिए कैपिटल जुटाने के लिए बॉन्ड्स और स्टॉक्स जैसी सिक्योरिटीज के लिए बायर्स की तलाश करते हैं. आसान शब्दों में, ये पेशेवर क्लाइंट्स और इन्वेस्टमेंट बैंक के मध्य एक लायसन ऑफिसर के तौर पर काम करते हैं और सभी क़ानूनी एवं अन्य औपचारिकताओं को अपने एक्सपरटाइज से पूरा करते हैं. एक इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एनालिस्ट के तौर पर शुरू में ये लोग अपने क्लाइंट्स को गोल्स अचीव करने के लिए इफेक्टिव इन्वेस्टमेंट्स करने में सहायता देते हैं. आमतौर पर इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एनालिस्ट्स किसी विशेष फील्ड जैसेकि, हेल्थकेयर में स्पेशलाइजेशन प्राप्त कर लेते हैं और उन कंपनियों पर फोकस करते हैं जो इस फील्ड में कामकाज कर रही हैं.

भारत में कैसे बनें इन्वेस्टमेंट बैंकर?

हमारे देश में इन्वेस्टमेंट बैंकर के पेशे के लिए स्टूडेंट्स या जॉब सीकर कैंडिडेट्स ने बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन या फाइनेंस आदि किसी संबद्ध स्टडी फील्ड में बैचलर डिग्री प्राप्त की हो. कई एम्पलॉयर्स मास्टर डिग्री या एमबीए की डिग्री वाले कैंडिडेट्स को इस पेशे के लिए प्रेफरेंस देते हैं. इस पेशे के लिए कैंडिडेट्स को एकाउंटिंग, रिस्क मार्केट्स, फाइनेंशियल स्टेटमेंट एनालिसिस और फाइनेंशियल मॉडलिंग के बेसिक्स की अच्छी जानकारी और समझ होनी चाहिए. इस पेशे के लिए कैंडिडेट्स बीकॉम या संबद्ध फील्ड में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद भारत में स्थित विभिन्न एकाउंटिंग और फाइनेंस इंस्टीट्यूट्स द्वारा चलाए जा रहे ट्रेनिंग प्रोग्राम्स में शामिल हो सकते हैं. इस फील्ड में अपनी ट्रेनिंग पूरी करने के बाद कैंडिडेट्स फाइनेंस मार्केट में प्रसिद्ध किसी अच्छी कंपनी में इंटर्नशिप कर सकते हैं. इन्वेस्टमेंट बैंकर के पेशे के लिए आपके पास 2 वर्ष या अधिक का वर्क एक्सपीरियंस और संबद्ध स्टडी फील्ड में ग्रेजुएशन की डिग्री अवश्य होनी चाहिए. कुछ वर्षों के अनुभव के बाद कैंडिडेट्स इन्वेस्टमेंट बैंकिंग की फील्ड में अपनी फर्म भी शुरू कर सकते हैं.  

भारत में कैंडिडेट्स इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए जरुरी स्किल सेट

इस पेशे के लिए स्टूडेंट्स और कैंडिडेट्स के पास कॉमर्स स्ट्रीम की एजुकेशनल बैकग्राउंड के अलावा प्रोफेशनल तौर पर पूरा स्किल-सेट होने के साथ ही फाइनेंशियल मार्केट की काफी अच्छी जानकारी और समझ होनी चाहिए. इस पेशे के लिए कैंडिडेट्स में निम्नलिखित स्किल्स अवश्य होने चाहिए:

  • इस पेशे के लिए इन्वेस्टमेंट और फाइनेंस की फ़ील्ड्स में प्रॉब्लम सॉल्विंग और एनालिटिकल स्किल्स सबसे महत्वपूर्ण हैं.  
  • पेशेवर हरेक डिटेल पर पूरा ध्यान दें.
  • टीम ओरिएंटेशन स्किल.
  • बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स ताकि क्लाइंट्स को अपने प्वाइंट्स अच्छी तरह समझा सकें.
  • आकर्षक व्यक्तित्व भी प्लस प्वाइंट साबित होगा इसलिए पर्सनल ग्रूमिंग स्किल्स जरुरी हैं.
  • टाइम मैनेजमेंट के साथ मल्टी-टास्किंग में कुशलता होनी चाहिए.
  • अपने काम के प्रति पॉजिटिव एटीट्यूड हो.

इन्वेस्टमेंट बैंकर के लिए आवश्यक क्वालिफिकेशन्स

हमारे देश में एंट्री लेवल पर इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एनालिस्ट की पोस्ट के लिए केवल बैचलर डिग्री की जरूरत होती है लेकिन अधिकतर इन्वेस्टमेंट बैंकर्स अक्सर हायर डिग्रीज प्राप्त करते हैं और इसलिए, विभिन्न मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) कोर्सेज इन्वेस्टमेंट बैंकर्स के बीच काफी लोकप्रिय हैं. हालांकि, लॉ में ग्रेजुएशन की डिग्री भी इस पेशे के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती हैं. इस पेशे के लिए आवश्यक कुछ हायर एजुकेशनल डिग्रीज निम्नलिखित हैं:

  • मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए)
  • जूरिस डॉक्टर (जेडी), हाईएस्ट लॉ डिग्री
  • फाइनेंस में मास्टर ऑफ़ साइंस (एमएस)

भारत में इन्वेस्टमेंट बैंकर बनने के लिए कितना समय लगता है?

कोई भी स्टूडेंट्स या जॉब सीकर कैंडिडेट अपनी बैचलर डिग्री प्राप्त करने के बाद सीधे इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एनालिस्ट के तौर पर काम कर सकता है लेकिन किसी इन्वेस्टमेंट बैंक में एसोसिएट स्टेटस या इन्वेस्टमेंट बैंकर की पोस्ट के लिए ग्रेजुएशन/ हायर एजुकेशनल डिग्रीज के साथ कम से कम 2 वर्ष या उससे अधिक वर्क एक्सपीरियंस जरुर होना चाहिए.

भारत में इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में करियर प्रोस्पेक्टस

इस फील्ड में अपना करियर शुरू करने के बाद कैंडिडेट्स अपने फैमिली मेम्बर्स, फ्रेंड्स और जान-पहचान के लोगों के साथ मजबूत नेटवर्क कायम करने के बाद काफी तरक्की करते हैं और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एनालिस्ट के तौर पर अपना करियर शुरू करके, इस फील्ड में हायर एजुकेशनल डिग्रीज प्राप्त करने के साथ ही कुछ वर्षों के कार्य अनुभव के बाद एसोसिएट की पोजीशन पर काम करते हैं. फिर संबद्ध बैंक या किसी अन्य बैंक में वाईस प्रेजिडेंट के तौर पर काम करते हैं. विभिन्न एनालिस्ट्स तथा एसोसिएट्स वाईस प्रेजिडेंट के जूनियर्स के तौर पर काम करते हैं. समय बीतने और अनुभव बढ़ने के साथ ये पेशेवर अपने बैंक के डायरेक्टर या प्रिंसिपल के तौर पर काम करते हैं और क्लाइंट्स के साथ कार्य व्यवहार करते हैं. इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में हाईएस्ट लेवल मैनेजिंग डायरेक्टर का है और इस पोस्ट पर पेशेवर अपने बैंक या क्लाइंट कंपनी के लिए बिजनेस लाने के लिए जिम्मेदार होते हैं.    

भारत में इन्वेस्टमेंट बैंकर्स का सैलरी पैकेज

ग्लासडोर.को.इन के मुताबिक, भारत में इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एनालिस्ट की एवरेज सैलरी रु. 902,800/- सालाना होती है. वर्क एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ-साथ सैलरी पैकेज भी बढ़ता जाता है.

जॉब, करियर और कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Stories