ई-शोध सिंधु: कंसोर्टियम फॉर हायर एजुकेशन ई-रिसोर्सेज से करें ई-लर्निंग

ई-शोध सिंधु भारत में स्टूडेंट्स और रिसर्च वर्कर्स को ई-लर्निंग की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए MHRD का एक प्रोजेक्ट है. आप इस पोर्टल का उपयोग अपने सभी रिसर्च प्रोजेक्ट्स  के लिए ई-रिसोर्सेज के माध्यम से गहन जानकारी प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं.

Created On: Mar 26, 2020 18:34 IST
E-Shodh Sindhu:  consortium for Higher Education E Resources
E-Shodh Sindhu: consortium for Higher Education E Resources

आजकल कोविड 19 के कारण दुनिया के अधिकतर देश ‘सोशल-डिस्टेंसिंग’ का तरीका फ़ॉलो कर रहे हैं और भारत सहित दुनिया के कई शहरों में ‘कम्पलीट लॉक डाउन’ है जिसके तहत सरकार द्वारा निर्धारित समय-सीमा तक आप अपने घर से बिलकुल भी बाहर नहीं निकल सकते हैं. भारत के साथ-साथ इन दिनों कई देशों में ‘वर्क फ्रॉम होम’ की तर्ज़ पर ही अब देश-विदेश के एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स और सरकारी विभाग कुछ ऐसे ई-लर्निंग रिसोर्सेज को महत्त्व दे रहे हैं जिससे कोरोना वायरस के चलते स्टूडेंट्स की पढ़ाई का ज्यादा हर्ज न हो और वे अपने घरों या हॉस्टल रूम्स में रहते हुए भी ऑनलाइन लर्निंग का लाभ उठा सकें. इन डिजिटल रिसोर्सेज का इस्तेमाल सभी स्टूडेंट्स, टीचर्स और रिसर्चर्स कर सकते हैं. इस आर्टिकल में हम आपके लिए एक ऐसे ही ई-रिसोर्स का जिक्र कर रहे हैं जिससे आप इन दिनों भी अपने रिसर्च प्रोजेक्ट्स या एक्स्ट्रा स्टडीज़ के लिए के लिए सटीक और गहन जानकारी हासिल कर सकते हैं.

स्वयं पोर्टल: भारत में फ्री ऑनलाइन कोर्सेज के लिए स्टूडेंट्स के लिए है बहुत खास

ई-शोध सिंधु: कंसोर्टियम फॉर हायर एजुकेशन ई-रिसोर्सेज

जी हां! हम बात कर रहे हैं - ई-शोध सिंधु: कंसोर्टियम फॉर हायर एजुकेशन ई-रिसोर्सेज की. भारत सरकार की मिनिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट ने भारत के 3 प्रमुख कंसोर्टियम्स – यूजीसी-इन्फ़ोनेट डिजिटल लाइब्रेरी कंसोर्टियम, एन-लिस्ट और आईएनडीईएसटी – एआईसीटीई कंसोर्टियम को मिलाकर इस ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम को एक हायर एजुकेशन ई-रिसोर्स के तौर पर तैयार किया है. अब आपके मन में यह सवाल जरुर उठ रहा होगा कि आखिर इस कंसोर्टियम से आप कैसे अपनी एकेडमिक फील्ड में फायदा उठा सकते हैं? हम आपकी जानकारी के लिए यहां यह जरुर बताना चाहेंगे कि ई-शोध सिंधु के माध्यम से आप 15 हजार से अधिक लेटेस्ट और आर्काइवल जर्नल्स को अपने कंप्यूटर, लैपटॉप या स्मार्ट फ़ोन्स पर ऑनलाइन ई-लर्निंग के माध्यम से पढ़ सकते हैं. ये जर्नल्स कोर और पीअर-रिव्यूड हैं जिनमें कई किस्म के बिब्लियोग्राफिक्स, साइटेशन और फेक्चूअल डाटाबेसेस को शामिल किया गया है. सबसे अच्छी बात तो यह है कि ई-शोध सिंधु के डाटाबेस में देश के विभिन्न कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज़ और CFTIs में पढ़ाये जाने वाले अधिकतर विषय इन जर्नल्स में समाविष्ट हैं और देश की सुप्रसिद्ध यूनिवर्सिटीज़ और टेक्निकल इंस्टीट्यूशन्स के साथ ही अधिकतर पब्लिशर्स भी ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम में अपना योगदान देते हैं.

ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम: मेम्बरशिप के लिए एलिजिबिलिटी

इस कंसोर्टियम की मेम्बरशिप हासिल करने के लिए वे सभी एकेडमिक इंस्टीट्यूशन्स जैसेकि, यूनिवर्सिटीज़, डीम्ड यूनिवर्सिटीज़, सेंट्रली फंडेड टेक्निकल इंस्टीट्यूट्स (CFTIs), स्टेट यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजेज जो यूजीसी अधिनियम के सेक्शन 2(f) और 12(B) के तहत शामिल हैं, एलिजिबल हैं. अगर इनके अलावा कोई अन्य प्राइवेट यूनिवर्सिटी या इंस्टीट्यूट या गैर - 12(B) ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम की मेम्बरशिप हासिल करना चाहता है तो उन्हें कंसोर्टियम द्वारा निर्धारित रेट्स पर सब्सक्रिप्शन लेनी होगी.

MOOC कोर्सेज: ये कोर्सेज हैं स्टूडेंट्स के लिए काफी महत्वपूर्ण और लोकप्रिय

ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम: प्रमुख विशेषताएं

यहां पेश हैं इस कंसोर्टियम की कुछ विशेषताएं जो इसे एक बहुत उपयोगी हायर एजुकेशनल ई-रिसोर्स बनाती हैं जैसेकि:

  • इस कंसोर्टियम में 13 पब्लिशर्स के 7 हजार से अधिक फुल-टेक्स्ट जर्नल्स हैं.
  • कोरे मेम्बर इंस्टीट्यूशन्स के लिए 4 बिब्लियोग्राफिक डाटाबेस हैं.
  • ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम के कॉलेज संबंधी पार्ट – एन-लिस्ट में 65 सौ से अधिक जर्नल्स और 31,35000 से अधिक ई-बुक्स हैं जो 3 हजार से अधिक कॉलेजों के लिए उपयोगी हैं.
  • यह ऑनलाइन लर्निंग ई-रिसोर्स सभी एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स को सब्सक्रिप्शन के आधार पर ई-बुक्स और ई-जर्नल्स उपलब्ध करवाता है.
  • भारत के मेम्बर यूनिवर्सिटीज़, कॉलेजेज और टेक्निकल इंस्टीट्यूशन्स में जागरूकता और ट्रेनिंग प्रोग्राम्स के माध्यम से ई-रिसोर्सेज के ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल को बढ़ावा देता है.
  • ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम के सब्जेक्ट पोर्टल्स और सब्जेक्ट गेटवेज़ के माध्यम से स्पेशल स्कॉलर बेस्ड कंटेंट मैटर का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम डिजिटल गैप को समाप्त करके समाज और देश में महत्त्वपूर्ण सूचना और जानकारी उपलब्ध करवाता है.
  • नेशनल इलेक्ट्रॉनिक लाइब्रेरी को तैयार करने के लिए यह कंसोर्टियम प्रयास कर रहा है.

ई–लर्निंग: एक सस्ता, सुगम और बेहतर ऑप्शन

अंत में हम यही कहना चाहेंगे कि, भारत भी अब दुनिया की तर्ज़ पर ऑनलाइन/ डिजिटल लर्निंग को बढ़ावा देने के लिए सतत प्रयास कर रहा है और इसी दिशा में MHRD द्वारा हायर एजुकेशनल ई-रिसोर्स के तौर पर शुरू किया गया ई-शोध सिंधु कंसोर्टियम देश के सभी कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज़ और CFTIs के लिए बहुत उपयोगी एक विशेष ई-रिसोर्सेज प्लेटफ़ॉर्म है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

8 + 8 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.