Search

IAS प्रीलिम्स 2017 Cutoff Marks

आईएएस प्रारंभिक परीक्षा के बाद सबसे अधिक चर्चा के विषयों में से एक है आईएएस प्रारंभिक परीक्षा का कटऑफ । आईएएस बनने की इच्छा रखने वाले छात्र और कोचिंग संस्थान आईएएस प्रारंभिक परीक्षा के लिए काल्पनिक कट–ऑफ अंक देना जारी रखे हुए हैं जो वास्तविकता से बिल्कुल अलग है। कट ऑफ अंक प्रश्न पत्र की कठिनता और आईएएस के उम्मीदवारों की तैयारी पर निर्भर करता है।

Apr 27, 2018 15:26 IST
UPSC Civil Services IAS Prelims Cut off 2017

IAS Prelims  2017 अपेक्षित कटऑफ निम्न कारकों पर निर्भर करता है जैसे कि IAS Prelims के प्रश्नोंकी कठिनाई का स्तर, IAS Prelims के  प्रश्नों का रुझान, विषयवार IAS Prelims  के प्रश्नों का ब्रेकअप इत्यादि.हाल ही में यूपीएससी ने IAS Prelims  2016 के कटऑफ के अंक जारी किए थे। इस वर्ष हम यह भी अनुमान लगा सकते हैं कि IAS Prelims  कटऑफ निम्न तालिका के अनुसार रहने की सम्भावना है

IAS Prelims 2017 Answer Key

Jagran Josh Prediction for IAS Prelims 2017 Cut off Marks

   IAS  Prelims        General  Studies

2013 (out of 400)

2014 (Out of 385)

2015(200)

2016(Max 200 m)
Cut Off 2017

General

241

205

107.34

 116

103

OBC(Other Backward Classes)

222

204

106

110.6

102.66

SC(Scheduled Caste)

207

182

94

99.34

 88.66

ST(ScheduledTribes)

201

174

91.34

96.00

 88.66

UPSC ने IAS Exam 2016 के Cutoff मार्क्स आज जारी कर दिए हैं। सामान्य श्रेणी की Cutoff 116.00 मार्क्स है बिलकुल वैसा ही जैसा हमने IAS PRELIMS परीक्षा के बाद ही बता दिया था। UPSC ने हमारी भविष्यवाणी पर आज मुहर लगा दी है।

IAS Prelims 2017 Question Paper Analysis

IAS बनने की इच्छा रखने वाले छात्र और कोचिंग संस्थान IAS प्रारंभिक परीक्षा के लिए काल्पनिक कट–ऑफ अंक देना जारी रखे हुए हैं जो वास्तविकता से बिल्कुल अलग है। कट ऑफ अंक प्रश्न पत्र की कठिनता और IAS के उम्मीदवारों की तैयारी पर निर्भर करता है। औसत तैयारी और पिछले वर्ष के रूझानों के आधार पर हम IAS की प्रारंभिक परीक्षा के विश्लेषण के साथ कटऑफ अंक निकालते हैं।

IAS की प्रारंभिक परीक्षा के सामान्य अध्ययन के प्रश्नपत्र के प्रश्नों की कठिनाई का स्तर मध्यम था और वे बहुत कठिन नहीं थे लेकिन करेंट अफेयर्स के प्रश्नों में पूछे गए विवरण और स्पष्ट जवाब वाले प्रश्नों को ध्यान में रखते हुए IAS की प्रारंभिक परीक्षा के सामान्य अध्ययन का कटऑफ पिछले वर्ष से अधिक है।

IAS की प्रारंभिक परीक्षा 2016 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र : प्रश्नों का विवरण

Serial No

Topics

No of Questions

1

भारतीय राजनीति

5

2

भौगोलिक घटनाएं एवं भारतीय भूगोल

4

3

सामान्य विज्ञान और तकनीक

9

4

पारिस्थितिकी और पर्यावरण

13

5

सामाजिक एवं आर्थिक विकास

13

6

भारत का इतिहास और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम

13

7 कला और संस्कृति 4
8 सरकारी कार्यक्रम+ मिशन+योजनाएं 10

9

करेंट अफेयर्स अफेयर्स और विविध

29


IAS की प्रारंभिक परीक्षा का विश्लेषण

यूपीएससी IAS की प्रारंभिक परीक्षा 2016- 7 अगस्त 2016 को आयोजित की गई थी। IAS की प्रारंभिक परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर– I पहले सत्र में और सामान्य अध्ययन II सीसैट दूसरे सत्र में लिया गया. सही जानकारी और विश्लेषण के साथ परीक्षा की प्रक्रिया को समझना बेहद महत्वपूर्ण है। IAS की प्रारंभिक परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों की संख्या कुल आवेदकों की संख्या का करीब 50 % रहने की प्रवृत्ति रही है।

IAS की प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्न पत्र का विश्लेषण IAS के सभी उम्मीदवारों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह जून 2017 में निर्धारित IAS की प्रारंभिक परीक्षा 2017 की तैयारी में मदद करेगा। यहां IAS की प्रारंभिक परीक्षा के जीएस प्रश्नों का विवरण दिया जा रहा है। प्रत्येक प्रश्न का विस्तृत विवरण आगामी लेखों में दिया जाएगा।

छात्र सामान्य अध्ययन पेपर I और पेपर II के पूर्ण विश्लेषण के बारे में जानने को उत्सुक हैं। हमेशा की तरह सामान्य अध्ययन पेपर I छात्रों के लिए अधिक चौंकाने वाला था क्योंकि इसमें विभिन्न विषयों के स्थायी हिस्सों से पूछे जाने वाले प्रश्नों के ट्रेंड  का पालन नहीं किया गया था और इसमें करेंट अफेयर्स और आर्थिक विषयों के प्रश्न अधिक थे। करेंट अफेयर्स से करीब 48 प्रश्न पूछे गए थे और इन प्रश्नों में से 45 प्रश्न जागरणजोश के करेंट अफेयर्स खंड से थे। आमतौर पर भूगोल से जिस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते थे, वे इस बार नहीं पूछे गए थे।

वैसे उम्मीदवार जिन्होंने कम– से– कम बीते छह महीनों के करेंट अफेयर्स को कवर नहीं किया था, के लिए ये पेपर बहुत कठिन था। सामान्य अध्ययन पेपर I में करीब 48 प्रश्न सिर्फ करेंट अफेयर्स से थे जबकि स्थायी हिस्से से सिर्फ 50 प्रश्न पूछे गए जो IAS की प्रारंभिक परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के पूर्व प्रवृत्ति के मुकाबले बहुत अलग था।
हालांकि, विज्ञान एवं तकनीक, पर्यावरण और पारिस्थितिकी एवं सरकारी योजनाएं और विभिन्न नीतियों पर अच्छी संख्या में प्रश्न पूछे गए थे।

Click here for more updates