Search

जाने एक ऐसे सेल फोन के बारे में जो बिना बैटरी के चलेगा

भारत जैसे देश में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ती जा रही हैं. जब भी हम स्मार्टफोन खरीदने जाते है तो बैटरी को जरुर देखते है क्योंकि एंड्राइड फोन की बैटरी जल्दी ख़त्म हो जाती है. अगर ऐसे में कोई ऐसा सेल फोन का आविष्कार हो जो बिना बैटरी के चले तो काफी फायदे मंद होगा. यह लेख एक ऐसे ही फोन के बारे में जानकारी देगा जो बिना बैटरी के चलेगा, कैसे बिना बैटरी के काम करेगा आदि.
Jul 14, 2017 17:40 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

आजकल सेल फोन के बिना हमारी जिन्दगी अधूरी है. भारत जैसे देश में वर्तमान समय में सेल फोन उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 730.7 मिलियन है, जबकि स्मार्टफोन उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 243.8 मिलियन है. जब कभी हम स्मार्टफोन खरीदने जाते हैं तो सबसे पहले उसकी बैटरी देखते है कि यह कितने mAh की है. बैटरी चाहे कितने भी mAh की हो फिर भी स्मार्टफोन यूज़र्स संतुष्ट नहीं हो पाते है. इसीलिए अब ऐसा सेल फोन बाजार में आने वाला है जो बिना बैटरी के ही चलेगा. आइए देखते हैं कि यह फोन बिना बैटरी के भी कैसे काम करेगा और उसमें ऐसी कौन सी तकनीक का इस्तेमाल होगा, जिसके कारण वह स्काइप से कॉल और अन्य सुविधाएं भी प्रदान करेगा.

Cell phone without battery
Source: www.i.cbc.ca.com
बिना बैटरी के सेल फोन के बारे में

Cell phone with chip
भारतवंशी समेत वैज्ञानिकों के एक  दल ने ऐसे फोन का प्रोटोटाइप विकसित किया है जो बिना बैटरी के काम कर सकता है और इसमें काफी नई तकनीकों का इस्तेमाल किया गया हैं. यह प्रोटोटाइप बेस  फोन फ़ंक्शंस डेटा और बटन के माध्यम से उपयोगकर्ता को इनपुट प्राप्त करने में सक्षम होगा. स्काइप का उपयोग करके, शोधकर्ता इस फोन से इनकमिंग कॉल, डायल आउट और कॉल को होल्ड भी कर पाएंगे. यानी यह बैटरी-फ्री फोन हर तरह के काम करने में सक्षम होगा. अमेरिका स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन के एसोसिएट प्रोफेसर श्याम गोलकोटा ने कहा, 'हमने लगभग शून्य ऊर्जा से चलने वाला फोन बनाया है, जो संभवतअपनी तरह का पहला फोन है‘.

जानें 5G नेटवर्क की विशेषताएं क्या हैं
आइए देखते है बिना बैटरी के सेल फोन काम करेगा कैसे

how mobile work without battery
Source: www.cdn.mobipicker.com
शोधकर्ताओं ने बताया कि जब कोई व्यक्ति फ़ोन पर बात करता है या कॉल को सुनता है तब माइक्रोफोन या स्पीकर में होने वाले कंपन से फोन अपने लिए ऊर्जा जुटाएगा. आवाज को दूसरी ओर भेजने के लिए, इसी कंपन की मदद से ध्वनि को रेडियो संकेतों में बदल देगा और वहीं दूसरी तरफ रेडियो से आने वाले संकेतों को ध्वनि में बदलेगा.
प्रोटोटाइप डिवाइस में, उपयोगकर्ता इन दो 'ट्रांसमिटिंग' और 'लिसनिंग' मोड के बीच के बटन को दबाएंगे स्विच करने के लिए. फिर प्रोटोटाइप बेसिक फोन फ़ंक्शंस जैसे कि भाषण का संचारण, डेटा और बटन के माध्यम से उपयोगकर्ता इनपुट प्राप्त करने में सक्षम होंगे.

क्या आपको पता है, मस्तिष्क में “डिलीट” बटन होता है?

steps of working of phone without battery
Source: www.oscium.com
आप भविष्य में सोच सकते हैं कि सभी सेल टावर या वाई-फाई राउटर (routers) हमारे बेस स्टेशन प्रौद्योगिकी के साथ इसमें एम्बेडेड होंगे और अगर हर घर में वाई-फाई राउटर होगा, तो आप हर जगह बैटरी मुक्त सेल फोन को इस्तेमाल कर सकेंगे. इस फोन को सिर्फ 3.5 मिक्रोवाट उर्जा की आवश्यकता होगी चलने के लिए. यह उर्जा दो जगह से आएगी: एक बेस स्टेशन द्वारा 31 फीट दूर प्रेषित रेडियो सिग्नल से और दूसरी एक छोटे सौर सेल जो कि चावल के अनाज के आकार जितना होगा और यह डिवाइस 50 फीट दूर वाले बेस स्टेशन से संवाद करने में सक्षम होगा.
अंत में यह कहना गलत नहीं होगा कि सेलफोन वह डिवाइस है जिस पर हम ज्यादातर आज निर्भर करते हैं. तो अगर एक उपकरण जिसे आप बैटरी के बिना उपयोग करने में सक्षम होंगे तो  क्यों नहीं करेंगे. यह भविष्य में हर दिन के उपकरणों को प्रभावित भी कर सकता है.

जानें प्लास्टिक से बनीं चीजें कितनी हानिकारक हो सकती है