Search

विश्व के कम्युनिस्ट देशों की सूची

साम्यवाद, कार्ल मार्क्स और फ्रेडरिक एंगेल्स द्वारा प्रतिपादित तथा साम्यवादी घोषणापत्र में वर्णित समाजवाद की चरम परिणति है। कम्युनिस्ट एक ऐसी राजनीतिक और आर्थिक सिद्धांत है जो सरकार की ऐसी प्रणाली की वकालत करता है जहां सभी संपत्ति जनता और सरकार के स्वामित्व हो। इस लेख में हमने विश्व के कम्युनिस्ट देशों की सूची दिया जो पाठकों के सामान्य ज्ञान को बढ़ाने में सहायक होगा।
Aug 8, 2018 17:58 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Communist Countries in the World HN
Communist Countries in the World HN

साम्यवाद, कार्ल मार्क्स और फ्रेडरिक एंगेल्स द्वारा प्रतिपादित तथा साम्यवादी घोषणापत्र में वर्णित समाजवाद की चरम परिणति है। कम्युनिस्ट एक ऐसी राजनीतिक और आर्थिक सिद्धांत है जो सरकार की ऐसी प्रणाली की वकालत करता है जहां सभी संपत्ति जनता और सरकार के स्वामित्व हो।

विश्व के कम्युनिस्ट देश

1. चीन (चीनी जनवादी गणराज्य)

माओ त्सेतुंग ने 1949 में चीन की सत्ता अपने हाथ में ली और देश को पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना रूप में स्थापित किया। इस तरह चीन में एक पार्टी का शासन कायम हुआ जो अब तक जारी है। हालांकि कई आलोचक कहते हैं कि चीन आज पूरी तरह पूंजीवादी रास्ते पर चल रहा है।

यह विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थाई सदस्य भी है। यहाँ की राजनैतिक ढाँचा इस प्रकार है: सबसे ऊपर चीनी साम्यवादी दल और फिर सेना और सरकार।

दुनिया भर में बोली जाने वाली भाषा परिवारों की सूची

2. क्यूबा (क्यूबा गणराज्य)

यह गणतंत्र कैरिबियाई सागर में स्थित एक द्वीपीय देश है जिसकी राजधानी हवाना है। 1959 में फिदेल कास्त्रो के नेतृत्व में क्रांति के पूर्व क्यूबा ने तानाशाही और सर्वाधिकारवादी व्यवस्था से निजात पायी और एक दलीय जनतंत्र की नींव रखी गयी। पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो और वर्तमान राष्ट्रपति रऊल कास्त्रो के नेतृत्व में क्यूबा ने शासन व्यवस्था में समाजवादी पद्धति को अपनाया। यहाँ  की राजनीतिक व्यवस्था अमेरिका सरीखी पूंजीवादी व्यवस्था का प्रतिरोध करती है। यहाँ की नेतृत्व अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य में वामपंथी विचारधारा का पक्षधर रहा है।

3. लाओस (लाओ पीपुल्स डेमोक्रेटिक रिपब्लिक)

इस देश को लाओस जनवादी लोकतान्त्रिक गणतन्त्र भी बोला जाता है जो दक्षिण पूर्व एशिया में स्थित  है। इसकी सीमाएं उत्तर पश्चिम में म्यान्मार और चीन से, पूर्व में कंबोडिया, दक्षिण में वियतनाम और पश्चिम में थाईलैंड से मिलती है। इसे हजार हाथियो की भूमि भी कहा जाता है। वियतनाम और सोवियत संघ के सहयोग से यहाँ 1975 में क्रांति हुई और इस क्रांति ने लाओस के राजनीतिक संरचना के स्वरुप को ही बदल दिया। आज यह देश विश्व के कम्युनिस्ट देशों में से एक है। देश में एक पार्टी वाली शासन व्यवस्था है, लेकिन 2013 वह विश्व व्यापार संगठन का सदस्य बना।

इज़राइल-फिलिस्तीन विवाद और उसका मूल कारण

4. उत्तर कोरिया (डीपीआरके- डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया)

यह पूर्वी एशिया में कोरिया प्रायद्वीप के उत्तर में बसा हुआ देश है जिसको अधिकारिक रूप से कोरिया जनवादी लोकतांत्रिक गणराज्य बोला जाता है। इसकी राजधानी प्योंगयांग है। यह देश विश्व के सबसे चर्चित कम्युनिस्ट गढों में से एक है। किन परिवार के नेतृत्व में 1948 से वर्कर्स पार्टी देश को चला रही है। हालांकि उत्तर कोरिया की सरकार खुद को कम्युनिस्ट नहीं मानती, बल्कि वह किम परिवार की "जूचे" विचारधारा को अपना पथ प्रदर्शक कहती है।

5. वियतनाम (वियतनाम का समाजवादी गणराज्य)

1976 में, यह कम्युनिस्ट देश बना था। यह अन्य कम्युनिस्ट देशों की तरह, वियतनाम हाल ही में बाजार अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ा है। इसलिए हम कह सकते हैं की यह देश कम्युनिस्ट विचारधार को मानता तो जरुर है लेकिन यहाँ पूंजीवाद के निशान भी दिखते हैं।

विश्व के एकमात्र झूलते मठ से जुड़े रोचक तथ्य