Jagran Josh Logo

NTA द्वारा JEE Main और NEET में किये गए बदलावों से विद्यार्थियों को कैसे होगा फायदा?

Aug 16, 2018 16:08 IST
    Changes introduced by NTA in JEE Main and NEET 2019
    Changes introduced by NTA in JEE Main and NEET 2019

    प्रत्येक वर्ष लाखों विद्यार्थी Joint Entrance Examination Main (JEE Main) और National Eligibility and Entrance Test (NEET) जैसी देश की दो मुख्य राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षाओं में अपनी किस्मत अजमाते हैं. JEE Main की परीक्षा प्रमुख इंजीनियरिंग कॉलेज जैसे राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NITs), भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (IIITs) और केंद्र सरकार/राज्य सरकार वित्त पोषित संस्थान (GFTIs) में विद्यार्थियों को दाखिला देने के लिए कंडक्ट की जाती थी. वहीँ दूसरी और विद्यार्थी NEET की परीक्षा को क्रैक कर सरकारी मेडिकल कॉलेजों में मेडिकल की पढ़ाई कर सकते हैं. अब तक ये परीक्षाएँ केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा साल में एक बार कंडक्ट की जाती थी, लेकिन JEE Main और NEET 2019 की परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा कंडक्ट की जायेगी. अधिकतर विद्यार्थी NTA द्वारा JEE Main और NEET की परीक्षा में किये गये बदलावों को लेकर कन्फ्यूज्ड हैं.

    आज हम इस लेख में NTA द्वारा JEE Main और NEET की परीक्षा में किये गए सभी बदलावों के बारे में विस्तार से बताएँगे. इसके साथ-साथ हम विद्यार्थियों को यह भी बताएँगे कि वो कैसे इन बदलावों से फायदा उठा सकते हैं.

    जानिये क्यों लेनी चाहिए JEE और NEET की तैयारी के लिए आपको भी ऑनलाइन क्लासेज?

    1. JEE Main और NEET की परीक्षा साल में दो बार होगी:

    NTA द्वारा JEE Main और NEET की परीक्षा अब साल में दो बार आयोजित की जायेगी. अगर कोई विद्यार्थी किसी कारणवश पहली परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता या फिर वह परीक्षा में शामिल नहीं हो पाता, तो वह फिर से परीक्षा में शामिल हो कर अच्छे मार्क्स ला सकता है. विद्यार्थी अपनी सुविधानुसार किसी एक या दोनों सत्र में शामिल हो सकता है. रैंक सूची तैयार करने के लिए दोनों परीक्षाओं में से सर्वश्रेष्ठ स्कोर लिया जाएगा. दोनों परीक्षाओं को सफलता पूर्वक कंडक्ट किये जाने के बाद ही काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू की जायेगी.

    2. JEE Main और NEET की परीक्षा 8 Sittings में होगी:

    इस वर्ष NTA द्वारा JEE Main और NEET की परीक्षा 8 sittings में कंडक्ट की जायेगी. विद्यार्थी अपनी सुविधा अनुसार कोई भी sitting चुन सकते हैं. JEE Main और NEET की परीक्षा का Tentative Schedule कुछ इस प्रकार है.

    Events

    JEE Main 2019

    NEET 2019

    Jan

    April

    Feb

    May

    Online Submission of Application forms

    Sep 1 to Sep 30, 2018

    2nd week of Feb

    Oct 1 to Oct 31, 2018

    2nd week of Mar 2019

    Dates of examinations (8 Sittings)

    Jan 6 to Jan 20, 2019

    April 7 to April 21, 2019

    Feb 3 to Feb 17, 2019

    May 12 to May 26, 2019

    Declaration of results

    1st week of Feb 2019

    1st week of May 2019

    1st week of Mar 2019

    1st week of June 2019

      Related Video: कैसे चुनें JEE और NEET के लिए बेस्ट कोचिंग?

    3. ऑनलाइन (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट) परीक्षा:

    ऑफलाइन परीक्षा में विद्यार्थियों को OMR sheet में bubbles पेन से भरने पड़ते थे, जिससे विकल्प को बदलना असंभव होता था. इसके कारण विद्यार्थियों का प्रश्न तो गलत होता ही था साथ ही साथ नेगेटिव मार्किंग के कारण उनके मार्क्स भी कम हो जाते थे. इस वर्ष JEE Main और NEET की परीक्षा ऑनलाइन (कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम) तरीके से कंडक्ट की जायेगी. ऑनलाइन परीक्षा में विद्यार्थी अपना विकल्प बदल सकते हैं.

    4. यूनिक (Unique) प्रश्न पत्र:

    NTA के अनुसार JEE Main और NEET 2019 की परीक्षा में शामिल होने वाले प्रत्येक उम्मीदवार को एक यूनिक प्रश्न पत्र दिया जाएगा. जिससे विद्यार्थियों को पुराने प्रश्न पत्रों पर निर्भर नहीं करना पड़ेगा और सभी विद्यार्थी अपने द्वारा की गयी पढ़ाई के आधार पर ही प्रश्न पत्र हल कर पायेंगे और उनके लिए परीक्षा में चीटिंग करना भी असंभव होगा.

    5. कंप्यूटर प्रैक्टिस सेंटर और मोबाइल एप्लीकेशन:

    NTA द्वारा JEE Main और NEET 2019 की परीक्षा के लिए 3000 कंप्यूटर अभ्यास केंद्र स्थापित किये जा रहे हैं, ताकि छात्र मुफ्त में वहां अभ्यास कर सकें और कंप्यूटर आधारित परीक्षण से परिचित हो सकें। इसके साथ-साथ NTA मोबाइल एप्लिकेशन भी लॉन्च करने जा रही है जिसके माध्यम से छात्र आसानी से केंद्रों का पता लगा सकते हैं और खुद को पंजीकृत कर सकते हैं.

    6. सिलेबस, एग्जाम पैटर्न और भाषा में कोई बदलाव नहीं होगा:

    NTA द्वारा यह भी घोषित किया गया है कि JEE Main और NEET 2019 की परीक्षा में सिलेबस, एग्जाम पैटर्न और प्रश्न पत्र की भाषा पिछले वर्ष की तरह ही होगी. जिन विद्यार्थियों ने JEE Main और NEET 2018 की परीक्षा में अच्छे मार्क्स नहीं आने के कारण एक वर्ष का ड्राप किया है वो इस वर्ष की परीक्षा की तैयारी पिछले वर्ष के सिलेबस और एग्जाम पैटर्न के आधार पर कर सकते हैं.

    इंजीनियरिंग या मेडिकल: एक छात्र के लिए बेहतर करियर विकल्प क्या है?

    DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

    Commented

      Latest Videos

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      Newsletter Signup
      Follow us on
      This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
      X

      Register to view Complete PDF