Search

भारत में फैशन डिजाइनिंग की फील्ड में भी हैं आकर्षक करियर ऑप्शन्स

अगर आपका फैशन और इसके मॉडर्न ट्रेंड्स में गहरा इंटरेस्ट है तो आप भारत में फैशन डिजाइनिंग की फील्ड में अपना करियर शुरू कर सकते हैं. यहां आपके लिए कुछ बहरीन और आकर्षक करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. रोचक जानकारी हासिल करने के लिए यह आर्टिकल आगे पढ़ें......

Aug 8, 2019 14:47 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Lucrative Career Options in Fashion Designing in India
Lucrative Career Options in Fashion Designing in India

भारत की फैशन इंडस्ट्री या फैशन मार्केट का साइज़ 20 हजार करोड़ रुपये के आस-पास है जो विश्व फैशन बाजार का लगभग 0.3% है. हमारे देश में फैशन इंडस्ट्री में करियर शुरू करने के नाम पर अक्सर अधिकतर लोगों की आंखों के सामने किसी फैशन डिजाइनर या कैटवॉक करती हुई किसी मॉडल का चेहरा आ जाता है. असल में, हम सभी फैशन की दुनिया से काफी प्रभावित हैं और अगर हम किसी भी रूप में फैशन की दुनिया से जुड़ते हैं तो हमें काफी ख़ुशी होती है. इस फील्ड में अब बैक स्टेज पर काम करने वाले फैशन प्रोफेशनल्स की डिमांड लगातार बढ़ती ही जा रही है. हमारे देश के युवाओं के लिए फैशन स्टाइलिंग, फोटोग्राफी, ब्रांडिंग, प्रमोशन, गार्मेट मैन्युफैक्चरिंग, मर्चेडाइजिंग, कंसल्टिंग, फैशन इवेंट मैनेजर्स जैसे कई करियर ऑप्शंस आजकल फैशन डिजाइनिंग की फील्ड में उपलब्ध हैं. भारत के फैशन वर्ल्ड के कुछ जाने-माने फैशन डिज़ाइनर्स के नामों के जिक्र के साथ-साथ कुछ अन्य खास करियर ऑप्शन्स पर इस आर्टिकल में जानकारी दी जा रही है. आइए आगे पढ़ें:

क्या है फैशन डिजाइनिंग?

फैशन डिजाइनिंग अनके किस्म के कपड़ों, रंगों और ट्रेंड्स का इस्तेमाल करके कई किस्म के स्टाइल्स तैयार करने की आर्ट है ताकि ऐसे कपड़े तैयार किये जा सकें जो किसी खास टाइम के फैशन स्टाइल्स को दर्शा सकें. फैशन डिजाइनिंग की आर्ट केवल कपड़ों की डिजाइनिंग तक ही सीमित नहीं है, इसमें एक्सेसरीज की डिजाइनिंग भी शामिल है. उदाहरण के लिए, जब कोई सेलिब्रिटी महिला एक डिज़ाइनर वियर पहनती है तो डिज़ाइनर का काम उस ड्रेस से संबंधित हैंडबैग, फुटवियर या अन्य एक्सेसरीज चुनना भी होता है जो वह सेलिब्रिटी उस डिज़ाइनर वियर के साथ यूज़ करेगी.

फैशन डिजाइनिंग की फील्ड में भारत के टॉप ब्रांड्स

  • रेमंड लिमिटेड
  • विमल फैशन
  • आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल
  • वर्द्धमान ग्रुप
  • अरविन्द लिमिटेड
  • एलन सोले
  • लेविस
  • पार्क एवेन्यु 
  • पेपे जीन्स
  • ली

भारत में फैशन डिज़ाइनिंग की फील्ड में करियर बनाने के लिए जरुरी स्किल्स

इस फील्ड में अपना कोई भी करियर शुरू करने के लिए या फिर एक सफल फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए आपको देश और दुनिया के लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की अप-टू-डेट जानकारी होनी चाहिए. एक फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए आवश्यक कुछ जरुरी स्किल्स निम्नलिखित हैं:

• देश-विदेश के लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स में गहरी दिलचस्पी

• क्रिएटिव और आर्टिस्टिक थिंकिंग

• बेहतरीन ड्राइंग स्किल

• अच्छे टैलेंट के साथ बेहतरीन विज्युअलाइजेशन स्किल्स

• टेक्सचर, कपड़े, रंग आदि की अच्छी समझ

• कॉम्पीटीटिव स्पिरिट

• अच्छे कम्युनिकेशन स्किल्स और टीम के साथ काम करने में सक्षम हों.

भारत में फैशन डिजाइनिंग की फील्ड में करियर बनाने के लिए जरुरी एकेडेमिक क्वालिफिकेशन्स

  • डिप्लोमा लेवल कोर्सेज: कैंडिडेट्स ने किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से किसी भी विषय में 12वीं क्लास का एग्जाम पास किया हो.
  • अंडरग्रेजुएट लेवल कोर्सेज: कैंडिडेट्स ने किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास का एग्जाम पास किया हो या इसके समकक्ष कोई अन्य योग्यता प्राप्त की हो.
  • पोस्टग्रेजुएट लेवल कोर्सेज: कैंडिडेट्स ने किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से कम से कम 45% कुल मार्क्स के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की हो या कोई अन्य समान क्वालिफिकेशन हो.

भारत के प्रमुख फैशन डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट्स

• नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी (एनआईएफटी)

• नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ डिजाइन (एनआईडी)

• इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (आईआईएफटी)

• इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ टैक्नोलॉजी, बॉम्बे

• जेडीडी इंस्टीट्यूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली

• आईईसी स्कूल ऑफ आर्ट एंड फैशन, नई दिल्ली

• इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ आर्ट एंड फैशन टेक्नोलॉजी (आईआईएएफटी)

भारत में फैशन डिज़ाइनिग की फील्ड से जुड़े ये हैं कुछ खास जॉब प्रोफाइल्स/ करियर ऑप्शन्स

हमारे देश में आजकल फैशन डिजाइनिंग की फील्ड में कई आकर्षक करियर ऑप्शन्स है. दरअसल, फैशन डिज़ाइनर्स भी किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं होते हैं और उनके भी अपने कई प्रशंसक/ फेंस होते हैं. फैशन डिज़ाइनर्स के लिए कुछ आकर्षक जॉब प्रोफाइल्स निम्नलिखित हैं:

  • फैशन एंटरप्रिन्योर
  • फैशन डायरेक्टर/ फैशन कोऑर्डिनेटर
  • फैशन जर्नलिस्ट/ राइटर/ क्रिटिक
  • पैटर्न मेकर/ कॉस्टयूम डिज़ाइनर
  • फैशन फोटोग्राफर
  • फैशन डिजाइनर
  • फैशन मार्केटेटर
  • फैशन कॉन्सेप्ट मार्केटर
  • क्वालिटी कंट्रोलर
  • फैशन कंसलटेंट/ पर्सनल स्टाइलिस्ट
  • फैशन शो आर्गेनाइजर्स
  • टेक्निकल डिजाइनर

आइये अब फैशन डिजाइनिंग की फील्ड के कुछ प्रमुख करियर्स की कुछ विस्तार से चर्चा करें:

फैशन एंटरप्रिन्योर

आजकल फैशन एंटरप्रिन्योर बनने के लिए किसी खास एजुकेशनल क्वालिफिकेशन की जरूरत नहीं है. फैशन की दुनिया में कैंडिडेट को केवल लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की अच्छी जानकारी और समझ, विजुअलाइजेशन और इमैजिनेशन कौशल, टेक्नोलॉजी स्किल, इनोवेशन, मार्केटिंग सेंस और ऑनलाइन बिजनेस की जानकारी होनी चाहिए. ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में फैशन एंटरप्रिन्योर के रूप में अपने करियर की शुरुआत करना आपके लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है, लेकिन एक बार फैशन की दुनिया और फैशन मार्केट में आपकी अपनी पहचान बन जाने के बाद आप 15 – 20 लाख रुपये तक  सालाना या इससे अधिक भी कमा लेंगे.

फैशन डायरेक्टर/ फैशन कोऑर्डिनेटर

इस पेशे के लिए कैंडिडेट्स को पुराने, मौजूदा और लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की अच्छी जानकारी होनी चाहिए. वास्तव में फैशन डायरेक्टर्स विभिन्न फैशन प्रोजेक्ट्स और इवेंट्स को मैनेज, कोआर्डिनेट और प्रमोट करते हैं. ये पेशेवर फैशन डिज़ाइन डिपार्टमेंट के सभी कामों की देख-रेख करते हैं और किसी विशेष फैशन लाइन के मुताबिक विभिन्न फैशन प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग और प्रमोशन से संबंधित सभी कार्य करते हैं. इस पेशे के लिए कैंडिडेट्स के पास फैशन की फील्ड से संबद्ध ग्रेजुएशन और पोस्टग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए. एक क्वालिफाइड, अनुभवी, काबिल और स्किल्ड फैशन कोऑर्डिनेटर ही फैशन डायरेक्टर की पोस्ट पर काम कर सकता है क्योंकि फैशन डायरेक्टर की पोस्ट पर भर्तियां काफी सीमित होती हैं. हमारे देश में फैशन डायरेक्टर्स को 28 लाख रुपये और इससे अधिक का सैलरी पैकेज मिलता है. ये पेशेवर विभिन्न डिज़ाइन हाउसेज, डिपार्टमेंट स्टोर्स, फैशन बुटीक और बड़ी फैशन डिजाइन फर्म्स में काम कर सकते हैं.

फैशन राइटर/ जर्नलिस्ट/ क्रिटिक 

ये पेशेवर फैशन मैगजीन्स, न्यूज़पेपर्स, फैशन वेबसाइट्स के लिए फैशन से संबंधित आर्टिकल्स, एडिटोरियल्स, फैशन रिव्युज और ब्लॉग लिखते हैं. ये पेशेवर अक्सर फैशन फोटोग्राफर्स के साथ मिलकर अपने प्रोजेक्ट्स पूरे करते हैं. अधिकांश फैशन राइटर्स विभिन्न फैशन डिज़ाइन फर्म्स के एडिटोरियल डिपार्टमेंट्स में काम करते हैं. इस फील्ड में फ्रीलांसिंग में भी काफी बढ़िया स्कोप है. ये पेशेवर समय रिसर्च, भारत और विदेशों में फैशन के लेटेस्ट ट्रेंड्स तथा विभिन्न फैशन आइकॉन्स से इंटरव्यू लेकर अपने आर्टिकल तैयार करते हैं. एक फैशन क्रिटिक के तौर पर ये पेशेवर लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स के बारे में अपने और विभिन्न सेलिब्रिटीज या फैशन आइकॉन्स के विचार पेश करके संबंधित फैशन ट्रेंड्स की अच्छी तरह पड़ताल करते हैं जैसेकि, फलां फैशन आइटम कितना आकर्षक, कम्फर्टेबल और किफायती या महंगा है? लोग किस फैशन ट्रेंड को फ़ॉलो कर रहे हैं? फैशन रिपोर्टर्स आमतौर पर हमारे लिए मौसम के मुताबिक लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की फैशन रिपोर्ट तैयार करते हैं. हमारे देश में शुरू में किसी फैशन राइटर/ जर्नलिस्ट को 2.5 लाख से 3.5 लाख रुपये तक का सालाना सैलरी पैकेज मिलता है. फैशन की दुनिया में आपकी लोकप्रियता और कार्य अनुभव बढ़ने के साथ ही आपके सैलरी पैकेज में भी इजाफ़ा होता रहता है.    

पैटर्न मेकर/ कॉस्ट्यूम डिजाइनर

फैशन की दुनिया में पैटर्न मेकर्स ऐसे पेशेवर होते हैं जो शर्ट्स, शूज, चेयर्स या प्लास्टिक कंटेनर्स आदि के लिए बेसिक पैटर्न या डिज़ाइन तैयार करते हैं. कपड़ा इंडस्ट्री के साथ ही ये पेशेवर फर्नीचर और होम बिल्डिंग इंडस्ट्रीज में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं. इस पेशे के लिए न्यूनतम एजुकेशनल क्वालिफिकेशन किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से डिज़ाइन या संबद्ध फील्ड में ग्रेजुएशन की डिग्री है. इस पेशे के लिए जियोमेट्रिक कॉन्सेप्ट्स की अच्छी जानकारी, कंप्यूटर स्किल्स और इलस्ट्रेटर जैसे सॉफ्टवेयर की जानकारी आजकल जरुरी स्किलसेट में शामिल हो गई है. ये पेशेवर अपने प्रोडक्ट्स के ब्लूप्रिंट और क्लाइंट्स की जरूरतों को समझ कर फैशन से संबंधित विभिन्न पैटर्न्स के बेसिक डिज़ाइन्स तैयार करते हैं. फिर अपने प्रोडक्ट के साइज़ के मुताबिक अपने पैटर्न के डिटेल लिखते हैं. हमारे देश में शुरू में इन पेशेवरों को 15 हजार – 25 हजार रुपये मासिक सैलरी मिलती है जो कार्य अनुभव के अनुसार बढ़ती जाती है.

इस पेशे के लिए क्रिएटिविटी पहली शर्त है. इसके अलावा कैंडिडेट के पास कलर्स, पैटर्न्स और टेक्सचर्स के संबंध में काबिलियत होनी चाहिए ताकि वे लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स के मुताबिक कॉस्ट्यूम्स डिजाइन कर सकें. इन पेशेवरों को थ्री डायमेंशनल फॉर्म्स में ड्राइंग्स तैयार करनी आनी चाहिए. ये पेशेवर अपने स्केच से कपड़ा या कॉस्ट्यूम सिलने में भी माहिर हों. इन पेशेवरों के पास फैशन, क्लोथिंग और फैशन के लेटेस्ट नेशनल और इंटरनेशनल ट्रेंड्स की अच्छी जानकारी होने के साथ ही फैशन की दुनिया के प्रति काफी इंटरेस्ट भी होना चाहिए तभी ये लोग अपने काम में सफल हो सकते हैं. आमतौर पर ये पेशेवर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक अर्थात ऑफिस के माहौल में अपना काम करते हैं. लेकिन इन लोगों के पास पार्ट टाइम जॉब का ऑप्शन भी मौजूद रहता है. हमारे देश में इन पेशेवरों को एवरेज 1.2 लाख – 6.9 लाख रुपये तक का सालाना सैलरी पैकेज मिलता है.

फैशन फोटोग्राफर

जिन लोगों को फैशन के साथ ही फोटोग्राफी का भी शौक होता हैं, उनके लिए यह करियर ऑप्शन एक परफेक्ट करियर च्वाइस है. फैशन फोटोग्राफर्स किसी एक फैशन फर्म के साथ अनेक फर्म्स के लिए काम कर सकते हैं. इस पेशे में फ्रीलांसिंग फैशन प्रोजेक्ट्स की भी अच्छी संभावना है. ये पेशेवर फैशन राइटर्स/ जर्नलिस्ट्स के साथ मिलकर इस फील्ड में काफी महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स पूरे कर सकते हैं. फैशन की दुनिया में रचनात्मक और प्रभावी फैशन फोटोग्राफ्स से न केवल विभिन्न फैशन प्रोडक्ट्स की लोकप्रियता ही बढ़ती है बल्कि कस्टमर्स भी इन फैशन फोटोग्राफ्स के प्रभाव में आकर विभिन्न फैशन प्रोडक्ट्स खरीदने के लिए प्रेरित होते हैं. इस फील्ड में पेशेवरों को आमतौर पर 40 हजार – 80 हजार रुपये प्रति माह का सैलरी पैकेज मिलता है. इस फील्ड में अपनी पहचान बना लेने के बाद फैशन फोटोग्राफर्स 1.4 करोड़ रु. सालाना तक कमा सकते हैं. इस पेशे की एक खास बात यह भी है कि फैशन फोटोग्राफर्स अपने काम के सिलसिले में देश-विदेश में ट्रेवलिंग का लुत्फ़ उठाते हैं.  

फैशन डिज़ाइनर

फैशन डिजाइनिंग की फ़ील्ड में फैशन डिज़ाइनर का पेशा किसी परिचय का मोहताज नहीं है. हमारे देश के टॉप फैशन डिज़ाइनर्स सब्यसाची मुखर्जी, ऋतू कुमार, तरुण तहिलियनी, रोहित बाल, ऋतू बेरी, संदीप खोसला, मसाबा और मनीष मल्होत्रा आदि ने अपने काम के माध्यम से नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर अपनी खास पहचान बनाई है. इनका मुख्य काम क्लोथिंग, फुटवियर, ज्वैलरी और एक्सेसरीज़ के ऑरिजिनल डिज़ाइन्स तैयार करना होता है. हमारे देश में किसी फैशन डिज़ाइनर को एवरेज 650 रुपये प्रति घंटा मिलते हैं और कुछ वर्षों के अनुभव वाले किसी फैशन डिज़ाइनर को आमतौर पर 3.84 लाख रुपये तक सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है. अपना फैशन आउटलेट, बुटीक या कारोबार करने पर इन प्रोफेशनल की अधिकतम कमाई की सीमा निर्धारित नहीं की जा सकती है.    

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटी, के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

Related Categories

Related Stories