जानिए SBI ब्रांच मेनेजर की जॉब प्रोफ़ाइल और जिम्मेदारियां

एसबीआई भारत का सबसे बड़ा वाणिज्यिक बैंक है, देश भर में इसकी कई शाखाएं हैं। जब आपको एसबीआई और मेट्रो शहर में शाखा प्रबंधक के रूप में तैनात किया जाता है, तो आपको एक साथ कई कार्य करना पड़ता है।

SBI Branch Manager: Job responsibilities and duties in Metro City
SBI Branch Manager: Job responsibilities and duties in Metro City

जब भी हम किसी मेट्रो शहर में एसबीआई शाखा में जाते हैं, हम देखते है कि शाखा प्रबंधक जिसका अलग से केबिन होता है, वह हमेशा किसी काम में व्यस्त रहता है। यहां हम मेट्रो शहर में एसबीआई के एक शाखा प्रबंधक की जॉब प्रोफ़ाइल के बारे में जानने का प्रयास करेंगे।

आरबीआई असिस्टेंट: वेतन, भत्ते व अन्य सुविधाएं

एक मेट्रो शहर में एसबीआई शाखा प्रबंधक के कार्य

एसबीआई की मेट्रो शाखा में तैनात होने के कारण आपको महानगरों के विविध प्रकार के ग्राहकों से रोजाना डील करना पड़ता है। आइये जाने मेट्रो शहर में एसबीआई शाखा प्रबंधक के रूप में आपकी क्या ज़िम्मेदारिया होती है-

  • शाखा का सुचारु कामकाज सुनिश्चित करना: आम तौर पर मेट्रो शहरों में ग्रामीण इलाको की तुलना में बैंक शाखाएं बड़ी होती है और स्टाफ भी संख्या में ज्यादा होता है। सभी स्टाफ सदस्यों के साथ ठीक से समन्वय करना शाखा प्रबंधक के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। बैंक का शाखा प्रबंधक अपने पर्यवेक्षण के अन्दर कर्मचारियों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है।
  • बिसनेस लाना: एक मेट्रो शहर में, सभी प्रकार के बैंक अर्थात प्राइवेट, सरकारी आदि मौजूद होते हैं और इसलिए, शाखा प्रबंधक को यह सुनिश्चित करना होता है कि ग्राहक अन्य बैंक के बजाय उसके बैंक को वरीयता दे। इसका मतलब है, उन्हें मौजूदा ग्राहकों को बनाए रखना होगा और साथ ही साथ नए ग्राहकों को के लिए विभिन्न प्रकार की सुविधाए भी देनी होंगी जो उन्हें अन्य बैंक से न मिलती हो।
  •  सबसे अच्छी ग्राहक सेवा प्रदान करना: शाखा प्रबंधक को यह भी सुनिश्चित करना होता है कि उसके स्टाफ के सदस्य ग्राहकों के साथ सही तरीके से व्यवहार करे क्योंकि आज के प्रतिस्पर्धी बैंकिंग क्षेत्र में यह सबसे अधिक महत्वपूर्ण है कि बैंक के ग्राहक बैंक की सर्विस से पूर्णता संतुष्ट हो।

आरबीआई असिस्टेंट की जॉब प्रोफाइल और प्रोमोशन पॉलिसी

  • उच्च अधिकारियों के साथ समन्वय: शाखा प्रबंधक बैंक के उच्च अधिकारियों के लिए कांटेक्ट पर्सन होता  है और यही वजह है कि, वह शाखा में होने वाली हर चीज के लिए उत्तरदायी है। इसके अलावा, शाखा के लिए आवश्यक सामग्री आदि के लिए मैनेजमेंट से स्वीकृत कराना शाखा प्रबंधक की ज़िम्मेदारी होती है।
  • अनुपालन नियमों का पालन करना: बैंकिग नियमो का अनुपालन और समय-समय पर RBI द्वारा जारी किये गये दिशानिर्देश शाखा में ठीक तरीके से लागू हो यह ज़िम्मेदारी भी शाखा प्रबंधक की होती है।
  •  लोन रिकवरी: आजकल बैंकिंग क्षेत्र में बैड लोन (bad loans) एक बहुत बड़ी समस्या है। बैड लोन की वसूली करना भी  क्रेडिट अधिकारी और शाखा प्रबंधक की ही ज़िम्मेदारी होती है।
  • विविध क्लाइंट्स को संभालना: मेट्रो शहर में, आमतौर पर बैंक को विदेशी मुद्रा व्यापार(forex business), प्रेषण सेवाओं (remittance services) आदि जैसी बहुत सारी चीजों से डील करना पड़ता हैं। हलाकि इन कार्यो के लिए शाखा प्रबंधक के पास अधिकारी होते हैं लेकिन इन कार्यो की भी अंतिम जिम्मेदारी शाखा प्रबंधक की होती है।

NABARD Assistant Manager Grade ‘A’ Exam: Previous Year Question Paper

  • टारगेट पूरा करना: हालांकि आम तौर मैनेजमेंट द्वारा पूरे शाखा के लिए टारगेट दिया जाता है, लेकिन टारगेट समय पर पूरा हो यह सुनिश्चित करना शाखा प्रबंधक की जिम्मेदारी होती है।  यदि लक्ष्य पूरा न हो, उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि लक्ष्य पूरा करने के लिए सभी स्टाफ सदस्य टारगेट पूरा करने के लिए अपनी क्षमताओं के अनुसार सर्वश्रेष्ठ काम कर रहे या नहीं। उनसे अधिकतम  उत्पादन प्राप्त करने के लिए उन्हें अपने कर्मचारियों को सर्वोत्तम संभव तरीके से प्रबंधित करना है।

शाखा प्रबंधक को हर तरह की समस्याओ का सामना करना पड़ता है अतः उसे किसी भी समस्या के साथ निपटने के लिए पर्याप्त स्मार्ट होना चाहिए।

क्या सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अपने कर्मचारियों के साथ लाभ का साझा करते हैं?

IBPS PO परीक्षा 2017: अंग्रेजी में बेहतर अंक कैसे स्कोर करें?

Related Categories

    Jagran Play
    खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
    Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

    Related Stories