जॉब इंटरव्यू के जीडी राउंड में सफल होने की अद्भुत तरकीब

समूह चर्चा सबसे महत्वपूर्ण चरण है जिसे उम्मीदवार चयन प्रक्रिया में एक कसौटी के रूप में माना जाता है. चयन के लिए हर जॉब सीकर्स को इस कसौटी पर खरा उतरने की जरूरत है.

Tips to ace Group Discussion Round in a Job Interview
Tips to ace Group Discussion Round in a Job Interview

समूह चर्चा सबसे महत्वपूर्ण चरण है जिसे उम्मीदवार चयन प्रक्रिया में एक कसौटी के रूप में माना जाता है. चयन के लिए हर जॉब सीकर्स को इस कसौटी पर खरा उतरने की जरूरत है.

दरअसल समूह चर्चाओं के लिए नियोक्ताओं द्वारा तय किए गए मानक कंपनियों की वास्तविक आवश्यकताओं पर आधारित होते हैं और जो लोग कंपनियों की आवश्यकताओं को पूरा करने में विफल होते हैं,वे अन्य चयन प्रक्रिया में रिजेक्शन का सामना करते हैं. वास्तव में जीडी एक ऐसा चरण है जिसमें बड़ी संख्या में आवेदकों के  प्रदर्शन का आकलन एक साथ किया जाता है और जो इस चरण को उत्तीर्ण नहीं कर पाते उन्हें कैंडिडेट सेलेक्शन के अन्य प्रोसेस से निकाल दिया जाता हैं.

अगर आप भी किसी समूह चर्चा में शामिल होने जा रहे हैं और इसमें किस भी तरह से अच्छा प्रदर्शन देना चाहते हैं,तो इस लेख में दिए गए सुझावों का पालन करें.

जीडी के टॉपिक को समझें

जीडी के टॉपिक की अच्छी समझ किसी भी ग्रुप डिस्कशन में सेलेक्टर्स को प्रभावित करने में आपकी मदद कर सकती है. सामान्यतया, किसी कॉर्पोरेट कंपनी के जॉब इंटरव्यू में जीडी का टॉपिक कंपनी के हितों से सम्बंधित हो सकते हैं. जैसे कि किसी ख़राब छवि वाली कॉर्पोरेट कंपनी के जॉब इंटरव्यू ग्रुप डिस्कशन में कुछ इस तरह का टॉपिक हो सकता हैं कि अपनी खोयी हुई विश्वसनीयता किस तरह से पुनः पायी जा सकती है. जबकि एक अच्छी छवि वाली कंपनी में यह बिज़नेस ग्रोथ पर केन्द्रित हो सकता है. विषय की अच्छी समझ से  इन दोनों स्थितियों से निपटने के प्रभावशाली और रचनात्मक उपाय खोजने और सुझाने में मदद मिल सकती है. यदि आप किसी ख़राब छवि वाली कंपनी के ग्रुप डिस्कशन में हैं तो विश्वसनीयता पाने के प्रभावशाली और रचनात्मक तरीके खोज सकते है जबकि एक अच्छी व कंपनी को उसके बिज़नेस ग्रोथ के लिए नए रचनात्मक तरीके सुझा सकते हैं.

जीडी के मापदंडों को समझें

जीडी के टॉपिक की समझ के बाद जो सबसे महत्वपूर्ण बात जीडी में आपके प्रदर्शन को प्रभावित कर सकती हैं वह यह हैं कि सेलेक्टर्स ने जीडी में कैंडिडेट्स के प्रदर्शन का आकलन करने के लिए किस तरह के मापदडों को अपनाया है. जैसे कि कुछ कंपनियों के सेलेक्टर्स जीडी के दौरान रिफरेन्स के साथ रखें गए ओपिनियन को ज्यादा तरजीह देते हैं जबकि कुछ नियोक्ता तार्किक जवाब या विचार से ही प्रभावित हो सकते हैं. ऐसे में आपको जीडी के मापडंडों की अच्छी समझ आपको सोचने की लिए ऐसी दिशा दे सकते हैं जो सेलेक्टर्स को प्रभावित कर सकती हैं.

जीडी को लॉजिकल स्टेटमेंट से शुरू करें   

जैसा कि हम जानते हैं जो छाप एक बार छोड़ते हैं वही आखिरी होती हैं. इसलिए समूह चर्चा की शुरुआत ऐसे करें कि वो नियोक्ता  को प्रभावित कर सके क्योंकि नियोक्ता आपके जीडी शुरू करने के तरीके पर सबसे ज्यादा ध्यान देगा. जीडी शुरू करने के लिए कुछ ऐसे विचारोतेजक वाक्यों का प्रयोग करें जो जीडी में भाग ले रहे अन्य सदयों को जीडी के टॉपिक की दिशा में सोचने पर मजबूर कर दे. जीडी को शुरुआत कुछ महत्वपूर्ण वाक्यांशों से भी कर सकते हैं

दूसरों को भी बोलने का मौका दें

एक प्रभावी जीडी में दिए गए विषय से जुड़े विभिन्न आयामों पर चर्चा होती है, जो समूह के सदयों को किसी एक नतीजे पर पहुचने में मदद करती हैं. इसके लिए समूह के हर सदस्य को सुनना और समझना आवश्यक हैं. दूसरों को बोलने का मौका न देने की स्थिति में हो सकता हैं आप एक महत्वपूर्ण सुझाव से वंचित हो जाएं. इसलिए समूह के अन्य सदस्यों को भी सुने और बोलते समय उन्हें बाधित न करें. यह उनके दृष्टिकोण और तर्कों को समझने में आपकी मदद कर सकता है भले ही आप उनके साथ सहमत न हों. इसलिए दूसरे  प्रतिभागियों को सुनने के लिए प्रयास करें.यह आपके उत्तर को प्रभावी ढंग से तैयार करने में आपकी मदद कर सकता है.

जीडी को सही दिशा में बनाये रखें

ग्रुप डिस्कशन के दौरान कुछ ऐसी परिस्थितियां भी बन सकती हैं जिसमे अन्य चर्चा अपने मूल विषय से भटक सकती हैं. ऐसी स्थिति में न तो आप सही तरह प्रदर्शन कर पाएंगे न ही अन्य प्रतिद्वंदी. इसलिए जीडी को सही दिशा में बनाये रखने की कोशिश करें. यदि किसी कारण से जीडी सही दिशा से भटक भी जाये तो उसे सही दिशा में लाने का प्रयास करें. इस तरह से आप सही दिशा में प्रयास करके नियोक्ता को प्रभावित कर सकते हैं.

Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

Related Stories