Search

पेशेवर क्षमता की परीक्षा लेनेवाली 5 तनावपूर्ण नौकरियां

क्या आपको काम पर तनाव होता है? क्या आपकी नौकरी आपको मानसिक और शारीरिक रूप से थका देती है ?

Feb 15, 2019 14:43 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Top 5 stress-inducing jobs that puts professional capacity to test
Top 5 stress-inducing jobs that puts professional capacity to test

क्या आपको काम पर तनाव होता है? क्या आपकी नौकरी आपको मानसिक और शारीरिक रूप से थका देती है ? क्या आप करियर को बदलने की योजना बना रहे है,क्योंकि आपकी नौकरी में आपसे ज्यादा उम्मीद की जाती है? अगर इन सभी सवालों का जवाब "हाँ" है तो आपको इनमें से किसी एक क्षेत्र में नियोजित होना चाहिए.

यहां शीर्ष 5 नौकरियों की एक सूची है जो तनाव बढाने का काम कर रही हैं और आपकी व्यावसायिक क्षमता की  समय-समय पर परीक्षा लेती रहती हैं.

1. नर्सिंग

नर्सिंग जॉब एक ​​मांग वाला पेशा है जिसमें मरीज़ों को संभालने के दौरान एक व्यक्ति शारीरिक और भावनात्मक प्रयास करता है. बीमार लोगों का इलाज करते समय, नर्सों में अंतर-व्यक्तिगत संबंध विकसित होते हैं जो उनके लिए भावनात्मक रूप से काफी थका देने वाले होते हैं. रोजमर्रा की जिंदगी के साथ-साथ नौकरी पर मिलने वाला तनाव उन्हें काफी थका देता है. वास्तव में नर्स की ड्यूटी एक दिन में  12 घंटों तक चलती है, जो दिन के अंत में उन्हें शारीरिक रूप से तोड़ देती है. नर्सिंग वास्तव में आसान काम नहीं है क्योंकि इसमें ज्यादातर व्यस्त कार्यक्रम शामिल रहते हैं. नर्सों के तनाव के स्तर पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार, यह पाया गया कि 40 प्रतिशत नर्सों ने अपनी नौकरी में असंतोष जताया और 31 प्रतिशत नौकरी छोड़ने की योजना बना रही थीं.

2. अनुसंधान पेशेवर

कोई भी अनुसंधान हो चाहे बाजार अनुसंधान हो या  वैज्ञानिक अनुसंधान या फिर शैक्षिक अनुसंधान  शोधकर्ताओं के पास  तनाव को झेलने तथा उसे कम करने के लिए सराहनीय क्षमता होती है. उन्हें एक दी गई समय सीमा में निश्चित कार्य संपन्न करने होते हैं. उन्हें ग्राहक का फ़ीडबैक लेने से लेकर के  नवीनतम कौशल सीखने पड़ते हैं.  नतीजतन, इस थकाने वाले काम का बुरा प्रभाव उनके स्वास्थ्य पर पड़ता है. यह सब चीजे उन्हें सफलता की कल्पना करने पर हतोत्साहित करती है. जबकि कई तकनीकी और चिकित्सा कंपनियां आरएंडडी में अपने मुनाफे का बड़ा हिस्सा निवेश करती हैं, लेकिन सफलतापूर्वक प्रदर्शन करने का दबाव उन्हें आगे बढ़ने में कठिनाई देता रहता है.

3. शिक्षण

शिक्षण को युवा मन से जुड़ने और बातचीत करने का सबसे अच्छा मंच माना जाता है.  कभी-कभी यह शिक्षक को परेशान भी कर देती है. हैरानी की बात है कि लगभग 80% शिक्षक काम पर तनाव के बारे में शिकायत करते हैं. काफी सारा कार्यभार,  अच्छे परिणाम देने के लिए दबाव, और छात्रों के अच्छी तरह से प्रदर्शन का दबाव इन सबचीजों का स्वास्थ्य पर अच्छा असर नहीं होता है. वर्तमान मैं शिक्षकों में अवसाद, चिंता और नींद की शिकायत  आ रही है क्योकि छात्रों से निपटने का काम एक  आसान काम नहीं है, खासकर जब वे विविध पृष्ठभूमि से आते हों. एक शिक्षक एक चिकित्सक के रूप में कार्य करता है जो निजी समस्याओं को संभालता है और साथ ही एक उज्जवल भविष्य के लिए बच्चों को शिक्षित भी करता है.

4. व्यवसाय प्रबंधन

प्रबंधक बनना अपेक्षाकृत अपने काम को सिद्ध करने से तुलनात्मक रूप से आसान है. निम्न और शीर्ष प्रबंधन के बीच एक कड़ी के रूप में काम करना काफी कठिन काम है. एक प्रबंधक कर्मचारियों के अधिकारों के लिए शीर्ष प्रबंधन के खिलाफ नहीं जा सकता, जबकि वे भी कर्मचारियों को चुप रहने के लिए नहीं कह सकते. दोनों ही मामलों में उत्पादकता प्रभावित होती है और काम का  समय व्यर्थ होता हैं. बहुत सी समय-सीमाएं, बहु-स्तरीय प्रोजेक्ट्स, काम की योजना, भविष्य के लिए अनुमान तैयार करना और जूनियर और सह कार्यकर्ताओं के आपत्तियों को प्रबंधित करते चलना काफी तनावपूर्ण कार्य हैं जो एक प्रबंधक को देखना होता है.

5. प्रशासनिक पेशेवर

प्रशासनिक नौकरी कोई आरामदायक विकल्प नहीं है यदि आप इसमें नौकरी पाने की योजना बना रहे हैं तो. इसमें ग्राहक की पूछताछ और प्रबंधन के  दबाव कर्मचारियों को काफी तनाव होता है. जब निजी क्षेत्र की फर्मों के प्रशासनिक कर्मचारियों का साक्षात्कार हुआ, तो उनमें से 75 प्रतिशत ने अपने काम में तनाव के बढ़ते स्तर के बारे में शिकायत की. कर्मचारियों ने यह भी उल्लेख किया कि उन्हें पर्याप्त रूप से भुगतान नहीं किया जा रहा है और उनके प्रति दिन के काम करने के घंटे बढ़ा दिए गए हैं.

कुछ और नौकरियां हैं जो तनाव-उत्प्रेरित हैं ?  अगर आपके पास ऐसी और सूचनाएं हैं तो आप वो हमसे साझा कर सकते हैं.  यदि आप ऐसे और लेख पढना चाहते हैं,तो जागरणजॉश.कॉम के करियर सेक्शन पर जाएं  और हमारे न्यूजलेटर की सदस्यता लें.

Related Stories