UP Board Class 12th Exams Overview 2016

U.P. Board Class 12 Results are the stepping stones for the youngsters who wish to pursue the careers of their dreams.

Created On: Jan 8, 2016 14:51 IST
Modified On: Jan 14, 2016 12:57 IST

उत्तर प्रदेश बोर्ड अवलोकन : 2016

(Uttar Pradesh Board Overview : 2016)

कक्षा – 12 (Class-12)

माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश 10+2 के विद्यार्थियों के लिये सार्वजनिक परीक्षा आयोजित करने वाली संस्था है। इसका मुख्यालय  इलाहाबाद में है। इसे संक्षेप में "यूपी बोर्ड" के नाम से भी जाना जाता है। माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की स्थापना सन् 1921 में इलाहाबाद में संयुक्त प्रान्त वैधानिक परिषद (यूनाइटेड प्रोविन्स लेजिस्लेटिव काउन्सिल) के एक अधिनियम द्वारा की गई थी। यह भारत का प्रथम शिक्षा बोर्ड था जिसने सर्वप्रथम 10+2 परीक्षा पद्धति अपनायी थी और सबसे पहले सन् 1923 में परीक्षा आयोजित की।

उत्तर प्रदेश बोर्ड का मुख्य कार्य राज्य में हाई स्कूल एवं इण्टरमिडिएट की परीक्षा, पाठ्यक्रम एवं पुस्तकें निर्धारित करना होता है। इसके अलावा राज्य में स्थित विद्यालयों को मान्यता देना भी प्रमुख कार्य है। उत्तर प्रदेश बोर्ड के चार क्षेत्रीय कार्यालय मेरठ (1973),  वाराणसी  (1978), बरेली  (1981)  और  इलाहाबाद  (1987)  में स्थित हें । वर्तमान आंकड़ों के अनुसार बोर्ड 32 लाख से अधिक छात्रों की परीक्षाएं संचालित करता है।

उत्तर प्रदेश में अधिकांश माध्यमिक विद्यालय उ.प्र.बोर्ड की मान्यता प्राप्त हैं, लेकिन कुछ माध्यमिक विद्यालय काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस  (आई.सी.एस.ई बोर्ड) एवं केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सी.बी.एस.ई) द्वारा प्रशासित हैं। वर्तमान में 9121 माध्यमिक विद्यालय इस बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त हैं।

प्रवेश समय (Admission time):-

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने नए सत्र में एडमिशन के लिए अगस्त माह तक समय सीमा तय की है। सभी स्कूलों को प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी एवं उनके नामांकन की जानकारी भी अगस्त माह तक तैयार करनी होगी। यह काम प्राचार्यों की देख-रेख में होगा।

वर्ष 2016 की परिषदीय परीक्षा में निम्नाकिंत श्रेणीयों के छात्र/छात्रा परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं:-

इण्टरमीडिएट संस्थागत परीक्षा (Intermediate Exam for Permanent Student):

  • विद्यालय में कक्षा-१२ में नियमित अध्ययनरत सत्र 2014-15 में अपने ही विद्यालय से कक्षा-११ में अग्रिम पंजीकरण कराये उत्तीर्ण छात्र/छात्रा।
  • विद्यालय में कक्षा-१२ में नियमित अध्ययनरत माध्यमिक शिक्षा परिषद की इण्टरमीडिएट संस्थागत परीक्षा में केवल एक बार अनुत्तीर्ण रहे छात्र/छात्रा ।
  • विद्यालय में कक्षा-१२ में नियमित अध्ययनरत सत्र 2014-15 के पूर्व सत्रों में अपने ही विद्यालय से कक्षा-११ में अग्रिम पंजीकरण कराये उत्तीर्ण छात्र/छात्रा
  • (a) विद्यालय में कक्षा-१२ में नियमित अध्ययनरत वाह्य छात्र/छात्राओं के अंतर्गत परिषद के अन्य विद्यालयों से कक्षा-११ में अग्रिम पंजीकरण कराये हुए उत्तीर्ण छात्र/छात्रा।
  • (b)विधि द्वारा स्थापित अन्य शिक्षा बोर्डों से परीक्षार्थी का कक्षा-११ उत्तीर्ण होने अथवा इण्टरमीडिएट या उसके समकक्ष परीक्षा में अनुत्तीर्ण छात्र/छात्रा।

इण्टरमीडिएट व्यक्तिगत परीक्षा (Intermediate Exam for Private Student):

  • माध्यमिक शिक्षा परिषद की इण्टरमीडिएट परीक्षा में अनुत्तीर्ण रहे छात्र/छात्रा ।
  • माध्यमिक शिक्षा परिषद / विधि द्वारा स्थापित देश के अन्य शिक्षा बोर्डों से कक्षा-११ में अग्रिम पंजीकरण कराये हुए उत्तीर्ण छात्र/छात्रा एवं कक्षा-१२ हेतु एक वर्षीय पत्राचार पाठ्क्रम में पंजीकृत छात्र/छात्रा ।
  • (a)कक्षा-११ एवं कक्षा-१२ हेतु दो वर्षीय पत्राचार पाठ्क्रम में पंजीकृत छात्र/छात्रा ।
  • (b)देश के अन्य शिक्षा बोर्डों से इण्टरमीडिएट या उसके समकक्ष परीक्षा में अनुत्तीर्ण रहे छात्र/छात्रा ।
  • विनियम के अंतर्गत आने वाले छात्र / छात्रा ।
  • कारागार में निरुद्ध बंदी छात्र / छात्रा ।

परीक्षा समय(Board Exam Time)

यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा हर साल सामान्यतः फरवरी महीने में होती है। इसका संचालन उत्तर प्रदेश बोर्ड माध्यमिक शिक्षा परिषद करता है।

इस साल उत्तर प्रदेश बोर्ड की इण्टरमीडिएट की परीक्षाएं 18 फरवरी से 21 मार्च तक चलेंगी |

रिजल्ट की घोषणा(Result  Announcement): -

यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा का  रिजल्ट मई महीने के मध्य मैं घोषित किया जाता हैं|

आगामी  संशोधन:(Upcoming Improvement): -

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी बोर्ड ने 11वीं और 12वीं का पाठ्यक्रम अलग-अलग कर दिया है।

नए पाठ्यक्रम के आधार पर 11वीं के छात्रों की पढ़ाई शैक्षिक सत्र 2016-17 से शुरू हो जाएगी। सूत्रों ने बताया कि बोर्ड की ओर से तैयार नए पाठ्यक्रम को छात्रों की सुविधा के अनुसार विभाजित किया गया है। नए पाठ्यक्रम में आसान से कठिन की ओर छात्रों को पाठ्यक्रम से जोड़ा जाएगा। नया पाठ्यक्रम इंजीनियरिंग और मेडिकल की परीक्षाओं के पाठ्यक्रम के आधार पर तैयार किया गया है।

Comment ()

Post Comment

1 + 8 =
Post

Comments