'गोदी इंडिया' ने बनाया भारत का पहला 5.2 Ah 21700 सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल, साथ ही मिला BIS सर्टिफिकेशन

GODI India: भारत की सेल निर्माता कंपनी 'गोदी इंडिया' (Godi India) ने हाल ही में सिलिकॉन एनोड तकनीक पर बेस्ड 275 Wh/kg एनर्जी डेंसिटी के साथ 5.2 Ah 21700 सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल का निर्माण करने वाली देश की पहली कंपनी बन गयी है. साथ ही मिला BIS सर्टिफिकेशन, जानें इसके बारें में   

5.2 Ah 21700 सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल
5.2 Ah 21700 सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल

GODI India: भारत की सेल निर्माता कंपनी 'गोदी इंडिया' (Godi India) ने हाल ही में सिलिकॉन एनोड तकनीक पर बेस्ड 275 Wh/kg एनर्जी डेंसिटी के साथ 5.2 Ah 21700 सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल (cylindrical lithium-ion cells) का निर्माण करने वाली देश की पहली कंपनी बन गयी है.

इसकी मदद से ग्रेफाइट की तुलना में इलेक्ट्रिक वाहनों को अधिक रेंज हासिल होगी. यह सिलिकॉन एनोड प्रौद्योगिकी पर आधारित है. जिसे एक नए अवसर के रूप में देखा जा रहा है.    

इसके अलावा 'गोदी इंडिया' को घरेलू तकनीक से निर्मित लिथियम-आयन सेल बेचने के लिए BIS सर्टिफिकेशन भी हासिल हुआ है. साथ ही 'गोदी इंडिया' यह सर्टिफिकेट पाने वाली भारत की पहली कंपनी बन गयी है.

सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल- हाइलाइट्स:

सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल को बाजार की आवश्यकता के अनुसार पूर्ण स्वदेशी रूप से विकसित किया गया है. 

इसकी मदद से एनोड में सिलिकॉन के उपयोग के साथ, एक इलेक्ट्रिक व्हिकल हाई एनर्जी डेंसिटी के कारण सिंगल चार्ज पर ग्रेफाइट की तुलना में 15-20 प्रतिशत तक अधिक रेंज प्राप्त की जा सकती है. 

सिलिकॉन का उपयोग करके हाई-एनर्जी डेंसिटी लिथियम-आयन सेल के निर्माण से भारत में इसका चलन तेजी से बढ़ेगा.  

इस उपलब्धि पर अपनी बात रखते हुए GODI India के संस्थापक और सीईओ महेश गोदी ने कहा कि, "हम अपनी हैदराबाद सुविधा में 5.2 Ah लिथियम-आयन सेल के निर्माण की घोषणा करते हुए काफी प्रसन्न हैं''.

GODI India ने सिलिकॉन को स्टेबल करने के लिए एक पर्यावरण-अनुकूल जल-आधारित इलेक्ट्रोड निर्माण प्रक्रिया विकसित की है, जिसका 5.2 Ah लिथियम-आयन सेल के निर्माण में सफलतापूर्वक उपयोग किया गया है.

सिलेंड्रिकल लिथियम-आयन सेल का महत्व:

सिलिकॉन पृथ्वी के क्रेस्ट पर सबसे प्रचुर मात्रा में तत्वों में से एक है, अतः गोदी इंडिया की इस पहल से इलेक्ट्रिक व्हिकल रेंज को और मजबूती मिलेगी.
भारत और दुनिया भर में ईवी वाहनों के क्षेत्र में उछाल के साथ, हाई एनर्जी सेल की आवश्यकता बहुत आवश्यक हो गई है, जिसके कारण इस तरह की पहल का महत्व और अधिक बढ़ जाता है.    

'गोदी इंडिया' की क्या है आगे की योजना?

'गोदी इंडिया' ने आगे आने वाले समय में 5.0 - 5.2 Ah सेल के लिए 100 MWh पायलट प्रोडक्शन शुरू करने की योजना बनायीं है. 

'गोदी इंडिया' ने अत्यधिक मांग वाले इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की जरूरतों को पूरा करने के लिए GWh प्लांट लगाने की योजना बनायी है. जो 2030 तक 50GWh से अधिक होगी.  

एक स्थायी भविष्य बनाने के प्रयास में, GODI India ने हाई एनर्जी डेंसिटी लक्ष्यों और ESG दिशानिर्देशों को प्राप्त करने के लिए घरेलू, क्लीन और इको-फ्रेंडली उपायों को लागू करने का भी प्रयास कर रहा है.

BIS सर्टिफिकेशन:

लिथियम-आयन सेल बेचने के लिए BIS सर्टिफिकेशन प्राप्त करने वाली 'GODI India' भारत की पहली कंपनी बन गयी है. साथ ही CSIR-CECRI के साथ हाई क्वालिटी के लिथियम-आयन सेल के निर्माण के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी करने वाली पहली कंपनी बन गयी है.   

इसे भी पढ़े:

'RRR' के म्यूजिक कंपोजर एमएम केरावनी ने जीता लॉस एंजिल्स फिल्म क्रिटिक्स एसोसिएशन का अवार्ड

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play