वांग यापिंग ने रचा इतिहास, बनीं अंतरिक्ष में चलने वाली पहली चीनी महिला अंतरिक्ष यात्री

चीन ने 16 अक्टूबर को शेनझोउ-13 अंतरिक्ष यान लॉन्च किया था, जिसमें तीन अंतरिक्ष यात्रियों को छह महीने के मिशन पर निर्माणाधीन अंतरिक्ष स्टेशन पर भेजा गया था. इस अंतरिक्ष स्टेशन के अगले साल तक तैयार होने की उम्मीद जताई जा रही है.

Wang Yaping becomes first Chinese woman astronaut to walk in space, scripts history
Wang Yaping becomes first Chinese woman astronaut to walk in space, scripts history

चीन के आधिकारिक मीडिया ने यह बताया है कि, वांग यापिंग सोमवार को अंतरिक्ष में चलने वाली पहली चीनी महिला अंतरिक्ष यात्री बन गईं हैं, क्योंकि वे निर्माणाधीन अंतरिक्ष स्टेशन से बाहर चली गईं और अपने पुरुष सहयोगी झाई झिगांग के साथ छह घंटे से अधिक समय तक अतिरिक्त गतिविधियों में भाग लिया.

चीन की स्पेस वॉक का विवरण   

चीन की समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों तियानहे नामक स्पेस स्टेशन कोर मॉड्यूल से बाहर चले गए और सोमवार की सुबह तकरीबन 6.5 घंटे स्पेसवॉक में बिताए और सफलतापूर्वक मॉड्यूल पर लौट आए.

चीन की मानवयुक्त अंतरिक्ष एजेंसी ने एक बयान में यह कहा है कि, चीनी अंतरिक्ष इतिहास में एक महिला अंतरिक्ष यात्री द्वारा किया गया यह पहला स्पेसवॉक है.

चीनी बॉर्डर के निकट इंडियन आर्मी द्वारा तैनात पिनाका और स्मर्च ​​रॉकेट सिस्टम के बारे में जरुर पढ़ें यहां

चीन ने 16 अक्टूबर को शेनझोउ-13 अंतरिक्ष यान लॉन्च किया था, जिसमें तीन अंतरिक्ष यात्रियों को छह महीने के मिशन पर निर्माणाधीन अंतरिक्ष स्टेशन पर भेजा गया था. इस अंतरिक्ष स्टेशन के अगले साल तक तैयार होने की उम्मीद जताई जा रही है.

चीन की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री वांग यापिंग के बारे में जानकारी

शेडोंग प्रांत की मूल निवासी और पांच साल की बच्ची की मां, सुश्री वांग अगस्त, 1997 में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी वायु सेना में शामिल हुईं थीं और मई, 2010 में PLA अंतरिक्ष यात्री डिवीजन में अंतरिक्ष यात्रियों के दूसरे समूह में शामिल होने से पहले उन्होंने डिप्टी स्क्वाड्रन कमांडर के रूप में कार्य किया था.

मार्च, 2012 में वे नौवें मानवयुक्त शेनझोउ मिशन श्रृंखला के लिए बैकअप क्रू का हिस्सा थीं और जून 2013 में लगभग 15 दिनों तक चलने वाली 10वीं शेनझोउ श्रृंखला में भाग लिया. वे अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली दूसरी चीनी महिला हैं.

शेनझोउ की 10वीं उड़ान के दौरान, सुश्री वांग ने तियांगोंग I प्रायोगिक मॉड्यूल के अंदर से चीन का पहला अंतरिक्ष-आधारित लेक्चर देश भर के लगभग 80,000 स्कूलों में 60 मिलियन से अधिक चीनी छात्रों को दिया.

वर्तमान मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन के लिए उन्हें दिसंबर, 2019 में चुना गया था.

जबकि सुश्री वांग और श्री झाई ने अतिरिक्त वाहन गतिविधियों (EVAs) का संचालन किया, जिसमें सोमवार को स्पेसवॉक शामिल था, चालक दल के तीसरे सदस्य, ये गुआंगफू ने मॉड्यूल के भीतर से एक सहायक के तौर पर अपनी भूमिका निभाई.

चीन के अंतरिक्ष स्टेशन के बारे में जानकारी

चीन के अंतरिक्ष स्टेशन, जो निर्माणाधीन है, के लिए यह दूसरा मानवयुक्त मिशन है.

एक बार तैयार होने के बाद, चीन एकमात्र ऐसा देश होगा जिसके पास अपना अंतरिक्ष स्टेशन होगा जबकि अब पुराना हो रहा अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) कई देशों की एक सहयोगी परियोजना है.

ISS को दो खंडों में विभाजित किया गया है - रूसी ऑर्बिटल सेगमेंट (ROS), जो रूस द्वारा संचालित है, और यूनाइटेड स्टेट्स ऑर्बिटल सेगमेंट (USOS), जो अमेरिका के साथ-साथ जापान और कनाडा सहित कई अन्य देशों द्वारा चलाया जाता है.

चीन कार्गो क्राफ्ट सहित अंतरिक्ष मिशनों की एक श्रृंखला भेजकर अपने इस अंतरिक्ष स्टेशन का निर्माण कर रहा है, जो तियानहे कोर केबिन मॉड्यूल के साथ डॉक किया गया है. तियान्हे को 29 अप्रैल, 2021 को लॉन्च किया गया था.

Indian Space Missions: इंडियन स्पेस एसोसिएशन के उद्घाटन के अवसर पर उद्योग जगत ने किया अधिक स्पष्ट अंतरिक्ष नीति का अनुरोध

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play