Search

याक "ग्रूटिंग ऑक्स": एक नजर तथ्यों पर

याक दो प्रकार के होते हैं: घरेलू और जंगली। घरेलू याक छोटे होते हैं और इनके शरीर पर घने बाल होते हैं और शायद इनकी उत्पत्ति जंगली तिब्बती याक से हुई थी। घरेलू याक का इस्तेमाल यात्रा और समान ढोने वाले जानवरों के रूप में किया जाता है। याक को उसके दूध, मांस, ऊन और गोबर के लिए मूल्यवान माना जाता है। जंगली याक को सबसे ज्यादा खतरा और नुकसान शिकारियों से रहता है। उनकी वर्तमान स्थिति असुरक्षित (vulnerable) है। जंगली नर याक का वजन 2200 पाउंड तक होता है और इसकी ऊंचाई 6.5 फुट होती है। मादा याक की ऊंचाई नर याक की तुलना में एक-तिहाई होती है।
Aug 26, 2016 14:31 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

याक दो प्रकार के होते हैं: घरेलू और जंगली। घरेलू याक छोटे होते हैं और इनके शरीर पर घने बाल होते हैं और शायद इनकी उत्पत्ति जंगली तिब्बती याक से हुई थी। घरेलू याक का इस्तेमाल यात्रा और समान ढोने वाले जानवरों के रूप में किया जाता है। याक को उसके दूध, मांस, ऊन और गोबर के लिए मूल्यवान माना जाता है। जंगली याक को सबसे ज्यादा खतरा और नुकसान शिकारियों से रहता है। उनकी वर्तमान स्थिति "असुरक्षित" (vulnerable) है। जंगली नर याक का वजन 2200 पाउंड तक होता है और इसकी ऊंचाई 6.5 फुट होती है। मादा याक की ऊंचाई नर याक की तुलना में एक-तिहाई होती है।

याक कहाँ पाए जाते हैं?

जंगली याक अल्पाइन घास के मैदान और एशिया के मैदानी भागों में रहते हैं। ये मुख्य रूप से उत्तरी तिब्बत और पश्चिमी किंघाई में पाये जाते हैं, इसके अलावा ये सिचुआन, नेपाल, भूटान, झिंजियांग के सुदूर दक्षिणी भाग एवं भारत में लद्दाख में भी पाये जाते हैं| ये किसी भी अन्य  स्तनपायी की तुलना में सर्वाधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में रहते हैं।

Jagranjosh

Image source: www.nationalgeographic.com

याक की फोटो

Jagranjosh

Image source:  www.fao.org

घरेलू याक की फोटो

Jagranjosh

Image source:: www.fao.org

(एक तिब्बती महिला, मादा याक से दूध दुहती हुई)

याक से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य:

1. याक के बड़े फेफड़े और हृदय रक्त में ऑक्सीजन के वहन में प्रभावी रूप से मदद करते हैं, जिसके कारण यह अधिक ऊँचाई पर भी आसानी से रह लेता है|
2. मादा याक के थन (याक की स्तन ग्रंथि) और नर याक के अंडकोश की थैली छोटी और रोएंदार होती है जो ठंड से उनका बचाव करती है।
3. याक शाकाहारी (पत्तियों और घास खाने वाले) होते हैं। वे घास, जड़ी-बूटी, काई, लाइकेन, और कंद को भोजन के रूप में इस्तेमाल करते हैं। सर्दियों में जंगली याक पानी के लिए बर्फ या बर्फ के गोले पर निर्भर रहते हैं।
4. याक के पैर कड़क और खुरदरे होते हैं जो उन्हें चट्टानी या बर्फीले जमीन पर चलने में मदद करते हैं।

एशियाई चीताः तथ्यों पर एक नजर

5. सर्दियों में जंगली याक -40 डिग्री से भी कम तापमान में जीवित रह सकता हैं।
6. एक जंगली याक 6 से 8 साल के बीच अपने पूरे आकार तक पहुँचता है।
7. याक का संभोग का समय सितंबर में होता है एवं 9 महीने की गर्भावस्था के बाद हर साल एक बच्चा पैदा होता है।
8. याक के सूखे गोबर का प्रयोग पेड़विहीन तिब्बतीय पठार में ईंधन के रूप में किया जाता है।
9. नेपाल की शेरपा प्रजातियां नर याक को "याक" और मादा याक को "नाक" और "दरी" कहते हैं।

क्या आप लाल पांडा के बारे में ये तथ्य जानते हैं?

10. याक की चमड़ी मोटी एवं ऊनी बालों से ढँकी होती है। यह भूरे, काले या सफेद रंग के हो सकते हैं। इसके शरीर पर स्थित फर का मुख्य कार्य शरीर की गर्मी को बाहर निकलने से रोकना और बाहरी निम्न तापमान से शरीर की रक्षा करना है।
11. गायों की तरह, याक भी निगलने से पहले अपने भोजन को बहुत समय तक चबाता है।
12. सर्दियों के दौरान, याक अपने सींगों का प्रयोग एक फावड़े के रूप में करता है और बर्फ को खोद कर अपने लिए चारा ढूढ़ता है।
13. याक शिकारियों के खिलाफ अपने बचाव के लिए अपने सींग का उपयोग करता है। याक के मुख्य शिकारी तिब्बती भेड़िये हैं।
14. जंगली याक 20 साल तक जीवित रह सकते हैं। पालतू याक जंगली याक की तुलना में कुछ अधिक वर्षों तक जीवित रह सकते हैं।
15. याक के पास एक से अधिक पेट होता है, जिसका इस्तेमाल यह भक्षण किए गए पौधों से सभी पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए करता है।

IUCN रेड डाटा बुक का क्या महत्व है?

साइबेरियन क्रेन या स्नो क्रेनः तथ्यों पर एक नजर