Search

जानें भारतीय क्रिकेटरों को कितनी सैलरी मिलती है?

भारत में क्रिकेट की लोकप्रियता और अच्छी कमाई के कारण भारत का हर युवा क्रिकेट की दुनिया में अपना कैरियर बनाना चाहता है. अभी हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने अपने खिलाडियों को अनुबंध में दी जाने वाली राशि को फिर से बढ़ा दिया है.  BCCI अनुबंधित खिलाडियों को चार श्रेणियों में रखता है A+ , A, B और C.  अब A+ ग्रेड में आने वाले खिलाडी को हर साल 7 करोड़ रुपये , A ग्रेड वाले खिलाडी को 5 करोड़ रुपये और B ग्रेड वाले को पूरे साल में 3 करोड़ रुपये और C ग्रेड के खिलाड़ी को हर साल 1 करोड़ रुपये दिए जायेंगे.
Mar 11, 2019 11:34 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Indian Cricketers
Indian Cricketers

क्रिकेट के खेल को पूरी दुनिया में फुटबॉल के बाद सबसे ज्यादा लोकप्रिय खेल समझा जाता हैl इस खेल में दौलत और सौहरत दोनों ही भरपूर मात्रा में मिलती हैं. यही कारण है कि भारत का हर युवा क्रिकेट की दुनिया में अपना कैरियर बनाना चाहता है.

दरअसल, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) खिलाडियों को पैसा उनके प्रदर्शन के आधार पर देता है. ऐसा इसीलिए किया जाता ताकि खिलाडी अच्छी सैलरी पाने के लिए अच्छा प्रदर्शन करते रहें और भारतीय टीम सफलता के नये आयामों को छुए.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का प्रशासन चलाने के लिए उच्चतम नयायालय द्वारा गठित प्रशासकों की समिति ने पुरुष और महिला सीनियर क्रिकेटरों के लिए 8 मार्च 2019 से नए कॉन्ट्रैक्ट को बनाया गया है.

अभी हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने अपने खिलाडियों को अनुबंध में दी जाने वाली राशि को फिर से बढ़ा दिया है.  BCCI अनुबंधित खिलाडियों को चार श्रेणियों में रखता है A+ , A, B और C. अब A+ ग्रेड में आने वाले खिलाड़ी को हर साल 7 करोड़ रुपये , A ग्रेड वाले खिलाड़ी को 5 करोड़ रुपये और B ग्रेड वाले को पूरे साल में 3 करोड़ रुपये और C ग्रेड के खिलाड़ी को हर साल 1 करोड़ रुपये दिए जायेंगे.

I.  A+ ग्रेड में आने वाले खिलाड़ी को 7 करोड़ रुपये वार्षिक मिलते हैं.  

II. A ग्रेड वाले खिलाड़ी को 5 करोड़ रुपये वार्षिक मिलते हैं.

III. B ग्रेड वाले खिलाड़ी को 3 करोड़ रुपये वार्षिक मिलते हैं.

IV. C ग्रेड वाले खिलाड़ी को 1 करोड़ रुपये वार्षिक मिलते हैं.

भारत के प्रमुख घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंटों की सूची

नया कॉन्ट्रैक्ट 8 मार्च 2019 से लागू कर दिया गया है.

A+ ग्रेड: इस ग्रेड में 3  खिलाड़ी  शामिल हैं. BCCI ने ग्रेड की यह नयी श्रेणी बनायीं है.

1. विराट कोहली

2. रोहित शर्मा

3. जसप्रीत बुमराह

A  ग्रेड:  नए कांट्रेक्ट में इस ग्रेड में 11 खिलाड़ी शामिल हैं.

1. आर. अश्विन

2. रविंद्र जडेजा

3. भुवनेश्वर कुमार

4. चेतेश्वर पुजारा

5. अजिंक्य रहाणे

6. एमएस धोनी

7. शिखर धवन

8. मोहम्मद शमी

9. ईशांत शर्मा

10. कुलदीप यादव

11. ऋषभ पंत

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले शीर्ष 10 खिलाड़ी

B ग्रेड: इस श्रेणी में नए कॉन्ट्रैक्ट में 5 खिलाड़ी हैं

1. केएल राहुल

2. उमेश यादव

3. कुलदीप यादव

4. युजवेंद्र चहल

5. हार्दिक पंड्या

C ग्रेड: इस श्रेणी में नए कॉन्ट्रैक्ट में 7 खिलाड़ी हैं

1. केदार जाधव

2. दिनेश कार्तिक

3. अंबाती रायुडू

4. मनीष पांडे

5. हनुमा विहारी

6. खलील अहमद

7. साहा

जानें दुनिया के 10 सबसे खतरनाक खेल कौन से हैं

टेस्ट मैच, वनडे और T-20 (अंतरराष्ट्रीय) में एक मैच के लिए कितना रुपया मिलता है ?

I.  प्रत्येक खिलाड़ी को एक टेस्ट मैच खेलने के लिए मिलता है: लगभग 15 लाख रुपये

II. प्रत्येक खिलाड़ी को एक वनडे मैच खेलने के लिए मिलता है:लगभग 6 लाख रुपये

III. प्रत्येक खिलाड़ी को एक T-20 मैच खेलने के लिए मिलता है: लगभग 3 लाख रुपये

indian cricket match fee

नोट: यहाँ पर यह बात ध्यान देने वाली है कि एक खिलाडी को अनुबंध के तहत मिलने वाली राशि और एक मैच खेलने के लिए मिलने वाली मैच राशि (match fee) अलग-अलग होती है. डॉलर में मूल्य में उतार चढ़ाव होने पर इन खिलाडियों की मैच फीस में भी परिवर्तन होगा.

खिलाडियों को मिलने वाला बोनस:

यदि कोई खिलाड़ी वनडे या टेस्ट क्रिकेट में शतक बनाता है तो उसको 5 लाख रूपये अलग से बोनस के रूप में मिलते हैं चाहे वह किसी भी ग्रेड का हो। टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने पर 7 लाख रूपये, 5 विकेट चटकाने पर 5 लाख रूपये और यदि कोई खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट में 10 विकेट चटका लेता है तो उसको ईनाम के तौर पर 7 लाख रूपये अलग से मिलता है।

टीम का परफॉर्मेंस बोनस:  खिलाड़ी के प्रदर्शन के आधार पर BCCI खिलाड़ी को प्रदर्शन पुरस्कार भी देती है। जिसके अंतर्गत अगर कोई खिलाड़ी शीर्ष तीन टीमों के खिलाफ अर्धशतक या शतक जड़ता है तो उन्हें सैलरी में 30% से 60% की बढ़ोतरी दी जाती है।

महिला क्रिकेट खिलाडियों को कितनी वार्षिक सैलरी मिलती है?

महिला क्रिकेट खिलाडियों को 3 श्रेणियों में बांटा गया है. ये श्रेणियां हैं A,B और C. साल के कॉन्ट्रैक्ट (सितम्बर 2017 से अक्टूबर 2018) में नयी श्रेणी C को जोड़ा गया है.

सीनियर महिला ग्रेड A:  हर साल 50 लाख रुपये मिलते हैं.

सीनियर महिला ग्रेड B: हर साल 30 लाख रुपये मिलते हैं.

सीनियर महिला ग्रेड C: हर साल 10 लाख रुपये मिलते हैं.

BCCI के नए कॉन्ट्रैक्ट में महिला खिलाडियों को तीन श्रेणियों में इस प्रकार रखा गया है;

ग्रेड A: इस ग्रेड में 4 महिला खिलाड़ी शामिल हैं.

1. मिताली राज

2. झूलन गोस्वामी

3. हरमनप्रीत कौर

4. स्मृति मंधाना

ग्रेड B: इस ग्रेड में 6 महिला खिलाड़ी शामिल हैं.

1. पूनम यादव

2. वेदा कृष्णमूर्ति

3. राजेश्वरी गायकवाड़

4. एकता बिष्ट

5. शिखा पाण्डेय

6. दीप्ति शर्मा

ग्रेड C: इस ग्रेड में 9 महिला खिलाड़ी शामिल हैं.

1. मानसी जोशी

2. अनुजा पाटिल

3. मोना मेश्राम

4. नुजहत परवीन

5. सुषमा वर्मा

6. पूनम राउत

7. जेमिमाह रोड्रीग्स

8. पूजा वस्त्राकर

9. तानिया भाटिया

इस प्रकार ऊपर दिए गए आय के आंकड़ों से यह बात स्पष्ट हो जाती है कि एक क्रिकेटर को अलग अलग कामों के लिए अलग पैसा मिलता है और सन्यास लेने के बाद BCCI से हर महीने पेंशन भी मिलती हैl इन सब आय के स्रोतों के अलावा खिलाडी विज्ञापन से भी भारी कमाई कर लेते हैंl अब सोचने वाली बात यह है कि जब सिर्फ क्रिकेट में ही इतना सारा पैसा कमाया जा सकता है तो भला कोई और क्यों किसी और खेल को खेलना पसंद करेगा l यहाँ पर यह बात दुःख के साथ कहनी पड़ रही है कि भारत में अन्य खेलों की दुर्दशा के लिए क्रिकेट का अधिक विकास ही है l

क्रिकेट मैचों में गेंदबाजों की गति को कैसे मापा जाता है

भारत में रिटायर्ड क्रिकेट खिलाडियों को कितनी पेंशन मिलती है?