Search

भारत में रिटायर्ड क्रिकेट खिलाडियों को कितनी पेंशन मिलती है?

Pension to Retired Indian Cricketers: BCCI ने 31 दिसंबर, 1993 से पहले सेवानिवृत्त हुए सभी क्रिकेटरों जिन्होंने 25 या उससे अधिक टेस्ट मैच खेले हैं उनको हर माह 50,000 रुपये पेंशन देने का फैसला लिया है. जिन खिलाडियों ने 2003-04 सीजन के अंत तक 50 से 74 मैच या 75 से अधिक प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं उनको क्रमशः 22500 रुपये प्रति माह और 30000 रुपये प्रति माह पेंशन दी जाएगी.
Mar 16, 2020 12:56 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Retired Indian Cricketers
Retired Indian Cricketers

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने अक्टूबर 2019 से सितम्बर 2020 के बीच की अनुबंध अवधि में अपने खिलाडियों को अनुबंध में दी जाने वाली राशि को बढ़ा दिया है. BCCI अनुबंधित खिलाडियों को चार श्रेणियों में रखा है A+, A, B और C. अब A+ ग्रेड में आने वाले खिलाड़ी को हर साल 7 करोड़ रुपये, A ग्रेड वाले खिलाड़ी को 5 करोड़ रुपये और B ग्रेड वाले को पूरे साल में 3 करोड़ रुपये और C ग्रेड के खिलाड़ी को हर साल 1 करोड़ रुपये दिए जायेंगे.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि BCCI द्वारा उन क्रिकेटरों को पेंशन भी दी जाती है जो कि क्रिकेट से सन्यास ले चुके हैं. आइये इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि रिटायर्ड क्रिकेटरों को कितनी पेंशन मिलती है. 

रिटायर्ड क्रिकेटरों को पेंशन देने की शुरुआत BCCI ने 2004 में शुरू की थी. उस समय केवल 174 पूर्व खिलाड़ियों और अधिकारियों को 5000 रुपये की मासिक पेंशन देने का फैसला लिया गया था.

इस नीति में 1 टेस्ट मैच खेलने वाले और 50 टेस्ट मैच खेलने वाले ख़िलाड़ी के बीच किसी तरह का भेद नही किया गया था. लेकिन इसमें पेंशन के योग्य उन्हीं खिलाडियों को माना गया था जिन्होंने टेस्ट और एकदिवसीय दोनों प्रकार के मैच खेले थे. केवल एकदिवसीय मैच खेलने वाले खिलाड़ी इस योजना के योग्य नहीं थे.

जानें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की जिम्मेदारियां क्या होती हैं?

इस योजना में वर्ष 2009 और 2015 में परिवर्तन किया जा चुका है. इस नयी घोषणा के बाद अब रिटायर्ड खिलाडियों को इस प्रकार पेंशन मिलेगी. अब 1 जनवरी 2015 से खिलाडियों को मिलने वाली पेंशन को दुगुना कर दिया गया है.

pension ex indian cricketers

बीसीसीआई ने 31 दिसंबर, 1993 से पहले सेवानिवृत्त हुए सभी क्रिकेटरों जिन्होंने 25 या उससे अधिक टेस्ट मैच खेले हैं उनको हर माह 50,000 रुपये पेंशन देने का फैसला लिया है.

ऐसे क्रिकेटर जो कि 31 दिसंबर, 1993 से पहले सेवानिवृत्त हो गये थे और 25 से कम टेस्ट मैच खेले थे उन्हें प्रति माह 37,500 रुपये पेंशन मिलेगी जबकि  25 मैचों से कम टेस्ट खेलने वाले प्रति माह 37500 रुपये पाएंगे. जबकि 1 जनवरी, 1994 को या उसके बाद सेवानिवृत्त होने वाले क्रिकेटरों को प्रति माह 22,500 रुपये पेंशन मिलेगी.

pension indian cricketers

टेस्ट क्रिकेटरों और टेस्ट अंपायरों की विधवाओं को उनके जीवनकाल के लिए ऊपर लिखी गयी राशि पेंशन के तौर पर मिलनी जारी रहेगी. वन-डे इंटरनेशनल में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले सभी क्रिकेटरों को 15000 रुपये प्रति माह पेंशन मिलेगी.

फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने वालों को कितनी पेंशन: (Pension to First Class Cricket Players)

रणजी मैच खेलने वाले जिन खिलाडियों ने 1957-58 सीजन से पहले कम से कम 10 मैच खेले हैं उनको प्रति माह 15000 रुपये पेंशन मिलेगी. इसके अलावा जिन सभी प्रथम श्रेणी के क्रिकेटरों ने 2003-04 सीजन के अंत तक 25 से 49 मैचों में खेले हैं उनको भी प्रति माह 15000 रुपये पेंशन मिलेगी.

लेकिन जिन खिलाडियों ने 2003-04 सीजन के अंत तक 50 से 74 मैच या 75 से अधिक प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं उनको क्रमशः 22500 रुपये प्रति माह और 30000 रुपये प्रति माह पेंशन दी जाएगी.

महिला क्रिकेटरों को कितनी पेंशन मिलेगी? (Pension to Female Cricket Players)

जिन महिला क्रिकेटरों ने 10 या उससे अधिक टेस्ट मैच खेले हैं उनको प्रति माह 22500 रुपये मिलेगा जबकि जिन्होंने 5 से 9 टेस्ट खेले हैं, उन्हें प्रति माह 15000 रुपये मिलेगा.

नोट: सभी सेवानिवृत्त टेस्ट अंपायरों को प्रति माह 22500 रुपये मिलेगा, जबकि सभी सेवानिवृत्त अखिल भारतीय पैनल के अंपायर जिन्होंने एक दिवसीय मैचों में फील्ड अंपायर का पदभार संभाला है, उन्हें 15000 रुपये प्रति माह पेंशन मिलेगी.

BCCI की वन टाइम पेंशन स्कीम: (BCCI one Time Pension Scheme)

1. वर्ष 2003-04 सीज़न के अंत तक सेवानिवृत्त हुए सभी टेस्ट क्रिकेटरों जिन्होंने 100 से अधिक टेस्ट मैच खेले हैं उनको वन टाइम पेंशन स्कीम के तहत एक बार 1.5 करोड़ रुपये का भुगतान मिलेगा. जबकि 75 से 99 के बीच टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाडियों और और 50 से 74 के बीच टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाडियों को क्रमशः 1 करोड़ रुपये और 75 लाख रुपये पेंशन के तौर पर एक ही बार मिलेंगे.

2. वे टेस्ट क्रिकेटर्स जो 2003-04 सत्र के अंत तक सेवानिवृत्त हुए और जिन्होंने 25 से 49 के बीच टेस्ट मैच खेले हैं उनको 60 लाख रुपये, 10 से 24 के बीच टेस्ट मैच खेलने वाले को 50 लाख रुपये और 1 से 9 टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ी को एक बार 35 लाख रुपये वन टाइम पेंशन स्कीम के तहत मिलेंगे.

3. वन टाइम स्कीम के तहत प्रथम श्रेणी के मैच खेलने वाले खिलाडियों को भी फायदा मिलेगा. इसमें 100 से अधिक प्रथम श्रेणी मैच खेलने वाले खिलाड़ी को 30 लाख रुपये जबकि 75 से 99 के बीच प्रथम श्रेणी मैच खेलने वाले खिलाड़ी को 25 लाख रुपये मिलेंगे.

वन टाइम पेंशन स्कीम के किन खिलाडियों को कितना रुपया मिला?

क्रम संख्या

नाम

राशि

1

सुनील गावस्कर

15,000,000.00

2

रवि शास्त्री

15,000,000.00

3

एस. वेंकटरमण

15,000,000.00

4

जवागल श्रीनाथ

15,000,000.00

5

कपिल देव

15,000,000.00

6

अनिल कुंबले

15,000,000.00

7

दिलीप वेंगसरकर

15,000,000.00

8

सैयद किरमानी

15,000,000.00

9

सचिन तेंदुलकर

15,000,000.00

10

सौरव गांगुली

15,000,000.00

11

राहुल द्रविड़

15,000,000.00

12

नवजोत सिंह सिद्धू

10,000,000.00

13

के. श्रीकांत

10,000,000.00

14

बी के वेंकटेश प्रसाद

10,000,000.00

15

किरण मोरे

10,000,000.00

16

नयन मोंगिया

10,000,000.00

17

गुंडप्पा विश्वनाथ

10,000,000.00

18

मोहिंदर अमरनाथ

10,000,000.00

ऊपर दिए गए बेनेफिट्स के अलावा BCCI "उदार मेडिकल नीति" के तहत प्रथम श्रेणी के क्रिकेटरों और अंपायरों जिन्होंने 10 या अधिक प्रथम श्रेणी के मैच खेले या अंपायरिंग की है वे भी अपने सम्पूर्ण जीवनकाल के दौरान अधिकतम 5 लाख रुपये तक की चिकित्सा खर्चों की प्रतिपूर्ति के लिए पात्र हैं.

सरकार द्वारा शुरू की गयी पेंशन देने की यह स्कीम बहुत ही सराहनीय कार्य है. इस कदम से देश में क्रिकेट के खेल में उन खिलाडियों को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा जो कि क्रिकेट में बहुत हुनर रखते हैं लेकिन इस बात से डरते हैं कि यदि वे क्रिकेट में बहुत सफल नहीं हुए तो उनकी रोजी रोटी कैसे चलेगी. अब जरूरत इस बात की है कि सरकार इसी तरह की पेंशन स्कीम देश में हर खेल के लिए घोषित करे.

जानें भारतीय क्रिकेटरों को कितनी सैलरी मिलती है?

क्रिकेट मैचों में गेंदबाजों की गति को कैसे मापा जाता है?

Related Categories