Search

भारत के अधिसूचित हाथी रिजर्व की सूची

भारत में संरक्षित वन क्षेत्र नेटवर्क के अंतर्गत 730 संरक्षित क्षेत्र (103 राष्ट्रीय उद्यान, 535 वन्यजीव अभ्यारण्य, 66 सुरक्षित संरक्षण क्षेत्र और 26 सामुदायिक क्षेत्र) शामिल हैं। हाथियों की मौजूदा आबादी को उनके प्राकृतिक आवास स्‍थलों में दीर्घकालिक जीवन सुनिश्‍चित करने के लिए पर्याप्‍त संख्‍या में हाथियों की आबादी वाले राज्‍यों की सहायता करने की बाबत फरवरी, 1992 में हाथी परियोजना शुरू की गई थी। इस लेख में हम भारत के अधिसूचित हाथी रिजर्व की सूची दे रहे हैं जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।
Aug 29, 2017 12:32 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

भारत में संरक्षित वन क्षेत्र नेटवर्क के अंतर्गत 730 संरक्षित क्षेत्र (103 राष्ट्रीय उद्यान, 535 वन्यजीव अभ्यारण्य, 66 सुरक्षित संरक्षण क्षेत्र और 26 सामुदायिक क्षेत्र) शामिल हैं। इस योजना के अंतर्गत निम्नांकित घटक भी शामिल हैं- ‘संरक्षित क्षेत्रो से बाहर वन्य जीवो का संरक्षण’ और ‘चिंताजनक ढंग से खतरे में पड़ी प्रजातीयो और परिवासों को बचने के लिए जीर्णोद्धार कार्यक्रम।’ उसी प्रकार हाथियों की मौजूदा आबादी को उनके प्राकृतिक आवास स्‍थलों में दीर्घकालिक जीवन सुनिश्‍चित करने के लिए पर्याप्‍त संख्‍या में हाथियों की आबादी वाले राज्‍यों की सहायता करने की बाबत फरवरी, 1992 में हाथी परियोजना शुरू की गई थी। इस लेख में हम भारत के अधिसूचित हाथी रिजर्व की सूची दे रहे हैं जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

Elephant Reserves in India

Source: wiienvis.nic.in

हाथी परियोजना के अंतर्गत मुख्य गतिविधियां

1. हाथियों के मौजूदा प्राकृतिक आवास और प्रवासी मार्गों का पारिस्थितिक पुनर्वास

2. हाथियों के आवास और भारत में जंगली एशियाई हाथियों की व्यवहार्य जनसंख्या के संरक्षण के लिए वैज्ञानिक एवं योजनाबद्ध प्रबंधन का विकास

3. जटिल आवासों में मानव-हाथी विरोध के शमन हेतु उपायों का प्रचार-प्रसार और हाथियों के जटिल आवासों में मनुष्यों और पालतू पशुओं के दबाव को मध्यम करना

4. शिकारियों और मृत्यु के अप्राकृतिक कारणों से जंगली हाथियों की सुरक्षा के उपायों को सुदृढ़ करना

5. हाथी प्रबंधन संबंधी समस्याओं पर अनुसंधान

6. जन शिक्षा एवं जागरूकता कार्यक्रम

7. पारिस्थितिक-विकास

8. पशु-चिकित्सा संबंधी देखभाल

भारतीय वन्यजीवों से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

भारत के अधिसूचित हाथी रिजर्व की सूची

क्षेत्र

स्थान

पूर्व-मध्य परिदृश्य (दक्षिण-पश्चिम बंगाल-झारखंड-उड़ीसा

मयूरझरना, पश्चिम बंगाल

सिंहभूम, झारखंड

महानदी (उड़ीसा)

संबलपुर (उड़ीसा)

बैतमी (उड़ीसा)

दक्षिण उड़ीसा (उड़ीसा)

लेमरु (छत्तीसगढ़)

बदलखोल- तमोर्पिन्गला (छत्तीसगढ़)

कामेंग-सोनितपुर परिदृश्य (अरुणाचल-असम)

कामेंग (अरुणाचल प्रदेश)

सोनितपुर ईआर (असम)

पूर्वी-दक्षिण बैंक परिदृश्य (असम-अरुणाचल प्रदेश)

डाइंग-पटकेई ईआर (असम)

दक्षिण अरुणाचल प्रदेश ईआर (अरुणाचल प्रदेश)

काझीरंगा-कार्बी आंग्लोंग-इंन्तकी परिदृश्य (असम-नागालैंड)

काजीरंगा-कार्बी आंग्लोंग ईआर (असम)

धनसिरी-लुंग्डिंग ईआर (असम)

इंन्तकी ईआर (नागालैंड)

उत्तर बंगाल-ग्रेटर मानस परिदृश्य (असम-पश्चिम बंगाल)

चिरांग-रिपू ईआर (असम)

पूर्वी दोआर ईआर (पश्चिम बंगाल)

मेघालय परिदृश्य

गारो पहाड़ी ईआर (मेघालय)

खासी पहाड़ी ईआर (मेघालय)

ब्रह्मगिरी- निलगिरी-पूर्वी घाट परिदृश्य (कर्नाटक-केरल-तमिलनाडु-आंध्र)

मैसूर ईआर (कर्नाटक)

वायनाड ईआर (केरल)

निलगिरी ईआर (तमिलनाडु)

रायाला ईआर (आंध्र प्रदेश)

निलाम्बुर (केरल)

कोयम्बटूर ईआर (तमिलनाडु)

अनमलाई-नेल्लियनपैथी-उच्च श्रेणी परिदृश्य (तमिलनाडु-केरल)

अन्नामलाई ईआर (तमिलनाडु)

अन्नामूडी ईआर (केरल)

पेरियार-अगस्थ्यमलाई परिदृश्य (केरल-तमिलनाडु)

पेरियार ईआर (केरल)

श्रीविलिपुत्तूर ईआर (तमिलनाडु)

उत्तर-पश्चिमी परिदृश्य (उत्तराखंड-उत्तर प्रदेश)

शिवालिक ईआर (उत्तराखंड)

उत्तर प्रदेश ईआर (उत्तर प्रदेश)

उपरोक्त लेख में हमने भारत के अधिसूचित हाथी रिजर्व की सूची दिया है जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

रेड डाटा बुक की रिपोर्ट और भारत में लुप्तप्राय जानवर